करौली

--Advertisement--

शिक्षक ने रक्तदान कर बचाई रोगी की जान

सूरौठ/सौमला। करौली के राजकीय अस्पताल में मौत से जूझ रहे गांव ढिंढोरा निवासी रोगी को एक शिक्षक ने रक्तदान कर उसकी...

Danik Bhaskar

Apr 17, 2018, 02:35 AM IST
सूरौठ/सौमला। करौली के राजकीय अस्पताल में मौत से जूझ रहे गांव ढिंढोरा निवासी रोगी को एक शिक्षक ने रक्तदान कर उसकी जान बचाई है। आयुर्वेद विभाग के अतिरिक्त निदेशक घनश्याम शर्मा ने बताया कि गांव ढिंढोरा निवासी समय सिंह करौली के जिला अस्पताल में भर्ती था। अचानक समय सिंह का हीमोग्लोबिन बहुत कम हो गया तथा डॉक्टरों ने उसे रक्त की आवश्यकता बताई। समय सिंह को बी नेगेटिव ग्रुप की रक्त की आवश्यकता थी। राजकीय स्कूल में कार्यरत शिक्षक वीरेंद्र सिंह बी नेगेटिव रक्त देने के लिए तैयार हो गया और जान बचाई।





अस्पताल में रक्त की व्यवस्था नहीं होने पर किसी परिचित ने इस बारे में अतिरिक्त निदेशक घनश्याम शर्मा को अवगत कराया। अतिरिक्त निदेशक शर्मा ने जीवन ज्योति फाउंडेशन ग्रुप में बी नेगेटिव रक्त की अर्जेंट आवश्यकता होने की रिक्वेस्ट डाली। इस पर कुड़गांव के राजकीय स्कूल में कार्यरत शिक्षक वीरेंद्र सिंह बी नेगेटिव रक्त देने के लिए तैयार हो गया। शिक्षक बीरेंद्र सिंह ने कुड़गांव से करौली अस्पताल पहुंचकर रोगी समय सिंह को एक यूनिट ब्लड डोनेट किया । समय पर रक्त उपलब्ध होने से रोगी समय सिंह की जान बच गई। इस दौरान जीवन ज्योति फाउंडेशन ग्रुप के अध्यक्ष ओमी डागुर ,हरेंद्र सिंह शेरपुर, विष्णु चिनायटा आदि ने पूर्ण लगन के साथ रोगी की मदद की। रोगी समय सिंह के परिवारजनों ने शिक्षक वीरेंद्र सिंह का तथा जीवन ज्योति फाउंडेशन का आभार जताया।

Click to listen..