--Advertisement--

श्रीरंगनाथ मंदिर में 11 दिवसीय ब्रह्मोत्सव शुरू

रोल. तालाब परिसर से मिट्टी एकत्रित कर मंदिर में लाते पुजारी। भास्कर संवाददाता | खींवसर शीलगांव में रविवार को...

Dainik Bhaskar

Feb 12, 2018, 05:10 AM IST
श्रीरंगनाथ मंदिर में 11 दिवसीय ब्रह्मोत्सव शुरू
रोल. तालाब परिसर से मिट्टी एकत्रित कर मंदिर में लाते पुजारी।

भास्कर संवाददाता | खींवसर

शीलगांव में रविवार को भागवत कथा के छठे दिन कथा वाचक करूणामूर्ति धाम भादवासी के संत हेतमराम महाराज ने कहा कि तीन लोक में जिसने भी अंहकार किया उसका पतन हुआ। जिस तरह से भगवान श्रीकृष्ण ने गोवर्धन पर्वत को धारण करके इंद्र के अहंकार का पतन किया। मनुष्य को अहंकार का त्याग कर ईश्वर की भक्ति के मार्ग पर चलना चाहिए। कथा में शीलगांव, भाकरोद, डेहरू, मूंदियाड़, संखवास, गोवा कल्ला, लालाप, मेड़ास सहित आसपास के गांवों से बड़ी संख्या में श्रद्धालु उपस्थित थे। शीलगांव की गौशाला में चल रही कथा में सोमवार को शिव गौशाला से तालाब तक ग्रामीणों द्वारा शोभायात्रा निकाली जाएगी। पंडित मुकेश ने बताया कि भागवत कथा में राजेंद्र, रामप्रसाद, मुकेश पिंडेल, लूणाराम, तिलोकराम, राकेश, संपतराम, सवाईराम, अनिल, दिलसुख सहित कई कार्यकर्ता सेवाएं में जुटे रहे।

रोल | रोल गांव में श्रीरंगनाथ भगवान के मंदिर में रविवार को 109वां 11 दिवसीय वार्षिक ब्रह्मोत्सव का शुभारंभ मृतिका संग्रह के साथ हुआ। इस दौरान अंकुरारोपण के लिए दक्षिण भारत के विद्वान पंडितों के सान्निध्य में तालाब परिसर से मृतिका संग्रह (मिट्टी एकत्रित) कर रंगनाथ भगवान के मंदिर में लाया गया। मंदिर में पूजा-अर्चना, प्रसाद वितरण सहित अनेक धार्मिक आयोजन किए गए। श्री रंगनाथ देवस्थान ट्रस्ट के मैनेजर चिरंजीव रावत ने बताया कि सोमवार सुबह सवा 9 बजे मंदिर में ध्वजारोहण किया जाएगा। इसी प्रकार अंकुरारोपण, देवी-देवताओं का आह्वान, पूजा-अर्चना, प्रसाद वितरण सहित अनेक धार्मिक आयोजन होंगे।

फोटो। रोल। 120203। मृतिका संग्रह कर लाते हुए।

कथा में सजीव झांकियों ने मोहा मन

रोल |
रोल गांव में पानी की टंकी के पास हनुमान मंदिर परिसर में आयोजित श्रीराम कथा ज्ञान यज्ञ महोत्सव के दौरान रविवार को राम-लक्ष्मण, भरत मिलाप व सीता हरण की सजीव झांकियां सजाई गई। बच्चों द्वारा सजाई गई सजीव झांकियां सभी का मन मोह रही थी। कथा वाचक पंडित श्रवणदास स्वामी ने कहा कि राम नाम का सुमिरन करने से ही मनुष्य के जीवन में समस्त कष्टों का नाश हो सकता है। मनुष्य को अपने दैनिक कार्यों में से समय निकालकर रामनाम का स्मरण अवश्य करना चाहिए। उन्होंने कहा कि व्यक्ति को सच्चे मन व निस्वार्थ भाव से प्रभु की भक्ति करनी चाहिए। सच्चे भाव से की गई भक्ति को ही भगवान स्वीकार करते हैं। इस दौरान अनेक भजन पेश किए गए। भजन प्रस्तुतियों पर श्रद्धालु भक्ति सागर में झूमते नजर आए।

महाशिवरात्रि पर जागरण 13 को

मूंडवा आंचलिक |
नगर सेठ श्रीचार भुजानाथ मन्दिर के पास चार भुजा चौक में 13 फरवरी को महाशिवरात्रि पर रात्रि 8 बजे से जागरण का आयोजन किया जाएगा। जागरण समिति के शैलेष बाज्या ने बताया कि कार्यक्रम में कलाकार भावना दहिया, गौतम कुड़ी, अनु पुष्कर, किरण पुष्कर व वाद्य यंत्र कलाकार प्रस्तुतियां देंगे। कार्यक्रम को लेकर तैयारियां की जा रही हैं। इस दौरान बड़ी संख्या में श्रद्धालु मौजूद होंगे।

खींवसर. शीलगांव गौशाला में भागवत कथा में उमङे श्रद्वालु।

X
श्रीरंगनाथ मंदिर में 11 दिवसीय ब्रह्मोत्सव शुरू
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..