Hindi News »Rajasthan »Khairthal» झांकियां सजाकर दिया व्यसन से मुक्ति का संदेश

झांकियां सजाकर दिया व्यसन से मुक्ति का संदेश

कस्बे में चल रहे खुशियाें के बिग बाजार आध्यात्मिक मेले में अनेक महिला-पुरुष व बच्चे शनिवार काे देखने पहुंचे। 9...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 11, 2018, 05:00 AM IST

झांकियां सजाकर दिया व्यसन से मुक्ति का संदेश
कस्बे में चल रहे खुशियाें के बिग बाजार आध्यात्मिक मेले में अनेक महिला-पुरुष व बच्चे शनिवार काे देखने पहुंचे। 9 फरवरी से 11 फरवरी तक खुशियाें का बिग बाजार आध्यात्मिक मेला लगाया जा रहा है। अाेम शांति परिवार की स्थानीय शाखा संचालक गाैरी दीदी ने बताया कि मेले का अायाेजन प्रजापिता ब्रह्मकुमारी र्इश्वरीय विश्वविद्यालय खैरथल की अाेर माताेर राेड यूकाे बैंक के सामने स्थित घीसाराम मार्ग पर शाम 4 से 7 बजे तक किया जा रहा है। मेले में हर एक में आत्मविश्वास जगाकर प्रतिकूल परिस्थितियाें में भी सदा खुशनुमा जीवन जीने की कला सिखार्इ जा रही है। विशेष रूप से सभी काे अपने अवगुण, बुरी आदतें रूपी अक-धतूरा अाैर व्यसनाें रूपी विष परमात्मा शिव पर चढ़ाने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। मेले का मुख्य अाकर्षण फूलाें एवं फूलाें से निर्मित 8 फीट का भव्य शिवलिंग हाेगा। इसके अलावा मेले में शिव अाैर शंकर, व्यसन मुक्ति व स्वर्णिम दुनिया की झांकियां सजार्इ गर्इ हैं। मेले का उद्‌घाटन अलवर सेवाकेन्द्र की संचालिका राजयाेगिनी ब्रह्मकुमारी सुशीला दीदी एवं संयोजिका ममता दीदी ने शिवलिंग के सम्मुख ज्याेत जलाकर किया। इससे पूर्व सुबह 11 बजे कस्बे के मुख्य मार्गाें से रैली निकाली गर्इ जिसका जगह-जगह पर विभिन्न सामाजिक संगठनाें ने स्वागत किया।

किशनगढ़बास : कस्बे में शनिवार को महाशिवरात्रि के उपलक्ष्य में प्रजापिता ब्रह्मा कुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय की ओर से शिव संदेश रैली एवं आध्यात्मिक सत्संग का आयोजन किया गया। सत्संग कार्यक्रम में ब्रह्माकुमारी कल्याणी दीदी ने शिव परमात्मा का सत्य परिचय से सबको अवगत कराया एवं शिवरात्रि का महत्व समझाया। मंच संचालन आरती दीदी ने किया।

किशनगढबास. रैली निकालते लोग।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Khairthal

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×