• Hindi News
  • Rajasthan
  • Karoli
  • करौली सवाई व दौसा को चंबल लिफ्ट परियोजना से बाहर किया तो नहीं करेंगे बर्दाश्त
--Advertisement--

करौली-सवाई व दौसा को चंबल लिफ्ट परियोजना से बाहर किया तो नहीं करेंगे बर्दाश्त

Karoli News - कार्यालय संवाददाता | हिंडौन सिटी लालसोट विधायक डॉ. किरोड़ीलाल मीणा ने सरकार को अल्टीमेटम देते हुए कहा कि...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 01:20 PM IST
करौली-सवाई व दौसा को चंबल लिफ्ट परियोजना से बाहर किया तो नहीं करेंगे बर्दाश्त
कार्यालय संवाददाता | हिंडौन सिटी

लालसोट विधायक डॉ. किरोड़ीलाल मीणा ने सरकार को अल्टीमेटम देते हुए कहा कि राजस्थान सरकार के 43 हजार करोड़ के ईस्टर्न कैनाल प्रोजेक्ट के तहत 13 जिलों में चंबल का पानी पहुंचाने में करौली जिले के साथ दौसा व सवाईमाधोपुर को वंचित किया जा रहा है। जिसे वे कतई बर्दाश्त नहीं करेंगे। तीनों जिलों के सभी बांधों में चंबल लिफ्ट परियोजना के तहत पानी नहीं आया तो वे फरवरी में करीब एक लाख लोगों के साथ जयपुर में विधानसभा का घेराव करेंगे। डॉ. मीणा ने यह बात बुधवार को डाक बंगले में आयोजित पत्रकार वार्ता में कही। उन्होंने कहा कि सवाईमाधोपुर व करौली जिलों के लोगों के साथ उनका जुड़ाव रहा है और वे इन क्षेत्रों के साथ पक्षपात नहीं होने देंगे।

सवाईमाधोपुर, करौली होते हुए पानी धौलपुर पहुंच सकता हैं तो करौली अछूता क्यूं?

डॉ. किरोड़ीलाल मीणा ने बताया कि वर्ष 1989 में सवाईमाधोपुर लोकसभा से चुनाव जीतने के बाद से ही वे जनसेवा में लगे हुए हैं। कोटा से धौलपुर तक 210 किमी लंबाई में चंबल का पानी काफी बेकार चला जाता था। पानी को लिफ्ट करने की मांग उन्होंने लोकसभा एवं विधानसभा में उठाई थी। 43 हजार करोड़ की लिफ्ट परियोजना में 13 जिलों को शामिल किया गया है। इस प्रोजेक्ट से 2 लाख हैक्टेयर भूमि सिंचित होगी तो लोगों को पेयजल उपलब्ध होगा। इस प्रोजेक्ट में करौली, दौसा व सवाईमाधोपुर के कुछ क्षेत्रों को शामिल नहीं करते हुए भेदभाव किया जा रहा है। जब कानोता -बस्सी के लिए और अलवर के जयसमंद के लिए चंबल का पानी पहुंच सकता है तो दौसा जिले के लिए क्यों नहीं। इसी तरह सवाईमाधोपुर, करौली होते हुए धौलपुर पहुंच सकता हैं तो फिर करौली को क्यूं अछूता रखा जा रहा है। जबकि इन क्षेत्रों में पानी की गंभीर समस्या है। करौली जिले को शामिल नहीं किया तो हिंडौन में प्रमुख जलस्रोत जगर बांध, क्यारदा बांध, जाट का तालाब और जलसेन में भी पानी नहीं आएगा।

मुख्यमंत्री से मिलेंगे : प्रथम चरण में तीनों जिलों के सभी बांधों में चंबल का पानी पहुंचे

डाॅ. किरोड़ीलाल मीणा ने कहा कि वे इस मामले में शीघ्र ही मुख्यमंत्री से भी मिलेंगे और उनके सामने अपनी बात रखकर प्रथम चरण में ही करौली, दौसा व सवाईमाधोपुर जिले के सभी बांधों में चंबल का पानी पहुंचाने की मांग करेंगे। यही नहीं उनकी सिंचाई मंत्री से भी चर्चा हो चुकी है। उनका यह कहना रहा कि किसी एक बांध को पानी पहुंचा सकते हैं, लेकिन जिले के सभी बांधों में चंबल का पानी चाहिए। अगर सरकार द्वारा जल्द ही लोगों की भावनाओं के अनुरूप करौली, दौसा व सवाईमाधोपुर को प्रोजेक्ट में शामिल नहीं किया गया तो वे एक लाख लोगों के साथ विधानसभा का घेराव करेंगे।

जिला प्रमुख के मामले में बोले - मैं किसी को नहीं फंसाता हूं, जो गलत है, वह छुपेगा नहीं

करौली जिला प्रमुख के खिलाफ गलत नाम एवं फर्जी दस्तावेजों के मामले में दर्ज कराए गए केस में उनका हाथ शामिल होने के प्रश्न पर उन्होंने कहा कि मैं किसी को नहीं फंसाता हूं। जो गलत है, वह छुपेगा नहीं। काल्पनिक नाम एवं फर्जी दस्तावेजों से जिला प्रमुख पद पर बने रहने की जानकारी उन्हें मिली तो उन्होंने जांच करवाई तो मामला सही पाया गया। उन्हें सब मालूम है कि मंडरायल के स्कूल से दसवीं कक्षा में फेल होने वाला रघुवीर बाद में अभय कुमार कैसे बन गया। दसवीं कक्षा में फेल होने के बाद अभय कुमार के नाम से कोटा से फर्जी मार्कशीट हासिल की गई और फर्जीवाड़ा किया गया। इस मामले में पूरे दस्तावेज उनकी ओर से सरकार को दे दिए गए। वे फर्जीवाड़ा कतई बर्दाश्त नहीं करेंगे।

X
करौली-सवाई व दौसा को चंबल लिफ्ट परियोजना से बाहर किया तो नहीं करेंगे बर्दाश्त
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..