• Hindi News
  • Rajasthan
  • Khiwsar
  • पांचला सिद्धा में आवारा घूम रही 300 गायांे की सेवा के लिए जुटाए ~2 लाख
--Advertisement--

पांचला सिद्धा में आवारा घूम रही 300 गायांे की सेवा के लिए जुटाए ~2 लाख

Dainik Bhaskar

Jan 08, 2018, 06:16 AM IST

Khiwsar News - निकटवर्तीगांव पांचला सिद्धा के क्षेत्र की करीब आवारा घूम रही 300 गायों के लिए चारा पानी की समुचित व्यवस्था के लिए...

पांचला सिद्धा में आवारा घूम रही 300 गायांे की सेवा के लिए जुटाए ~2 लाख
निकटवर्तीगांव पांचला सिद्धा के क्षेत्र की करीब आवारा घूम रही 300 गायों के लिए चारा पानी की समुचित व्यवस्था के लिए भागवत कथा का आयोजन करवाया जा रहा हैं। गायों के चारे पानी के लिए आसपास के ग्रामीण भी अब उनके लिए हाथ बंटा रहे है। वहीं भागवत कथा के चौथे दिन ग्रामीणों ने आवारा गायों के सहयोग के लिए 2 लाख 10 हजार रुपए का चंदा राशि 80 क्विंटल चारा देने की घोषणा हुई के बाद ग्रामीणों ने चंदा देना शुरू किया।

वहीं पिछले तीन सालों से आवारा घूम रही इन गायों के चारे पानी के लिए हीराराम विश्नोई, रेखाराम, शंकरराम, रूघनाथराम खींचड़, गूलाराम खींचड़, रामू राम विश्नोई सहयोग कर गायोंं के लिए अपने स्तर पर चारा-पानी की व्यवस्था कर रहे थे। लेकिन इनकी गौ सेवा देखकर पूरे गांव में आवारा गायों की सेवा के लिए श्रीमद् भागवत कथा का आयोजन करवाया गया है। जिससे गायों के लिए हर कोई सहयोग में आगे सके। कथा वाचक ओमप्रकाश महर्षि ने कहा कि गाय की सेवा से बढ़कर संसार में कोई सेवा नहीं है मनुष्य को हर घर में गाय पालकर उसकी सेवा करनी चाहिए। कथा में पांचला सिद्धा, कांटिया, सैनिक नगर, थांबड़िया, माधाणियों की ढाणियां, विश्नोइयों की ढाणियां सहित क्षेत्र के कई गांवों से श्रद्धालु पहुंचे।

मेड़तासिटी | प्रेमनगरकॉलोनी स्थित कामेश्वर मंदिर में चल रही नानीबाई रो मायरा कथा का समापन रविवार को शोभायात्रा के साथ हुआ। कथावाचक साध्वी इंदु कृष्णा ने कहा कि भक्त नरसी महेता की अटूट भक्ति के चलते ही स्वयं भगवान श्रीकृष्ण नानीबाई के विवाह में 56 करोड़ का मायरा भरने पहुंचे थे। यह भक्ति की ही शक्ति है कि भक्त की पुकार पर भगवान को भी अपने नियम बदलने पड़ते है। साध्वी ने कहा कि आज अगर कोई भक्त सच्चे मन से भगवान को पुकारे तो भगवान भक्त के काज सवारने के नंगे पैर दौड़े चले आते है। कथा के अंत में महाआरती की गई। इसके बाद शोभायात्रा के साथ कथा का समापन हुआ। इस दौरान श्रद्धालुओं ने साध्वी का माला साफा पहनाकर अभिनंदन किया। इस मौके पर किशोर सोनी, बुद्धाराम सोनी, केवलचंद सोनी, रावतराम भाकर, मोतीराम कलवाणिया, करण सिंह, पवन वैष्णव, रामकिशन कस्वां, शिवप्रसाद जांगिड़ उपस्थित थे।

X
पांचला सिद्धा में आवारा घूम रही 300 गायांे की सेवा के लिए जुटाए ~2 लाख
Astrology

Recommended

Click to listen..