--Advertisement--

सिलिकोसिस पीड़ितों का ऑनलाइन होगा पंजीकरण

खान मजदूर सुरक्षा संगठन के सदस्यों की शुक्रवार को यहां राजरानी गार्डन में जिला स्तरीय स्टेकहोल्डर कंसलटेशन...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 03:00 AM IST
खान मजदूर सुरक्षा संगठन के सदस्यों की शुक्रवार को यहां राजरानी गार्डन में जिला स्तरीय स्टेकहोल्डर कंसलटेशन कार्यशाला हुई। इसमें सिलिकोसिस पीड़ित श्रमिकों की विभिन्न समस्याओं के निदान व उपचार के अलावा सहायता राशि के मुद्दों को लेकर खान मजदूर कल्याण मंडल के गठन की आवश्यकता पर बल दिया। डांग विकास संस्थान व मजदूर यूनियन के पदाधिकारियों ने संयुक्त रूप से करौली विधायक दर्शनसिंह गुर्जर को मंडल गठन की मांग का ज्ञापन सौंपा। विधायक गुर्जर ने शीघ्र ही मंडल गठन व सिलिकोसिस पीड़ितों के हित में राज्य सरकार के समक्ष पुरजोर तरीके से पैरवी करने का आश्वासन दिया।

डांग विकास संस्थान,करौली के तत्वावधान में आयोजित कार्यशाला में कई स्टेक होल्डर्स ने भाग लिया। संस्था सचिव डॉ. .विकास भारद्वाज ने बताया कि करौली विधायक दर्शनसिंह गुर्जर, जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. .जगमोहन मीना, क्षय रोग कार्यालय के वरिष्ठ सुपरवाइजर शकुरूद्दीन खां तथा पतंजलि योग सेवा संस्थान के नगर प्रभारी व योग प्रशिक्षक विनोद गुर्जर ने कार्यशाला में उपस्थित मजदूर वर्ग को संबोधित किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता संस्था के अध्यक्ष गोपीलाल खेमरिया तथा खान मजदूर सुरक्षा संगठन अध्यक्ष प्रकाश आरामपुरा ने की।

योजनाओं की दी जानकारी

जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. जगमोहन मीना ने सिलिकोसिस पीड़ितों को विभाग की योजनाओं व सेवाओं के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने कहा कि जल्द ही ऑनलाइन पोर्टल पर सिलिकोसिस पीड़ितों के पंजीकरण कर शीघ्र ही सहायता उपलब्ध कराने के जिला प्रशासन व क्षय रोग विभाग के स्तर पर प्रयास जारी होने की बात कही।

2050 तक टीबी होगी खत्म

वरिष्ठ सुपरवाइजर शकरूद्दीन खां ने केन्द्र सरकार के 2025 तक टीबी रोग को संपूर्ण देश से पूरी तरह से समाप्त करने के मिशन के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि टीबी रोगी का विभाग से पंजीकरण होने पर 1 अप्रैल से रोगी को ऑनलाइन 500 रुपए की आर्थिक सहायता हर माह प्रदान करने का प्रावधान किया है। सिलिकोसिस व टीबी दोनों के ही रोगी विभाग से मिलने वाले इलाज का लाभ उठाएं, यह गुणवत्ता कारक व निशुल्क है।

करौली.कार्यशाला में विधायक दर्शनसिंह गुर्जर को ज्ञापन देते पदाधिकारी।