Hindi News »Rajasthan »Khiwsar» एसएसए व समाजसेविका ने बनवाया कन्या पाठशाला भवन, अब पंचायतीराज का कब्जा

एसएसए व समाजसेविका ने बनवाया कन्या पाठशाला भवन, अब पंचायतीराज का कब्जा

कस्बे की एक महिला ने वर्षों पहले मन में एक सपना संजोया था कि उसके गांव की हर बालिका शिक्षित बनकर अपने गांव का नाम...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jan 15, 2018, 04:40 AM IST

कस्बे की एक महिला ने वर्षों पहले मन में एक सपना संजोया था कि उसके गांव की हर बालिका शिक्षित बनकर अपने गांव का नाम रोशन करे। महिला समाज सेविका ने इस सपने को लेकर कन्या पाठशाला के लिए भवन का निर्माण में सहयोग किया। लेकिन अब इस बालिका स्कूल भवन पर पंचायतीराज विभाग ने कब्जा कर लिया है। यह कब्जा कोई एक या दो माह से नहीं बल्कि पूरे 3 साल से है। बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए सरकार व समाजसेवकों ने कन्या पाठशाला का निर्माण करवाया। स्कूल भवन में बालिकाओं की शिक्षा के लिए यहां क्लासें शुरू करते उससे पहले ही पंचायतीराज विभाग ने भवन पर अपना कब्जा कर लिया। समाजसेवियों ने कन्या पाठशाला शुरू करने के लिए कई बार शिक्षा विभाग के अधिकारियों से पाठशाला को शुरू करने की मांग की। लेकिन अधिकारियों की शिथिलता के चलते नए भवन में कन्या पाठशाला शुरू नहीं हो पाई। जिसके चलते आज भी पुराने भवन में कन्या पाठशाला संचालित की जा रही है। पुराने स्कूल भवन में सुविधाओं के अभाव व जर्जर भवन के चलते पिछले 3 सालों से नामांकन भी कम हो रहा है।

कन्या पाठशाला भवन में संचालित हो रही पंचायत समिति प्रशासन को इस भवन को खाली करने के लिए स्कूल प्रशासन व शिक्षा विभाग ने कई बार नोटिस दिए। लेकिन पंचायत समिति के अधिकारियों द्वारा आज तक भवन खाली नहीं करने से स्कूली छात्राओं को परेशानी हो रही है। स्कूल भवन में संचालित पंचायत समिति को खाली करने की मांग को लेकर शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने विधानसभा तक पत्र व्यवहार किया। लेकिन आज तक पंचायतीराज विभाग ने इस भवन को खाली नहीं किया है। एसएसए मद से कस्बे में वर्ष 2009 में सरकार व भामाशाहों ने करीब 10 लाख रुपए से अधिक राशि खर्च कर कन्या पाठशाला का निर्माण करवाया। कस्बे में संचालित कन्या पाठशाला को इस नए भवन में शिफ्ट करने की तैयारी चल रही थी। लेकिन 3 वर्ष पूर्व पंचायतीराज विभाग ने इस नए भवन पर कब्जा कर पंचायत समिति कार्यालय बना लिया। इसके चलते आज भी कस्बे की बालिकाएं शिक्षण व्यवस्था के लिए पुराने खंडहर भवन में पढ़ने को मजबूर है। कन्या पाठशाला के लिए सरकारी मद से दो कक्षा-कक्ष, एक प्रधानाध्यापक कार्यालय कक्ष के साथ पाठशाला की चारदीवारी का निर्माण करवाया गया। वहीं बालिकाओं के लिए समाजसेवी सुशीला ने करीब ढाई लाख रुपए खर्च कर पाठशाला में एक कक्षा-कक्ष का भी निर्माण करवाया।

उच्चाधिकारियों को कराया है अवगत

खींवसर में बालिकाओं के लिए बनी कन्या पाठशाला में पंचायत समिति कार्यालय का संचालन किया जा रहा है। पंचायत समिति बीडीओ को भवन खाली करने के लिए कई बार नोटिस दिया। लेकिन पंचायत समिति भवन खाली नहीं करने के कारण कस्बे में पुराने जर्जर भवन में बालिकाओं को पढ़ाना पड़ रहा है। सुरेश कुमार निर्मल, प्रधानाध्यापक, उच्च प्राथमिक कन्या पाठशाला, खींवसर

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Khinwsar News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: esese v smaajsevika ne banvaayaa knyaa paathshaalaa bhavan, ab pnchaaytiraaj ka kbjaa
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Khiwsar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×