Home | Rajasthan | Kareda | बिंदौली रोकने वालों की गिरफ्तारी और दोषी अफसरों का निलंबन नहीं तो आंदोलन

बिंदौली रोकने वालों की गिरफ्तारी और दोषी अफसरों का निलंबन नहीं तो आंदोलन

नौ दिन पहले गोवर्धनपुरा गांव में बिंदौली रोककर दलित दूल्हे को घोड़ी से उतारने व परिजनों के साथ मारपीट करने वाले...

Bhaskar News Network| Last Modified - May 08, 2018, 05:10 AM IST

बिंदौली रोकने वालों की गिरफ्तारी और दोषी अफसरों का निलंबन नहीं तो आंदोलन
बिंदौली रोकने वालों की गिरफ्तारी और दोषी अफसरों का निलंबन नहीं तो आंदोलन
नौ दिन पहले गोवर्धनपुरा गांव में बिंदौली रोककर दलित दूल्हे को घोड़ी से उतारने व परिजनों के साथ मारपीट करने वाले आरोपियों की गिरफ्तारी व दोषी अफसरों का निलंबन 10 दिन में नहीं किया तो आंदोलन किया जाएगा। यह चेतावनी सोमवार को दलित समाज के लोगों ने प्रधानमंत्री के नाम उपखंड अधिकारी रजनी माधीवाल को दिए ज्ञापन में दी। दलित समाज के लोग हाथों में नीले ध्वज लेकर करेड़ा पहुंचे। उपखंड कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया।

अनुसूचित जाति एवं जनजाति एकता मंच के जिलाध्यक्ष प्यारेलाल खोईवाल, महासचिव मोतीलाल सिंघानिया, बैरवा समाज के जिलाध्यक्ष भैरू लाल बैरवा के नेतृत्व में दलित समुदाय के लोग सोमवार को एकत्र हुए। करेड़ा हनुमान दरवाजा से उपखंड कार्यालय पहुंचे। यहां प्रदर्शन कर उपखंड अधिकारी रजनी माधीवाल को प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन दिया।

पीड़ित परिवार को मिले सुरक्षा और मुआवजा

गोवर्धनपुरा प्रकरण में एकता मंच ने सौंपा ज्ञापन

भीलवाड़ा | गोवर्धनपुरा प्रकरण में एसडीएम करेड़ा को राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री के नाम अनुसूचित जाति व जनजाति एकता मंच ने ज्ञापन सौंपा। साथ ही एससी-एसटी समाज के संगठनों ने भी ज्ञापन दिया। मंच जिलाध्यक्ष प्यारेलाल खोईवाल के नेतृत्व में जिलेभर के जागरूक व बुद्धिजीवी, युवा, बुजुर्ग आंबेडकरवादी ने करेड़ा पहुंचकर विरोध प्रकट किया। प्यारेलाल खोईवाल ने कहा कि आजाद भारत में ऐसी घटनाओं का घटित होना शर्मनाक है। महासचिव मोतीलाल सिंघानिया ने बताया कि ढोल नगाड़ों के साथ एसडीएम कार्यालय पहुंचकर अपनी मांगें रख ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में भैरूदत बारेसा, राजेन्द्र छीपा, ज्ञान मल खटीक, संदीप चावला, गौतम जीनगर, सीएम नुवाल, घनश्याम बाकोलिया, पूनम नाथ सपेरा, मुकेश रेगर, दिनेश समलोट, योगेन्द्र रेगर एवं प्रेम खटीक उपस्थित थे।

आम सभा में रैगर समाज के राष्ट्रीय महासभा अध्यक्ष एसके नवल, रैगर समाज के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. एसके मोहनपुरिया, रैगर समाज की महिला प्रदेश अध्यक्ष तारा बंदनवाल ने संबोधित किया। वक्ताओं ने कहा कि पीड़ित परिवार को सुरक्षा दी जाए। पीड़ित परिवार को मुआवजा दिया जाए। अन्य आरोपियों को तुरंत गिरफ्तार कर दोषी अधिकारियों को निलंबित किया जाए। विदित रहे कि इस मामले में अब तक 12 आरोपियों की गिरफ्तारी हो चुकी है। रैली में भीलवाड़ा, दौलतगढ़, आसींद, शंभूगढ़, बागौर, बीगोद, रायपुर, बनेड़ा से लोग पहुंचे।

prev
next
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |