• Home
  • Rajasthan News
  • Khairthal News
  • मालाखेड़ा में परीक्षार्थी की जगह दूसरा युवक दे रहा था परीक्षा, बहरोड़ में ब्लूटूथ से नकल पकड़ी
--Advertisement--

मालाखेड़ा में परीक्षार्थी की जगह दूसरा युवक दे रहा था परीक्षा, बहरोड़ में ब्लूटूथ से नकल पकड़ी

भास्कर न्यूज | बहरोड़/ मालाखेड़ा माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की शिक्षक भर्ती पात्रता परीक्षा-2018(रीट) के दौरान बहरोड़...

Danik Bhaskar | Feb 12, 2018, 05:05 AM IST
भास्कर न्यूज | बहरोड़/ मालाखेड़ा

माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की शिक्षक भर्ती पात्रता परीक्षा-2018(रीट) के दौरान बहरोड़ में ब्लूटूथ से नकल और मालाखेड़ा में फर्जी परीक्षार्थी के मामले पकड़े गए। अलवर रोड स्थित बहरोड़ पीजी महाविद्यालय में रविवार को आयोजित रीट परीक्षा के दौरान कान में ब्लूटूथ व अंडर गारमेंट में डिवाइस लगाकर नकल करते हुए जालौर की सांचौर तहसील निवासी अभ्यर्थी रघुनाथ विश्नोई को पुलिस ने गिरफ्तार किया। अभ्यर्थी ने ब्लूटूथ बग कान में इस तरह लगाया हुआ था कि निकालने के लिए डाक्टर से उसके कान की माइनर सर्जरी करानी पड़ी। अभ्यर्थी ने जयपुर से 15 हजार रुपए में डिवाइस खरीद थे। साथ ही नकल कराने वालों से करीब पांच लाख रुपए में परीक्षा पास कराने का सौदा किया।

बहरोड़ डीएसपी जनेश सिंह तंवर ने बताया कि माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की अध्यापक पात्रता भर्ती परीक्षा (रीट) के बहरोड़ पीजी महाविद्यालय केंद्र पर मामला पकड़ा गया। यहां जालौर के सांचोर तहसील के विश्नोई की दांचा ढाणी निवासी रघुनाथ विश्नोई पुत्र चौखाराम विश्नोई के कान से आवाज सुनाई पड़ी। परीक्षा वीक्षक रामसिंह व सुपरवाइजर को उस पर शक हुआ। अभ्यर्थी के हावभाव भी संदिग्ध लगे। वीक्षक ने पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस व प्रशासन की टीम ने उसकी जांच की तो अंडरगार्मेंट्स में छिपाकर टेप से चिपकाया डिवाइस व कान में लगा ब्लूटूथ मिला। टीम ने कान से हियरिंग डिवाइस (बग) निकालने की कोशिश की। सफलता नहीं मिलने पर उसे अस्पताल ले जाया गया। यहां डॉक्टरों ने माइनर ऑपरेशन कर ‘बग’ बाहर निकाला। अभ्यर्थी को गिरफ्तार कर उपकरण जप्त कर लिए गए। उसके खिलाफ धोखाधड़ी, आईटी एक्ट व नकल विरोधी कानून के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

4 से 5 लाख में हुआ सौदा : बहरोड़ थाना अधिकारी महावीर सिंह शेखावत ने बताया कि अभ्यर्थी रघुनाथ विश्नोई से प्रारंभिक पूछताछ में पता चला है कि उसका भाई जयपुर में एक फैक्ट्री में काम करता है। उसने किसी व्यक्ति से 4 से 5 लाख रुपए में परीक्षा पास कराने की गारंटी ली। उसी व्यक्ति ने 15 हजार रुपए लेकर ब्लूटूथ व डिवाइस दिया है। इनकी मदद से वह बाहर के किसी व्यक्ति के संपर्क में था और परीक्षा के सवालों के जवाब सुन नकल कर रहा था। अभ्यर्थी से नकल कराने वाले बड़े नेटवर्क के खुलासे की उम्मीद है। परीक्षा में करीब 10 लाख अभ्यार्थियों ने भाग लिया है। कार्यवाही के दौरान कार्यवाहक एसडीएम सुरेश बुनकर, थाना अधिकारी महावीर सिंह, नायब तहसीलदार कमल पचौरी, परीक्षा केन्द्राधीक्षक डा. भारत सम्राट, कॉलेज निदेशक महेंद्र चौधरी सहित स्टाफ मौजूद रहा।

खैरथल. केंद्र के बाहर परीक्षार्थी कानों के टॉप्स उतारते हुए।

मालाखेड़ा में बिहार का युवक दूसरे के स्थान पर परीक्षा देते पकड़ा

उधर, अलवर जिले के ही मालाखेड़ा कस्बे में दुर्गा देवी सीनियर सेकेंडरी स्कूल स्थित रीट परीक्षा केंद्र पर एक परीक्षार्थी दूसरे के स्थान पर परीक्षा देते पकड़ा गया। मालाखेड़ा थाना प्रभारी महेश तिवाडी ने बताया कि परीक्षार्थी उत्सव पुत्र उपेंद्र तिवाडी (25) निवासी सुंदरपुर बरजा थाना बिहिया जिला आरा भोजपुर, बिहार को भवानी सिंह मीणा पुत्र लखनलाल निवासी रंग लालपुरा टोडाभीम जिला करौली के स्थान पर परीक्षा दे रहा था। केंद्र प्रभारी गिर्राज कृष्ण व्यास ने फोटो का मिलान नहीं होने पर उससे हस्ताक्षर कराए। ये मूल हस्ताक्षर से मेल नहीं खा रहे थे। व्यास ने सूचना अलवर एडीएम प्रथम राकेश गड़वाल को दी। उनके निर्देश पर परीक्षार्थी को गिरफ्तार कर लिया गया।

आरोपी उपेंद्र

अलवर. महिलाओं के चूड़ियां तक खुलवाली गई।

बहरोड़ में रीट परीक्षा के दौरान पकड़ा नकल का आरोपी नीचे बैठे हुए।

कॉलेज में दूसरे दिन भी पुलिस कार्यवाही

बहरोड़ पीजी महाविद्यालय में 102 व 114 परीक्षा केन्द्र पर 240 अभ्यर्थियों ने रविवार को परीक्षा में भाग लिया। जिसमें जयपुर, जालौर, बाड़मेर, दौसा व सीकर के अभ्यर्थी मौजूद रहे। परीक्षा केन्द्र पर एक अभ्यर्थी को ब्लूटूथ व डिवाइस से नकल करते हुआ मिला। कॉलेज के बाहर से शनिवार को आईटीआई परीक्षा के दौरान एक शिक्षक को नकल कराने के अपराध में गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने कॉलेज से लगातार दूसरे दिन कार्यवाही की है।