करौली में मावठ, शीतलहर के बाद हुई बारिश, किसानों के खिले चेहरे

Karoli News - मकर संक्रांति के पर्व पर बुधवार को अचानक मौसम का मिजाज भी बदल गया। दोपहर बाद शीतलहर चलने के साथ आसमां में काले घने...

Jan 16, 2020, 09:01 AM IST
Karauli News - rajasthan news mawath in karauli rain after cold wave farmers face bloom
मकर संक्रांति के पर्व पर बुधवार को अचानक मौसम का मिजाज भी बदल गया। दोपहर बाद शीतलहर चलने के साथ आसमां में काले घने बादल छाने से देर सायं तक दो बार बारिश हुई। इससे किसानों के चेहरे खिल उठे, वहीं सर्दी बढ़ने से जनजीवन भी खासा प्रभावित रहा।

मावठ रबी फसल के लिए अमृत के समान है। वहीं गेहूं की फसल की सिंचाई का भी लाभ हुआ है। हालांकि, शीतलहर का प्रकोप सरसों के लिए जरूर थोडा नुकसानदायी हो सकता है। जबकि, यह बारिश गेहूं की फसल के लिए काफी फायदेमंद है। ठंडी हवाओं से आमजन की कंपकंपी छूटी रही और लोगों को अलाव का सहारा लेना पड़ा। इससे तापमान में भी भारी गिरावट दर्ज हुई। सर्दी की तल्खी के बीच शहरी व ग्रामीण इलाकों में लोग अलाव का सहारा लेने को मजबूर रहे। वहीं छोटे बच्चे व बुजुर्ग दिनभर उनी वस्त्रों में लिपटे रहने के साथ गर्म रजाइयों में दुबकने को विवश हो गए। हालांकि, मकर संक्रांति का पर्व होने से सर्दी से बचाव के लिए घरों में चाय,पकौडी, मूंगफली व गुड, तिल टिकिया, पकौडी इत्यादि व्यंजनों का सेवन ज्यादा रहा। पूरे दिन बदलते मौसम के मिजाज के बीच सूर्यदेव की लुकाछुपी ही रही। इधर, क्षेत्र के किसानों का मानना है कि सर्द मौसम व कोहरा गेहूं की खेती के लिए तो ठीक रहता है,मगर ज्यादा बरफीली सर्द हवाओं की बूंदे पाले के रूप में सरसों,चना जैसी अन्य फसलों के लिए नुकसानदायी भी रहती हैं।

खेड़ा| बुधवार को अचानक मौसम ने पलटा खाया। कई गांवों में 15 मिनट तक हुई रिमझिम बारिश ने सर्दी बढ़ा दी। किसान रघुनाथ मीना, बबलू मीना, विवेक, रामस्वरुप आदि ने बताया कि बुधवार को दोपहर बाद एवं शाम को कुछ देर के लिए रिमझिम बारिश हुई। रीठौली, टोडूपुरा, मनेमा, सनेट, गांवडा मीना, गुनसार, कुतकपुर, झारेडा, बरगमा, करसौली, खीपकापुरा, मंडावरा, खेड़ा, कांचरौली, फैलीपुरा में हुई बारिश

X
Karauli News - rajasthan news mawath in karauli rain after cold wave farmers face bloom
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना