Hindi News »Rajasthan »Karoli» नाबालिग से सामूहिक दुष्कर्म मामले में नामित आरोपितों की 15 दिन मेें भी गिरफ्तारी नहीं

नाबालिग से सामूहिक दुष्कर्म मामले में नामित आरोपितों की 15 दिन मेें भी गिरफ्तारी नहीं

उपखंड टोडाभीम कस्बे की नाबालिग स्कूली छात्रा के साथ अपहरण कर दुष्कर्म करने के मामले में परिजनों ने पुलिस पर...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 17, 2018, 02:40 AM IST

उपखंड टोडाभीम कस्बे की नाबालिग स्कूली छात्रा के साथ अपहरण कर दुष्कर्म करने के मामले में परिजनों ने पुलिस पर कार्रवाई नहीं करने का आरोप लगाया है। साथ ही अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेश यादव को पीड़ा सुनाते हुए टोडाभीम थाने में 5 अप्रेल को दर्ज प्राथमिकी के नामित आरोपितों की शीघ्र गिरफ्तारी करने सहित न्याय की गुहार की। इस मामले में पुलिस की ढिलाई से आहत परिजनों ने मीडियाकर्मियों के समक्ष मजबूरन आत्महत्या कर लेने की चेतावनी भी दी है। पीड़ित परिजनों ने दलित नेता भूर सिंह चौधरी के नेतृत्व में सोमवार को पुलिस अधीक्षक के नाम एएसपी को ज्ञापन भी सौंपा है।

पीडि़ता की मां की ओर से पुलिस में दर्ज कराई प्राथमिकी के अनुसार 1 अप्रैल को दोपहर 12 बजे उसकी नाबालिग बेटी कुछ सामान खरीदने बाजार जा रही थी। उसी दौरान पुरानी तहसील टोडाभीम के पीछे पहले से ही मौजूद आरोपित सुजानपुरा निवासी दिनेशचंद बैरवा अपने एक साथी के साथ मोटरसाइकिल लेकर आए और बालिका को जबरन रोककर मुंह व नाक पर रूमाल लगाकर अपहरण कर ले गए। इससे वह अचेत हो गई और जब उसे होश आया तो एक कमरे में खुद को बंद पाया और आरोपित युवक ने डरा-धमकाकर दुष्कर्म किया। दुष्कर्म के बाद आरोपित ने बाइक से ही छात्रा को कानेटी रोड पर लाकर छोड़ दिया। जहां पीड़ित परिजनों के कुछ परिचित व्यक्तियों ने छात्रा को पहचान लिया तो वे सायं 4 बजे उसको घर पहुंचाकर गए। छात्रा ने दुष्कर्म वाले कमरा व स्थान की पहचान गहरोली के पास बालाजी बाईपास पर एक निजी रिसोर्ट की बताई है।

करौली. टोडाभीम की नाबालिग छात्रा का अपहरण कर दुष्कर्म मामले में कार्रवाई ने होने पर सोमवार को परिजनों ने पुलिस अधीक्षक से लगाई न्याय की गुहार।

पीडि़ता नौवीं की छात्रा

टोड़ीपाड़ा निवासी पीड़िता के परिजनों ने बताया कि दुष्कर्म का शिकार हुई उनकी बेटी एक निजी स्कूल में कक्षा नवीं की छात्रा है। इस घटना के बाद शारीरिक व मानसिक रूप से बालिका काफी परेशान है। परिजनों के अनुसार आरोपित युवक पहले से ही रोजाना छात्रा से छेड़छाड़ करता था।

राजीनामा के लिए दबाव, जान से मारने की धमकी

दुष्कर्म पीडि़ता के माता-पिता व अन्य परिजनों ने बताया कि आरोपित पक्ष की ओर से राजीनामा के लिए दबाव बनाया जा रहा है। उन्होंने इस दुष्कर्म केस में राजीनामा नहीं करने पर आरोपितों की ओर से जान से मारने की धमकी दिए जाने का भी आरोप लगाया है। इस मामले में पीड़ित पक्ष ने टोडाभीम के डीएसपी से भी न्याय दिलाने की मांग की, मगर पुलिस ने अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Karoli

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×