जनता खुद मौत को दे रही दावत

Karoli News - सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने के लिए कोरे साबित हो रहे पुलिस के प्रयास जिले में सड़क दुर्घटनाओं एवं सड़क...

Feb 15, 2020, 09:35 AM IST
Karauli News - rajasthan news the public is giving a treat to death itself
सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने के लिए कोरे साबित हो रहे पुलिस के प्रयास

जिले में सड़क दुर्घटनाओं एवं सड़क दुर्घटना में होने वाली मौतों के आंकड़े को कम करने के लिए पुलिस भरसक प्रयास कर रही है। हालत यह है कि आए दिन अभियान चलाकर पुलिस एवं यातायात विभाग लोगों को जागरूक कर रहा है लेकिन फिर भी लोग जागरूक होने के बजाय सड़क दुर्घटनाओं को न्योता देते नजर आ रहे हैं। बहरहाल जहां तक पुलिस सड़क दुर्घटना के लिए जिम्मेदार है, उससे कहीं हद तक आम नागरिक भी सड़क दुर्घटनाओं के लिए जिम्मेवार है। जिले में लगातार सड़क दुर्घटना में मृतकों की एवं घायलों की संख्या बढ़ी है। हालत यह है कि साल में 200 से अधिक दुर्घटनाएं हो रही हैं जिसमें मरने वालों की संख्या भी सैकड़ों का आंकड़ा क्रॉस कर जाती है। हालांकि पुलिस एवं सार्वजनिक निर्माण विभाग ने कुछ ब्लैक स्पॉटों को भी चिन्हित किया है लेकिन उनमें से अधिकांश ब्लैक स्पॉटों की स्थिति में ही पूर्णरूपेण सुधार नहीं हो पाया है।

मात्र एक वर्ष में ही 46% घायलों की संख्या में हुई वृद्धि: पुलिस विभाग से प्राप्त सूत्रों के अनुसार सड़क दुर्घटनाओं को रोकने के लिए पुलिस के प्रयासों के बावजूद भी मात्र एक वर्ष में ही सड़क दुर्घटना में घायलों की संख्या में 45.79% तक वृद्धि हुई है जो कि एक चौंकाने वाला आंकड़ा है। वर्ष 2017 में जिले में 260 दुर्घटनाएं हुई। जिसमें घायलों की संख्या 224 थी। इसी प्रकार वर्ष 2018 में 250 दुर्घटनाओं में घायलों की संख्या 223 और वर्ष 2019 में 268 दुर्घटनाओं में यह संख्या बढ़कर 330 हो गई। जिसके कारण पुलिस द्वारा सड़क दुर्घटनाओं को रोकने के लिए चलाए जा रहे प्रयास विफल दिखाई दे रहे हैं।

न खुद की न परिवार के जीवन की िचंता

पुलिस एवं प्रशासन हो सख्त हो तो दुर्घटनाओं में आए कमी : समाजसेवी बबलू शुक्ला ने बताया कि जिला मुख्यालय पर लगातार सड़क हादसे बढ़ रहे हैं। लोग नियमों की पालना किए बिना ही लापरवाही से वाहनों को सड़कों पर दौड़ा रहे हैं। ऐसे में सड़क दुर्घटनाओं पर लगाम लगाने के लिए पुलिस को सख्ती दिखानी आवश्यक है लेकिन पुलिस भी नियमों में अपने चहेतों को स्वयं छूट देती नजर आ रही है जो कि पूर्णरूपेण गलत है।

मृतकों की संख्या में2.72 % वृद्धि,हादसों में 7.02% बढ़ोतरी

}अनदेखी

ब्लैक स्पॉटों को चिह्नित करने के बाद भी मौतों का सिलसिला जारी

वर्ष दुर्घटना मृतक साधारण घायल गंभीर घायल दिन की दुर्घटना रात की दुर्घटना

2017 260 123 224 20 195 65

2018 250 110 233 05 207 43

2019 268 113 330 17 208 60

करौली| पांडे के कुंआ के सामने एनएच 11 बी पर घनी आबादी के कारण होते हैं सड़क हादसे।

दुर्घटना में मृतकों की संख्या में हुई कमी : सड़क दुर्घटनाओं में जहां एक और घायलों की संख्या में वृद्धि हुई है वहीं दूसरी ओर दुर्घटनाओं में मरने वालों की संख्या में कमी आई है। वर्ष 2017-2018 एवं 2019 में लगातार दुर्घटनाओं में वृद्धि हुई है और घायलों की संख्या भी बढ़ी है लेकिन मृतकों की संख्या में कमी आने में पुलिस एवं चिकित्सा विभाग सफल साबित हुआ है। वर्ष 2017 में सड़क दुर्घटना में मृतकों की संख्या 123 थी जो 2018 में 110 एवं 2019 में 113 हो गई। हालांकि वर्ष 2018 की अपेक्षा 2019 में मृतकों की संख्या में वृद्धि 2.72% हुई है और वर्ष 2018 की अपेक्षा 2019 में दुर्घटनाओं में 7.02% वृद्धि हुई है।


नवाचार के प्रयास




2018 में 110 एवं

2019 में 113

कराैली| गंगापुर माेड तिराहे पर सांकेतिक बाेर्ड और ब्रेकर नहीं होने के कारण होते है हादसे।

Karauli News - rajasthan news the public is giving a treat to death itself
X
Karauli News - rajasthan news the public is giving a treat to death itself
Karauli News - rajasthan news the public is giving a treat to death itself
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना