सिर्फ सैलरी ले रहे एमसी के अफसर, काम नहीं करते

Karoli News - शनिवार दोपहर बाद जीरकपुर एमसी की हाउस मीटिंग में पहली बार करीब आधा दर्जन पार्षदों ने डेवलपमेंट के काम न होने पर...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 09:15 AM IST
Kariri News - rajasthan news officers taking salaries do not work
शनिवार दोपहर बाद जीरकपुर एमसी की हाउस मीटिंग में पहली बार करीब आधा दर्जन पार्षदों ने डेवलपमेंट के काम न होने पर हाउस में हंगामा किया। पार्षद हवा सिंह अत्री, हनुमंत बहुगुणा, प्रवीण शर्मा, जगतार सिंह टिवाना, शकुंतला आर्य ने अपनी सीट से उठकर मीटिंग से बाहर जाने की कोशिश की। इन पार्षदों ने विधायक एनके शर्मा से कहा कि इस मीटिंग में बैठने का क्या फायदा जब अफसर किसी एजेंडे पर तय किए गए डेवलपमेंट वर्क पर काम नहीं करते। सिर्फ वेतन लेने के लिए जीरकपुर एमसी में बैठे हुए हैं। अफसरों की आदत इतनी खराब है कि पिछले एक साल में जितने भी डेवलपमेंट के काम हाउस मीटिंग में पास किए गए, उनमें से किसी पर भी काम नहीं किया गया।

यहां मीटिंग में पंजाब मॉडर्न कॉम्प्लेक्स से एक परिवार भी पहुंचा हुआ था। उन्होंने विधायक एनके शर्मा से कहा कि तीन रात से हम सोए नहीं हैं। सुखना नाले के नजदीक बने हमारे मकान की तरफ पानी से कटाव की वजह से घर की दीवार कभी भी गिर सकती है।

इस डर से हम सो नहीं पा रहे हैं। पिछले एक साल से हम कह रहे हैं कि नाले की तरफ तटबंध बनाएं लेकिन अफसर काम करने की बजाय कह रहे हैं कि यहां से मकान बेचकर चले जाओ। वहीं हनुमंत बहुगुणा ने कहा कि ये अफसर कोई एक काम बताएं जो इन्होंने शहर के डेवलपमेंट के लिए किया हो। इस पर विधायक एनके शर्मा ने भी अफसरों से पूछा कि अपनी जिम्मेदारी क्यों नहीं निभाते। बाद में गुस्साए पार्षदों को शांत किया गया। मीटिंग में मौजूद ईओ गिरीश वर्मा, एमई विनय महाजन भी मौजूद रहे। पिछले एक साल से बीमार होने की वजह से एमसी प्रधान कुलविंदर सोही एकदम शांत रहे। उन्होंने न तो किसी एजेंडे पर बात की और न ही किसी तरह का तर्क-वितर्क किया। वहीं, एमसी के ईओ गिरीश वर्मा ने कहा कि जिम्मेदारी हरेक अधिकारी की है, चाहे सफाई की हो या अन्य डेवलपमेंट वर्क की। हरेक अफसर को अपनी ड्यूटी ईमानदारी से निभानी चाहिए। अकेला ईओ कुछ नहीं कर सकता। मीटिंग में अवैध निर्माणों को लेकर भी चर्चा की गई। यहां वधावा नगर में बनने वाले होटल्स पर भी चर्चा की गई।

सफाई को लेकर नया तरीका अपनाएंगे, नई मशीनें भी खरीदी जाएंगी

एमसी की हाउस मीटिंग शहर की सफाई को लेकर फोकस की गई थी। मीटिंग की शुरुआत में चीफ सेनेटरी इंस्पेक्टर को डैमो के जरिए यह बताना पड़ा कि कैसे शहर में सफाई की व्यवस्था की जाएगी। एनके शर्मा ने कहा कि अब पुराने तरीकों से हटकर यहां कचरे को उठाने से लेकर उसकी प्रोसेसिंग के लिए एक तकनीक के तौर पर नए तरीके से काम किया जाएगा जिसके लिए कुछ नई मशीनरी भी खरीदी जाएगी। जीरकपुर में निकलने वाले करीब 40 टन से ज्यादा कचरे के लिए चार जगहों पर मशीनरी लगाई जाएगी, जो कचरे से प्लास्टिक अलग करेगी और उसको प्रोसेसिंग के तहत साफ भी करेगी। एमसी प्रधान कुलविंदर सोही, सीनियर उपप्रधान परमजीत कौर सोढ़ी, यादविंदर शर्मा, पार्षद जगदेव सिंह, मनीषा मलिक, नछत्तर सिंह, देविंदर सिंह बराड़, भूपिंदर सिंह समेत अन्य पार्षदों ने भी अपने एरिया में होने वाले कामों को लेकर बात रखी। ज्यादातर पार्षदों ने कहा कि इस समय डेवलपमेंट के काम ठप पड़े हैं।

सिटी रिपोर्टर | जीरकपुर

शनिवार दोपहर बाद जीरकपुर एमसी की हाउस मीटिंग में पहली बार करीब आधा दर्जन पार्षदों ने डेवलपमेंट के काम न होने पर हाउस में हंगामा किया। पार्षद हवा सिंह अत्री, हनुमंत बहुगुणा, प्रवीण शर्मा, जगतार सिंह टिवाना, शकुंतला आर्य ने अपनी सीट से उठकर मीटिंग से बाहर जाने की कोशिश की। इन पार्षदों ने विधायक एनके शर्मा से कहा कि इस मीटिंग में बैठने का क्या फायदा जब अफसर किसी एजेंडे पर तय किए गए डेवलपमेंट वर्क पर काम नहीं करते। सिर्फ वेतन लेने के लिए जीरकपुर एमसी में बैठे हुए हैं। अफसरों की आदत इतनी खराब है कि पिछले एक साल में जितने भी डेवलपमेंट के काम हाउस मीटिंग में पास किए गए, उनमें से किसी पर भी काम नहीं किया गया।

यहां मीटिंग में पंजाब मॉडर्न कॉम्प्लेक्स से एक परिवार भी पहुंचा हुआ था। उन्होंने विधायक एनके शर्मा से कहा कि तीन रात से हम सोए नहीं हैं। सुखना नाले के नजदीक बने हमारे मकान की तरफ पानी से कटाव की वजह से घर की दीवार कभी भी गिर सकती है।

इस डर से हम सो नहीं पा रहे हैं। पिछले एक साल से हम कह रहे हैं कि नाले की तरफ तटबंध बनाएं लेकिन अफसर काम करने की बजाय कह रहे हैं कि यहां से मकान बेचकर चले जाओ। वहीं हनुमंत बहुगुणा ने कहा कि ये अफसर कोई एक काम बताएं जो इन्होंने शहर के डेवलपमेंट के लिए किया हो। इस पर विधायक एनके शर्मा ने भी अफसरों से पूछा कि अपनी जिम्मेदारी क्यों नहीं निभाते। बाद में गुस्साए पार्षदों को शांत किया गया। मीटिंग में मौजूद ईओ गिरीश वर्मा, एमई विनय महाजन भी मौजूद रहे। पिछले एक साल से बीमार होने की वजह से एमसी प्रधान कुलविंदर सोही एकदम शांत रहे। उन्होंने न तो किसी एजेंडे पर बात की और न ही किसी तरह का तर्क-वितर्क किया। वहीं, एमसी के ईओ गिरीश वर्मा ने कहा कि जिम्मेदारी हरेक अधिकारी की है, चाहे सफाई की हो या अन्य डेवलपमेंट वर्क की। हरेक अफसर को अपनी ड्यूटी ईमानदारी से निभानी चाहिए। अकेला ईओ कुछ नहीं कर सकता। मीटिंग में अवैध निर्माणों को लेकर भी चर्चा की गई। यहां वधावा नगर में बनने वाले होटल्स पर भी चर्चा की गई।

X
Kariri News - rajasthan news officers taking salaries do not work
COMMENT