Hindi News »Rajasthan »Kareda» भील समाज के 151 जोड़ों की शादी, 30 हजार लोगों का खाना बनाने आए 100 हलवाई, ट्रैक्टर-ट्रॉली में लाए नुगती-पूड़ी

भील समाज के 151 जोड़ों की शादी, 30 हजार लोगों का खाना बनाने आए 100 हलवाई, ट्रैक्टर-ट्रॉली में लाए नुगती-पूड़ी

भास्कर संवाददाता | तिलस्वां भील समाज का दूसरा सामूहिक विवाह सम्मेलन सोमवार को तिलस्वां में हुआ। इसमें 151 जोड़ों...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 01, 2018, 04:55 AM IST

  • भील समाज के 151 जोड़ों की शादी, 30 हजार लोगों का खाना बनाने आए 100 हलवाई, ट्रैक्टर-ट्रॉली में लाए नुगती-पूड़ी
    +1और स्लाइड देखें
    भास्कर संवाददाता | तिलस्वां

    भील समाज का दूसरा सामूहिक विवाह सम्मेलन सोमवार को तिलस्वां में हुआ। इसमें 151 जोड़ों का पाणिग्रहण संस्कार कराया गया। सम्मेलन में करीब 30 हजार लोग पहुंचे। इनके खाने के लिए दो भोजनशाला में 100 हलवाई लगाए गए। भोजनशाला से नुगती व पूडी लाने के लिए ट्रैक्टर-ट्रॉली लगाई गई। पानी की व्यवस्था के लिए नल लगे 14 टैंकर लगाए गए। पंगत में खाना परोसने के लिए 600 लोगों की एक समिति को व्यवस्था सौंपी गई।

    भील समाज नवयुवक मंडल की ओर से ऊपरमाल, खैराड़, हाड़ौती व आंतरी के भील समाज की ओर से सामूहिक विवाह सम्मेलन का आयोजन किया गया। सोमवार सुबह 7:15 बजे गणपति स्थापना व ध्वजारोहण किया गया। सामूहिक विवाह सम्मेलन समिति अध्यक्ष मांगीलाल बगाणा सदारामजी का खेड़ा, संरक्षक हीरा लाल खाटकी, उपाध्यक्ष कान्हा सतकुड़िया, कोषाध्यक्ष प्रभु लाल भील दानपुरा, सचिव जगदीशचंद्र भील तलोदा, रमेशचंद्र भील मकरेड़ा, जल मंत्री सोहन लाल भील, गोपाल लाल भील पुरोहितों का खेड़ा, कार्यकारिणी अध्यक्ष गंगा राम भील कालीघाटी, संगठन मंत्री शंकरलाल भील, बृजपुरा आदि मौजूद थे।

    13 जोड़े जिनके माता-पिता नहीं उनकी निशुल्क शादी कराई ... हीरालाल भील ने बताया कि 151 जोड़ों में से 13 जोड़े ऐसे हैं जिनके माता-पिता नहीं हैं। ऐसे जोड़ों से कोई शुल्क नहीं लिया गया। वहीं 17 जोड़ों ऐसे हैं जिनके किसी के पिता नहीं है तो किसी की माता नहीं है। इनसे शुल्क 50 फीसदी ही लिया गया। उन्होंने बताया कि पहले विवाह सम्मेलन में 86 जोड़ों का विवाह कराया गया था।

  • भील समाज के 151 जोड़ों की शादी, 30 हजार लोगों का खाना बनाने आए 100 हलवाई, ट्रैक्टर-ट्रॉली में लाए नुगती-पूड़ी
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kareda

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×