करौली

  • Home
  • Rajasthan News
  • Karoli News
  • Karauli - करौली की सात ओडीएफ पंचायतों की ठोस व तरल कचरा प्रबंधन की शीघ्र ही डीपीआर
--Advertisement--

करौली की सात ओडीएफ पंचायतों की ठोस व तरल कचरा प्रबंधन की शीघ्र ही डीपीआर

ब्लॉक करौली की खुले में शौच से मुक्त सात ग्राम पंचायतों में ठोस एवं तरल कचरा प्रबंधन के लिए शीघ्र ही जनसंख्या के...

Danik Bhaskar

Sep 11, 2018, 04:50 AM IST
ब्लॉक करौली की खुले में शौच से मुक्त सात ग्राम पंचायतों में ठोस एवं तरल कचरा प्रबंधन के लिए शीघ्र ही जनसंख्या के आधार पर 7 से 20 लाख रुपए तक की कार्य याेजना तैयार होगी। स्वच्छ भारत मिशन-ग्रामीण के तहत मास्टर ट्रेनर्स एवं बीडीओ गुलाब सिंह गुर्जर ने सोमवार को पंचायत समिति सभागार में आयोजित कार्यशाला में डीपीआर तैयार के संबंध में संभागियों को विस्तृत जानकारी दी।

एसबीएम निदेशालय के निर्देशानुसार ओडीएफ ग्राम पंचायतों में स्वच्छता की निरंतरता बनाए रखने के लिए गांवों में ठोस व तरल कचरा प्रबंधन करना जरूरी है। इसके लिए पेयजल एवं स्वच्छता मंत्रालय भारत सरकार के निर्देशानुसार राज्य में आबादी व परिवारों की संख्या के हिसाब से अधिकतम 20 लाख रुपए के कार्य प्लान में शामिल होंगे। गांव में ठोस व तरल कचरे का संग्रहण,एकत्रीकरण व निस्तारित पंचायत स्तर पर ही करने के लिए घरों में डस्टबिन हरा व नीला, सामुदायिक डस्टबिन, कंपोस्टिंग, वर्मी कंपोस्टिंग, ट्राई-साईकिल, कचरा संकलन केंद्र, रिसाेर्स रिकवरी सेंटर तथा स्वच्छाग्रही की मदद से योजना क्रियंावित होगी। इसके लिए विस्तृत परियोजना रिपोर्ट बनेगी।

मुख्यमंत्री स्वच्छ ग्राम योजनांतर्गत भी स्वच्छता सखी व स्वच्छाग्रही का मनरेगा की मजदूरी दर से अनुरूप मस्टररोल पर नियोजन के आधार पर ईएफएमएस द्वारा भुगतान किया जाएगा। साईकिल,रिक्शा, जैकिट आदि पर योजना का नाम आवश्यक रूप से अंकित होना चाहिए। कार्यशाला में मास्टर ट्रेनर के रूप में एईएन संजीव शर्मा, यशवंत सिंहल ने विस्तृत जानकारी दी। इस दौरान संबंधित ग्राम पंचायतों के सरपंच, ग्राम विकास अधिकारी, वार्डपंच, पीईईओ, कनिष्ठ सहायक, बीईईओ, बीपीएम, राजीविका मिशन, सीडीपीओ, बीसीएमएचओ,डीआरजी व स्वच्छागृही मौजूद रहे।

ब्लॉक की सात ग्राम पंचायतों की बनेगी डीपीआर

स्वच्छ भारत मिशन-ग्रामीण के ब्लॉक योजना प्रभारी सीताराम गुर्जर ने बताया कि करौली ब्लॉक की ग्राम पंचायत हरनगर,कैलादेवी, मासलपुर, गुनेसरा, सायपुर, रामपुर धावाई व कोटा मामचारी के खुले में शौचमुक्त (ओडीएफ) होने से ठोस एवं तरल कचरा प्रबंधन की कार्य योजना तैयार होगी। इसमें पंचायत में निवासरत परिवारों की संख्या क्रमश: 150, 300 व 500 के आधार पर 7, 12 व 15 लाख तक की राशि मुहैया कराई जाएगी।

करौली. पंस सभागार में ब्लॉक की सात ग्राम पंचायतों का ठोस एवं कचरा प्रबंधन योजना तैयारी को लेकर कार्यशाला में उपस्थित सरपंच, ग्राम विकास अधिकारी व वार्डपंच आदि।

Click to listen..