आत्म तत्व की उपेक्षा करना उचित नहीं / आत्म तत्व की उपेक्षा करना उचित नहीं

Karoli News - कार्यालय संवाददाता| हिंडौनसिटी हरिशचन्द्र शास्त्री ने कहा कि शरीर को स्वस्थ और सबल रखना हमारा कर्त्तव्य है...

Bhaskar News Network

Dec 09, 2018, 04:21 AM IST
Nadouti News - it is not fair to ignore the self element
कार्यालय संवाददाता| हिंडौनसिटी

हरिशचन्द्र शास्त्री ने कहा कि शरीर को स्वस्थ और सबल रखना हमारा कर्त्तव्य है लेकिन केवल शरीर की देखभाल करना और आत्म तत्व की उपेक्षा करना उचित नहीं है। शास्त्री ने यह बात शनिवार को आर्य समाज द्वारा चल रहे 35वंे चतुर्वेद पारायण महायज्ञ के दौरान कहीं। उन्होंने कहा कि प्रभू चेतन स्वरूप है और निराकार है। इसलिए उसके समीपस्थ होनेका अधिकार भी केवल चेतन तत्व आत्मा को ही है। लेकिन दुख इस बात का है कि हम अधिकांश अपने आपको आत्मस्वरूप को पहचान नहीं पाते हैं। केवल शरीर को ही सब कुछ समझ कर उसकी की सेवा करने में लगे रहते हैं।

स्नातिका पुष्पा शास्त्री, खुशबू आर्यो, क्षमा आर्या नेकर प्रभू का भजन लागा उनसे लगन गाया तो सभी भाव विभोर हो गए। इस मौके पर यज्ञ के मुख्य यजमान सचिन कुमार चैनपुर वाले रहे। इस दौरान रामजीलाल मुकेश कुमार, ओमप्रकाश, रमेश चंद, मंगतीलाल, वेदप्रकाश, रमादेवी, सीता देवी, भगवत प्रसाद, रामबाबू पटवारी, सुभाष बंसल, हजारी लाल आदि ने भी यज्ञ में आहुतियां दी।

नादौती| भौमिया बाबा के मंदिर में अन्नकूट की प्रसादी ग्रहण करते श्रद्धालु।

भौमिया बाबा के मंदिर में अन्नकूट, श्रद्धालुओं ने पंगत प्रसादी ग्रहण की

भौमिया बाबा के मंदिर में अन्नकूट, श्रद्धालुओं ने पंगत प्रसादी ग्रहण की

नादौती| कस्बे में भौमिया बाबा के मंदिर में अन्नकूट का आयोजन हुआ। इसमें श्रद्धालुओं ने भौमिया बाबा के जयकारें लगाकर भंडारे में प्रसादी ग्रहण की। सुबह से ही श्रद्धालु प्रसादी तैयार करने में जुट गए। प्रात: 11 बजे विधि विधान से मंत्रोच्चार कर पुजारी ने भौमिया बाबा की पूजा कर प्रसादी का भोग लगाया।

इसके बाद भंडारा लगाया। श्रद्धालुओं ने पंगत लगाकर भंडारे में प्रसादी ग्रहण की। रमेशचंद शर्मा, गोविन्दप्रसाद शर्मा, संतोष शर्मा, सुभाष अवस्थी, शिवचरण शर्मा आदि ने बताया कि भंडारा जनसहयाग से लगाया।

नादौती| कस्बे में भौमिया बाबा के मंदिर में अन्नकूट का आयोजन हुआ। इसमें श्रद्धालुओं ने भौमिया बाबा के जयकारें लगाकर भंडारे में प्रसादी ग्रहण की। सुबह से ही श्रद्धालु प्रसादी तैयार करने में जुट गए। प्रात: 11 बजे विधि विधान से मंत्रोच्चार कर पुजारी ने भौमिया बाबा की पूजा कर प्रसादी का भोग लगाया।

इसके बाद भंडारा लगाया। श्रद्धालुओं ने पंगत लगाकर भंडारे में प्रसादी ग्रहण की। रमेशचंद शर्मा, गोविन्दप्रसाद शर्मा, संतोष शर्मा, सुभाष अवस्थी, शिवचरण शर्मा आदि ने बताया कि भंडारा जनसहयाग से लगाया।

X
Nadouti News - it is not fair to ignore the self element
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना