• Home
  • Rajasthan News
  • Khinwsar News
  • ‘मैं यहां राजनीति करने नहीं क्रिकेट कराने आया हूं’
--Advertisement--

‘मैं यहां राजनीति करने नहीं क्रिकेट कराने आया हूं’

‘जिस दिन मैंने आरसीए का चुनाव जीता था उस दिन भी एक ही बात कही थी कि मुझे आरसीए का सस्पेंशन खत्म कराना है और आईपीएल...

Danik Bhaskar | Mar 26, 2018, 05:20 PM IST
‘जिस दिन मैंने आरसीए का चुनाव जीता था उस दिन भी एक ही बात कही थी कि मुझे आरसीए का सस्पेंशन खत्म कराना है और आईपीएल कराना है। आज भी मैं यही कह रहा हूं कि मैं यहां राजनीति करने नहीं क्रिकेट कराने आया हूं। अगर मुझे राजनीति करनी है तो उसके लिए मेरी कांग्रेस पार्टी काफी है। मेरे पास पार्टी की इतनी जिम्मेदारी है कि मुझे यहां राजनीति करने की जरूरत नहीं है। इसलिए मैं यही चाहता हूं कि और भी कोई राजनीति न करे और क्रिकेट की भलाई के लिए काम करे तो बेहतर होगा।’ आरसीए के अध्यक्ष सी.पी. जोशी ने एकेडमी में एक्जीक्यूटिव कमेटी की मीटिंग के बाद भास्कर को दिए विशेष इंटरव्यू में यह बात कही।

नांदू को कहा था मीटिंग बुलाने के लिए

उन्होंने कहा कि मैंने आरसीए सचिव नांदू को मेल कर 25 मार्च को मीटिंग बुलाने के लिए मेल लिखा था। मैंने यह भी कहा था कि मीटिंग अर्जेंट है। लेकिन उन्होंने घर में कोई अर्जेंट काम होने के कारण मीटिंग बुलाने में असमर्थता जताई थी। इस पर मैंने उन्हें एक और मेल कर कहा कि आप मीटिंग बुला लें क्योंकि यह जरूरी है। आप उपस्थित नहीं होंगे जो भी फैसला होगा उस बारे में आपको बता दिया जाएगा। लेकिन उन्होंने मीटिंग नहीं बुलाई तो मैंने जॉइंट सेक्रेटरी को मीटिंग कॉल करने को कहा।

जिस मीटिंग में समोता का फैसला हुआ, सचिव भी थे

भवानी समोता को बीसीसीआई और राजस्थान रॉयल्स के साथ कोऑर्डिनेट करने की जिम्मेदारी दिए जाने से आरसीए सचिव आर.एस. नांदू नाराज थे। लेकिन सीपी जोशी ने कहा कि इस बारे में एक्जीक्यूटिव कमेटी में ही फैसला हुआ था और उस समय नांदू खुद उस मीटिंग में मौजूद थे।

आयोजन समिति में राज्यवर्धन व खींवसर भी

आईपीएल मैचों को लेकर आरसीए ने कमेटियों का गठन कर लिया है। हालांकि इनकी घोषणा अभी नहीं हुई है। सूत्रों के अनुसार, आयोजन समिति में केंद्रीय खेलमंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर, राजस्थान के खेलमंत्री गजेंद्र सिंह खींवसर, गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया के साथ-साथ सभी 33 जिलों के सचिव शामिल होंगे। मीडिया मैनेजर अनंत व्यास, वेन्यू मैनेजर रामपाल शर्मा व एक्रीडिटेशन कमेटी में सुशील शर्मा होंगे। अनंत व्यास ने द. अफ्रीका से इस संबंध में सीपी जोशी का ई-मेल मिलने की पुष्टि की।

इसलिए जरूरी थी ईसी की मीटिंग

एक्जीक्यूटिव कमेटी की मीटिंग इसलिए जरूरी थी कि राजस्थान रॉयल्स को कुछ जरूरी फैसले लेने थे। राजस्थान रॉयल्स चाहती थी कि जल्द से जल्द यह तय हो जाए कि आरसीए और राजस्थान रॉयल्स को क्या-क्या काम करने हैं। हमें राजस्थान रॉयल्स से एक मैच के 30 लाख रुपए मिलते हैं। 7 मैच के 2.10 करोड़ रुपए मिलने हैं। इसके लिए आरसीए के जिम्मे काफी काम होते हैं। इस सब के बारे निर्णय करना जरूरी था।

अब नांदू ने बुलाई एक्जीक्यूटिव कमेटी की मीटिंग

यह मीटिंग जॉइंट सेक्रेटरी महेंद्र नाहर ने अध्यक्ष के आदेश से बुलाई थी। अब सोमवार को एक्जीक्यूटिव कमेटी की एक और मीटिंग होनी है। यह मीटिंग सचिव आर.एस. नांदू ने बुलाई है। नांदू ने 25 मार्च को करीब शाम 4.15 बजे मीटिंग के संबंध में सीपी जोशी सहित सभी को ईसी मेम्बर को मेल किया। हालांकि इससे पहले नांदू की सीपी जोशी से बातचीत हुई थी। उनके निर्देश के बाद ही यह मीटिंग बुलाई गई है। नांदू ने कहा, रविवार की मीटिंग औपचारिक थी। कल तक इतने कम नोटिस पर मीटिंग बुलाने का विरोध करने वाले खुद ही 24 घंटे से भी कम समय पर मीटिंग कैसे बुला रहे हैं।