--Advertisement--

दाे दिन तक रंगों के उमंग में डूबा शहर

भास्कर न्यूज| मदनगंज-किशनगढ़ उपखंड दो दिन तक अबीर व गुलाल में सरोबार रहा। होलिका दहन के बाद गुरुवार शाम को पूरा...

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 03:25 AM IST
भास्कर न्यूज| मदनगंज-किशनगढ़

उपखंड दो दिन तक अबीर व गुलाल में सरोबार रहा। होलिका दहन के बाद गुरुवार शाम को पूरा परिसर अबीर व गुलाल से सरोबार रहा। होली का पर्व शुक्रवार को हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। शहर में चारों ओर आज बरज में होली रे रसिया, रंग बरसे, अवध में होली खेले रघुबीरा, कन्हाई जग में रंग रास रसाई, रंग बरसे, आवो हिल मिल खेले होली, फाल्गुन की मस्ती छाई भाई रे गीतों से वातावरण गूंज रहा था। चंग और ढोलक की थाप पर शहरवासियों ने जमकर होली पर्व का आनन्द लिया। शहर के विभिन्न मोहल्ले के लोगों ने समूह बनाकर अबीर व गुलाल से तिलक होली खेली। पूरा उपखंड अबीर व गुलाल से लाल हो गया। शहरवसियों ने गुरुवार गोधुली बेला में सायं 7.41 से 9.00 बजे के बीच होलिका दहन विधि विधान से पूजा अर्चना कर किया। गोधुलि बेला में सायं पौने आठ बजे से राम नौ बजे तक होलिका दहन होता रहा। पुराना शहर में धानमंडी स्थित शिव मंदिर से बोहराजी बादशाह की सवारी धुलंडी के दिन निकाली गई। जिसमें शहरवासियों ने उत्साह पूर्वक भाग लिया। हाेली के दौरान किसी प्रकार की अनहोनी न हो इसे लेकर पुलिस प्रशासन चौकस नजर आया।

होलिका दहन के बाद चढ़ने लगा मस्ती का रंग

होली के पावन पर्व पर शहर के वार्डों में 110 से अधिक स्थानों पर होलिका दहन का आयोजन किया गया। रंगों के त्योहार का युवा वर्ग के साथ बड़े बुजुर्गों ने भी जमकर आनन्द लिया। ढोलक व चंग की थाप पर शहर के लोग नृत्य करते हुए तथा अबीर गुलाल उछालते हुए चल रहे थे। होली के गीतों की चारो ओर धूम रही। डीजे पर बज रहे फिल्मी धुनों पर नों पर जगह जगह युवा वर्ग थिरक रहा था। रात भर लोग होली के गीत गाते रहे और एक गली से दूसरी गली में घूमते रहे। दाधीच समाज ने दाधीच भवन से मुख्य चौराहा तक गैर यात्रा निकाल होली पर्व का आनंद लिया।

देशभक्ति गीतों पर होली

मोदी की चार वर्ष की उपलब्धियों का बखान करते हुए हिंदूवादी संगठनों सहित राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवकों ने घर-घर जाकर देशभक्ति के गीतों पर होली खेली, चारो ओर केसरिया रंग, अबीर व गुलाल उड़ाया जा रहा था। संघ के लक्ष्मीनारायण सोनगरा ने बताया कि होली धमाल का शुभारंभ पुराना शहर में नहर शाखा से शुरु हुआ जो शहर के गणमान्यजनों के घर तक पहुंचा। चारो ओर होली के गीतों से वातावरण गूंज रहा था। स्वयं सेवक देशभक्ति गीत गाते हुए अबीर व गुलाल उड़ाते चल रहे थे।

महिलाओं ने खेली होली

होली पर्व पर नवविवाहित जोड़ों ने भी जमकर होली का आनन्द लिया। कई मोहल्ले में महिलाएं भी समूह में चंग और ढोलक की थाप पर नृत्य करते हुए होली खेली। फाल्गुनी गीतों पर महिलाएं नृत्य करती चल रही थी। नवयुवकों के साथ महिलाओं का समूह भी ढोल की थाप पर नृत्य करती चल रही थी।

रंगों की मस्ती के बाद राम-राम का दौर

शहरवासियों ने सुबह जमकर होली खेली। दोपहर एक बजे बाद राम राम का दौर जारी हुआ जो देर रात्रि तक जारी रहा। शहरवासियों ने अपने अपने सगे संबंधियों, दोस्तों के घर जाकर होली की रामा श्यामा की। इस अवसर पर कई मोहल्लों में ठंडाई सहित सहभोज का आयोजन किया गया। होली के पावन पर्व पर कार्टूनिस्ट जसवंत दारा द्वारा शहर के प्रशासनिक अधिकारियों तथा अन्य गणमान्य व्यक्तियों के लिए कार्टून बना आमजन का मनोरंजन किया करते थे। मगर इस बार परिषद क्षेत्र की स्थिति देखकर कार्टून की व्यथा कविता के माध्यम से व्यक्त की। इसे लोगों ने खूब सराहा। कार्टून न बनाने का दर्द कविता के माध्यम से व्यक्त कर शहर के प्रशासनिक अधिकारियों सहित सभापति, विधायक, शहर की वर्तमान स्थिति पर तंज कसा।

रूपनगढ़ में भी धूम

रूपनगढ़| रंगों का पर्व होली अंचल भर में हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। नगर में जगह-जगह होली खेली गई तथा मुहूर्त अनुसार होलिका दहन विधिवत किया गया। लाल दरवाजे के बाहर मुख्य होली पर जन सैलाब उमड़ा। यहां पर पं. भवानीशंकर दाधीच के सानिध्य में सरपंच भगवानदास लखन, पूर्व सरपंच राकेश टंडन, समाजसेवी शंकर खाती सहित वार्ड सदस्यों ने विधिनुसार पूजनोपरांत होली दहन किया। इसके बाद कस्बे में दर्जनों जगहों पर होली जलाई गई। इस मौके पर लूर गीतों व चंग की थाप के बीच नवीन धान की बालियां सेकी गई। होलिका दहन के बाद सामूहिक ढूंढ का आयोजन किया गया। इसके बाद फूले, लड्ïडू बांटे गए। शुक्रवार को सुबह शुरू हुआ राम-राम व शुभकामनाओं के आदान प्रदान का सिलसिला देर शाम तक चला। फाल्गुन की मस्ती में नगर में डूबे युवाओं व बुजुर्गों ने जमकर होली खेली। होली की मस्ती में विदेशी पर्यटक भी पीछे नहीं रहे। इनको भी रंग व गुलाल खूब भाया। क्षेत्र के गांवों भदूण, सिनोदिया, नोसल, भिलावट, कोटड़ी, जाजोता, नवां, निटूटी, रघुनाथपुरा, सुरसुरा, त्योद, जाखोलाई, सलेमाबाद, करकेड़ी में शांतिपूर्वक दो दिवसीय होली पर्व संपन्न हुआ। तहसीलदार रामकुमार टाडा, थाना प्रभारी दिनेश चौधरी मय जाब्ता पूरी तरह गश्त करते रहे।

गूंजी चंग की थाप

हरमाड़ा तिलोनिया/ नलू | हरमाड़ा अंचल में भी लोगों ने जमकर होली का धमाल मचाया। गांवों में होलिका दहन के बाद रात्रि से ही होली खेलने का कार्यक्रम शुरू हो गया। बुहारू, हरमाड़ा, तिलोनिया, नया गांव, रामपुरा, नलू, छोटा नरैना तथा अन्य गांव के लोगों ने चंग की थाप पर अबीर व गुलाल से होली खेली। उन्होंने घर-घर जाकर होली के गीत गाए तथा नृत्य का आनंद लिया। तिलोनिया स्थित बेयरफुट कालेज में विदेशी मेहमानों ने भी जमकर होली का लुत्फ उठाया। उन्होंने एक-दूसरे पर रंग बरसाए तथा अबीर व गुलाल एक दूसरे को लगाया। हरमाड़ा अंचल में भी होली का पर्व धूमधाम से मनाया गया। बांदरसिंदरी, पाटन व नलू क्षेत्र में भी होली का पर्व जमकर मनाया गया। लोगों ने जमकर अबीर व गुलाल से होली खेली।