--Advertisement--

जयपुर में आईपीएल होगा या नहीं, फैसला आज

राजस्थान क्रिकेट संघ (आरसीए) के भविष्य को लेकर 18 जनवरी को जो गुप्त मतदान हुआ था, उसका पिटारा बुधवार को हाईकोर्ट में...

Dainik Bhaskar

Jan 24, 2018, 09:10 PM IST
राजस्थान क्रिकेट संघ (आरसीए) के भविष्य को लेकर 18 जनवरी को जो गुप्त मतदान हुआ था, उसका पिटारा बुधवार को हाईकोर्ट में खुलेगा। इसी पिटारे में छिपा है जयपुर में आईपीएल होने या न होने का जादुई चिराग। आईपीएल के फैसले के साथ बीसीसीआई से आरसीए का सस्पेंशन खत्म होने का निर्णय भी इसी गुप्त मतदान के रिजल्ट पर निर्भर करेगा। हालांकि पिछले कुछ दिनों से जो एकजुटता सीपी जोशी और ललित मोदी गुट में देखने को मिल रही है उससे इस गुप्त मतदान का रिजल्ट पॉजिटिव आना तय है।

जयपुर जिला क्रिकेट संघ के भंग होने से बिगड़ी स्थिति

कुछ दिन पहले रजिस्ट्रार (सोसायटी) द्वारा जयपुर जिला क्रिकेट संघ को भंग कर दिए जाने से आरसीए में जो एकजुटता नजर आ रही थी उसकी स्थिति फिर बिगड़ती नजर आ रही है। हालांकि दोनों गुट यह तो चाहते हैं कि आरसीए का सस्पेंशन खत्म हो और राजस्थान की क्रिकेट पटरी पर लौटे, लेकिन अंदरखाने अभी भी मनमुटाव कम नहीं हुआ है। अब हाईकोर्ट के फैसले पर निर्भर करेगा कि आईपीएल मैचों का आयोजन जयपुर में होगा या नहीं। आईपीएल चेयरमैन राजीव शुक्ला भी साफ कर चुके हैं कि हाईकोर्ट से आरसीए का स्टेटस क्लियर होने के बाद ही जयपुर में मैच होंगे वरना पुणे शिफ्ट होंगे।

कहीं आरसीए का एमओयू आड़े न आए

राजस्थान रॉयल्स के जयपुर बेस होने पर संभवत: आरसीए का स्पोर्ट्स काउंसिल से एमओयू आड़े आ सकता है। फरवरी में आरसीए का एमओयू खत्म हो रहा है। इसके बाद नया एमओयू होगा, उसमें स्पोर्ट्स काउंसिल क्या नई शर्तें रखती है। राजस्थान सरकार के खेलमंत्री गजेंद्र सिंह खींवसर साफ-साफ कह चुके हैं कि आईपीएल और अंतरराष्ट्रीय मैच यदि जयपुर में नहीं होंगे तो एमओयू करने का भी क्या औचित्य है। यहां तक कि उन्होंने बीसीसीआई के सीईओ राहुल जोहरी को सोमवार को एक पत्र लिखकर यह आश्वासन दिया है कि यदि आरसीए का मसला नहीं सुलझता है तो राजस्थान सरकार जयपुर में आईपीएल मैचों का आयोजन कराने के लिए तैयार है और सफल आयोजन के लिए बीसीसीआई से एग्रीमेंट करने को भी तैयार है। सरकार आरसीए, बीसीसीआई और राजस्थान रॉयल्स के सहयोग से इसका आयोजन करेगी। इस पत्र की कॉपी बीसीसीआई प्रेसीडेंट, आरसीए प्रेसीडेंट, चेयरमैन राजस्थान रॉयल्स, चेयरमैन आईपीएल गवर्निंग बॉडी, सीओए, सचिव बीसीसीआई और स्पोर्ट्स काउंसिल के चेयरमैन को भी भेजी गई है।

सभी चाहते हैं जयपुर में हो आईपीएल

राजस्थान रॉयल्स की आईपीएल में दो साल बाद वापसी हो रही है। लेकिन अभी तक यह तय नहीं हुआ है कि आरआर के मैच जयपुर में होंगे भी या नहीं। हालांकि राजस्थान क्रिकेट संघ के अध्यक्ष सीपी जोशी हों, बीसीसीआई कार्यवाहक अध्यक्ष सी.के. खन्ना हों या फिर राजस्थान रॉयल्स के चेयरमैन रंजीत बारठाकुर हों, सभी कह चुके हैं कि वे राजस्थान रॉयल्स के आईपीएल मैचों का आयोजन जयपुर में ही कराना चाहते हैं। कोई यह नहीं चाहता कि राजस्थान के क्रिकेटप्रेमियों को आईपीएल के रोमांच से वंचित होना पड़े। अगर इसका आयोजन आरसीए के बैनर तले ही होना है तो उसका सस्पेंशन हटना भी बहुत जरूरी है। वैसे आरसीए का सस्पेंशन खत्म होने को लेकर बीसीसीआई ने जो छह शर्तें रखी थीं उन पर सभी सहमत हैं।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..