खैरथल

--Advertisement--

खैरथल के व्यापारी मुकेश अग्रवाल का हत्या प्रकरण

भास्कर संवाददाता | अलवर/खैरथल पुलिस खैरथल कस्बे के व्यापारी मुकेश अग्रवाल के बहुचर्चित हत्याकांड के आरोपियों...

Danik Bhaskar

Mar 31, 2018, 04:50 AM IST
भास्कर संवाददाता | अलवर/खैरथल

पुलिस खैरथल कस्बे के व्यापारी मुकेश अग्रवाल के बहुचर्चित हत्याकांड के आरोपियों तक पहुंच गई है। इसमें मुख्य आरोपी इसी व्यापारी का नौकर बताया जा रहा है। पुलिस इस मामले का शनिवार दोपहर 12 बजे खुलासा करेगी। एसपी राहुल प्रकाश ने गुरुवार-शुक्रवार रात 1.21 बजे अपने वाट्स-अप ग्रुप अलवर पॉजिटिव एटीट्यूड में इस मामले का खुलासा होने के संकेत दिए।

जानकारी के अनुसार, व्यापारी की हत्या में उसके विश्वास पात्र लोग ही शामिल हैं। पुलिस ने व्यापारी के हत्यारों को चिह्नित कर लिया है। एसपी राहुल प्रकाश ने बताया कि इस मामले में हत्यारों ने व्यापारी के भरोसे का ही कत्ल किया। सूत्रों के अनुसार, व्यापारी मुकेश की हत्या में तीन-चार आरोपी शामिल होने की आशंका हैं। ये आपस में रिश्तेदार हैं। ये व्यापारी के खास परिचित लोगों में शामिल रहे हैं। इनमें दो आरोपी गांव रायपुर अहीर के रहने वाले हैं जबकि उनका एक साथी गांव इस्माइलपुर और एक बदमाश हरियाणा के पुन्हाना कस्बे का रहने वाला बताया जा रहा है। पुलिस की टीमें व्यापारी की हत्या करने वाले बदमाशों की निशानदेही पर उनके कब्जे से गोली मारने वाले हथियार, वारदात में उपयोग ली गई बाइक सहित लूट की राशि बरामद करने में जुटी हैं।

सूत्रों के अनुसार, पुलिस द्वारा व्यापारी की हत्या में चिह्नित किए गए चार में से एक बदमाश व्यापारी मुकेश अग्रवाल की दुकान पर ही नौकरी करता था। उसने व्यापारी की कई दिनों तक रैकी की थी। इसके बाद योजनापूर्ण तरीके से उसने अपने रिश्तेदारों को शामिल कर व्यापारी की हत्या की वारदात की। एसपी राहुल प्रकाश का कहना है कि व्यापारी की हत्या के आरोप में चार युवकों को हिरासत लेकर पूछताछ की गई। इनसे अहम सुराग मिले हैं। बदमाशों की निशानदेही पर उनसे हत्या में उपयोग लिए गए संसाधन व हथियार बरामद के लिए विशेष टीमें भेजी गई हैं।

मुकेश अग्रवाल।

आरोपियों तक पहुंची पुलिस, नौकर ने साथियों के साथ मिलकर रची थी साजिश

दैनिक भास्कर में प्रकाशित समाचार।

हत्या के बाद प्रदर्शन में भी शामिल हुआ आरोपी

पुलिस सूत्रों की मानें, तो छोटू नाम का नौकर ही व्यापारी मुकेश हत्याकांड का मुख्य सूत्रधार है। उसने ही लूट की नीयत से अपने साथियों के साथ व्यापारी की गोली मारकर हत्या की थी। वारदात के बाद व्यापारी मुकेश की दुकान चार दिन तक बंद रही। वारदात के 5वें दिन नौकर छोटू दुकान पर पहुंचा। इसके बाद वह 3-4 दिन गायब हो गया। फिर दुकान पहुंचा तो मृतक व्यापारी मुकेश के पिता ने उसे दुकान पर काम करने से मना कर दिया था। छोटू इतना शातिर है कि वह मुकेश की हत्या के विरोध में व्यापारियों की ओर से खैरथल में किए गए प्रदर्शन में भी शामिल हुआ था ताकि किसी को उस पर शक नहीं हो सके।

खैरथल व अलवर रहा था बंद

खैरथल के बहुचर्चित मुकेश हत्याकांड के आरोपियों के पकड़ने जाने की शुक्रवार को दिनभर सोशल मीडिया पर चर्चा चलती रही। गौरतलब है कि बाइक सवार बदमाशों ने 9 मार्च की रात करीब साढ़े आठ बजे व्यापारी मुकेश अग्रवाल की सरेराह गोली मारकर हत्या कर दी थी और उसका रुपए से भरा बैग छीनकर ले गए थे। इस वारदात के विरोध में व्यापारियों ने खैरथल व अलवर बंदकर आक्रोश जताया था।

Click to listen..