• Hindi News
  • Rajasthan
  • Khetari
  • शक के आधार पर मामा ने दर्ज करवाया था दुष्कर्म का केस
--Advertisement--

शक के आधार पर मामा ने दर्ज करवाया था दुष्कर्म का केस

निजामपुर मोड़ राजोता स्थित कुएं से जिंदा निकाली गई नाबालिग का जयपुर के निजी अस्पताल में उपचार चल रहा है। नाबालिग की...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 01:30 PM IST
शक के आधार पर मामा ने दर्ज करवाया था दुष्कर्म का केस
निजामपुर मोड़ राजोता स्थित कुएं से जिंदा निकाली गई नाबालिग का जयपुर के निजी अस्पताल में उपचार चल रहा है। नाबालिग की हालत में सुधार है। हालांकि अभी वह बयान देने की स्थिति में नहीं है। गुरुवार को उसका ऑपरेशन होने की संभावना है। खेतड़ी डीएसपी वीरेंद्र मीणा ने जयपुर पहुंच कर पीड़िता के परिजनों से मुलाकात कर मामले की जानकारी ली। पुलिस का कहना है कि नाबालिग के परिजनों ने शक के आधार पर ही मुकदमा दर्ज करा दिया था। एफआईआर में मामा ने अपहरण के बाद गलत काम करने व फिर नाबालिग को कुएं में फेंकने की बात दर्ज कराई गई है। नाबालिग के पिता भी छुट्टी लेकर जयपुर पहुंचे। पुलिस ने नाबालिग के पास एसआई व महिला कांस्टेबल तैनात की है। उल्लेखनीय है कि 29 जनवरी की शाम को पुलिस को सूचना मिली थी कि निजामपुर मोड़ स्थित कुएं में एक नाबालिग गिरी हुई है। पुलिस ने वहां पहुंच कर ग्रामीणों के सहयोग से उसे बाहर निकाला। उसके सिर में गंभीर चोट थी। पैर फ्रेक्चर हो गया था। पुलिस ने उसे खेतड़ी अस्पताल पहुंचाया था। हालत गंभीर होने पर जयपुर रैफर किया। गौरतलब है कि नाबालिग ने अपने फेसबुक एकाउंट को 28 जनवरी की अलसुबह अपडेट करते हुए अपनी सहेलियों को ‘बॉय’ कहा था। पुलिस ने आरोपी छात्रों को बुला कर उनसे इस बारे में पूछताछ की है। हालांकि छात्रों ने आरोप नकार दिए, फिर भी पुलिस आरोपियों की गतिविधियों पर नजर गड़ाए है। नाबालिग के होश आने के बावजूद अभी बयान देने की स्थिति में नहीं होने के कारण पुलिस पर्चा बयान नहीं ले पाई है। बयान होने के बाद ही मामले का सच सामने आएगा।

X
शक के आधार पर मामा ने दर्ज करवाया था दुष्कर्म का केस
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..