• Home
  • Rajasthan News
  • Khinwsar News
  • गोवां के महेंद्र ने सुसाइड नहीं किया था, अवैध संबंधों के शक पर सगे भाइयों ने ही की थी हत्या
--Advertisement--

गोवां के महेंद्र ने सुसाइड नहीं किया था, अवैध संबंधों के शक पर सगे भाइयों ने ही की थी हत्या

गत माह गोवां कल्ला में हुई महेंद्र की मौत के मामले में उसी के सगे भाईयों को गिरफ्तार किया गया है। हत्या के पीछे छोटे...

Danik Bhaskar | Apr 24, 2018, 05:40 PM IST
गत माह गोवां कल्ला में हुई महेंद्र की मौत के मामले में उसी के सगे भाईयों को गिरफ्तार किया गया है। हत्या के पीछे छोटे भाई के अवैध संबंध को कारण बताया जा रहा है। भावंडा पुलिस ने महेंद्र के भाईयों को गिरफ्तार किया है।

भावंडा पुलिस के अनुसार खेत में मिली अधजली लाश को लेकर पुलिस ने मृतक के भाईयों कानाराम और संजय को गिरफ्तार किया। प्राथमिक पूछताछ में पता चला है कि दोनों आरोपियों ने अपने छोटे भाई को अवैध सम्बन्ध के शक को लेकर हत्या करना बताया है। भावण्डा थानाप्रभारी बलदेवराम ने बताया कि गोवां कल्लां गांव सरहद में एक खेत में गोवां निवासी महेन्द्र ढोली की 26 मार्च 2018 को अधजली लाश मिली थी। वहीं मृतक के शव के पास बाइक में एक बैग में सुसाइड नोट भी मिला था। जिसे भाईयों ने ही लिखा था। उसकी के आधार पर मृतक महेंद्र के पिता सुगनाराम द्वारा भावण्डा पुलिस थाने में मर्ग दर्ज करवाया गया था। जिसके बाद पुलिस ने भी इसे आत्महत्या का मामला ही माना था। इसकी जांच के लिए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक व नागौर वृत्ताधिकारी के नेतृत्व में थानाप्रभारी बलदेवराम, हैड कांस्टेबल बिरमाराम, कांस्टेबल शंकरराम, श्रवणराम, हनुमानराम, सहदेव, श्रीकिशन की टीम गठित कर जांच की गई। जिसमें साइबर एक्सपर्ट श्रवणराम द्वारा घटनास्थल का बीटीएस व कॉल डिटेल का विश्लेषण किया गया।

भास्कर संवाददाता | खींवसर

गत माह गोवां कल्ला में हुई महेंद्र की मौत के मामले में उसी के सगे भाईयों को गिरफ्तार किया गया है। हत्या के पीछे छोटे भाई के अवैध संबंध को कारण बताया जा रहा है। भावंडा पुलिस ने महेंद्र के भाईयों को गिरफ्तार किया है।

भावंडा पुलिस के अनुसार खेत में मिली अधजली लाश को लेकर पुलिस ने मृतक के भाईयों कानाराम और संजय को गिरफ्तार किया। प्राथमिक पूछताछ में पता चला है कि दोनों आरोपियों ने अपने छोटे भाई को अवैध सम्बन्ध के शक को लेकर हत्या करना बताया है। भावण्डा थानाप्रभारी बलदेवराम ने बताया कि गोवां कल्लां गांव सरहद में एक खेत में गोवां निवासी महेन्द्र ढोली की 26 मार्च 2018 को अधजली लाश मिली थी। वहीं मृतक के शव के पास बाइक में एक बैग में सुसाइड नोट भी मिला था। जिसे भाईयों ने ही लिखा था। उसकी के आधार पर मृतक महेंद्र के पिता सुगनाराम द्वारा भावण्डा पुलिस थाने में मर्ग दर्ज करवाया गया था। जिसके बाद पुलिस ने भी इसे आत्महत्या का मामला ही माना था। इसकी जांच के लिए अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक व नागौर वृत्ताधिकारी के नेतृत्व में थानाप्रभारी बलदेवराम, हैड कांस्टेबल बिरमाराम, कांस्टेबल शंकरराम, श्रवणराम, हनुमानराम, सहदेव, श्रीकिशन की टीम गठित कर जांच की गई। जिसमें साइबर एक्सपर्ट श्रवणराम द्वारा घटनास्थल का बीटीएस व कॉल डिटेल का विश्लेषण किया गया।

पुलिस ने कॉल डिटेल खंगाली तो खुल गया राज

बीटीएस व कॉल डिटेल के आधार पर पूरा मामला खुल सका। जिस पर गोवां कल्ला के ही रहने वाले कानाराम व साबड़ा उर्फ संजय पुत्र सुगनाराम ढोली को दस्तयाब किया गया। पुलिस ने सख्ती बरती तो दोनों ही आरोपियों ने अपने भाई की लाठियों से पीट पीट कर हत्या करना स्वीकार कर लिया। पुलिस ने दोनों को हत्या के मामले में गिरफ्तार किया है।