--Advertisement--

सामाजिक समरसता व मानवता के पक्षधर थे संत रविदास

मांगलियावास मंडल के ग्राम धर्मोकेड़ा में बुधवार को अनुसूचित जाति मोर्चा द्वारा संत रविदास की जयंती धूमधाम से...

Danik Bhaskar | Feb 01, 2018, 01:30 PM IST
मांगलियावास मंडल के ग्राम धर्मोकेड़ा में बुधवार को अनुसूचित जाति मोर्चा द्वारा संत रविदास की जयंती धूमधाम से मनाई गई। कार्यक्रम के आरंभ पर मंडल अध्यक्ष राकेश खटनावलिया, अनुसूचित जाति मोर्चा के जिलाध्यक्ष मुकेश गोयर, जिला उपाध्यक्ष अमरचंद डिडवानिया व देवेंद्र जटिया ने संत रविदास व बाबा साहेब अंबेडकर के चित्र पर माल्यार्पण कर दीप प्रज्ज्वलित किया।

कार्यक्रम को भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा के देहात जिलाध्यक्ष मुकेश गोयर ने संबोधित करते हुए कहा कि संत रविदास दलित वर्ग में पैदा होकर अपने आध्यात्मिक कर्म के अनुसार भक्ति, ज्ञान और वैराग्य का प्रकाश फैलाया। समाज में फैले अनेक आडंबर कुरीतियों को दूर किया। भक्त रैदास ने समाज के दीन दुखियों के दुख दूर कर अंधकार से प्रकाश की ओर बढ़ाया। वे उत्तर भारत में भक्ति आंदोलन के प्रणेता थे। आध्यात्मिक रूप में पूरे देश में उन्हें पूजा जाता है। पूरी दुनिया को उन्होंने भाईचारा, शांति व प्रेम का पाठ पढ़ाया। अमरचंद डिडवानिया ने कहा कि हमें समाज में फैली कुरीतियों को मिटाने के लिए संगठित होना जरूरी है। कार्यक्रम में मंडल अध्यक्ष खटनावलिया, जिला मंत्री देवेंद्र जटिया, मदन रेगर, पुखराज खटनावलिया, किशन लाल, हरिलाल रेगर, सागर खटनावलिया, मुकेश रेगर, लक्ष्मी देवी, ग्यारसी देवी, माया देवी, कंचन देवी, रेणु कुमारी, सीमा देवी, गुलाबी देवी आदि मौजूद थे।

नसीराबाद। स्थानीय रेगरान विकास समिति गाड़ी मोहल्ला की ओर से बुधवार को गुरु रविदास की जयंती श्रद्धापूर्वक मनाई गई। समिति के भगवान दास दपख्यावर के अनुसार गाड़ी मोहल्ला स्थित रामदेव मंदिर पर आयोजित जयंती कार्यक्रम में समाज के सदस्यों ने बड़ी संख्या में भाग लिया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए वक्ताओं ने रविदासजी की जीवनी पर प्रकाश डालते हुए कहा कि गुरु रविदासजी के जीवन से हमें सत्य, त्याग आदि की प्रेरणा लेनी चाहिए, क्योंकि उन्होंने इन्हीं गुणों के कारण समाज में अपनी अमिट छाप छोड़ी थी। उनके बताए अनुसार स्वार्थ की भावना का त्याग कर मानव कल्याण की भावना से कार्य कर समाज के विकास में सहयोग करना चाहिए। कार्यक्रम में बंशीलाल कराड़िया, सतीश कराड़िया, लखन कराड़िया, मुकेश, रामदेव कराड़िया, जगदीश कराड़िया, सुरेश कराड़िया, लालचंद कराड़िया, धनराज, नरेश खोरवाल, प्रभुलाल खोरवाल, जोहरसिंह खोरवाल, जगदीश जाटोलिया, प्रेम बोहरा, दिनेश बोहरा, ओमप्रकाश मौर्य, प्रभुलाल दपख्यावर, पूरणमल दपख्यावर, सुखलाल, कैलाशचंद, फूलचंद दपख्यावर, बंशीलाल, नारायण प्रसाद खोरवाल, मनोज खोरवाल आदि उपस्थित थे।

जोतायां। जोतायां सहित क्षेत्र में संत रविदास जयंती हर्षोल्लास के साथ मनाई गई। रामगोपाल बैरवा ने बताया कि संत रविदास जयंती पर जोतायां, टांटोटी, नागोला आदि में बैरवा एवं रेगर समाज ने अनेक कार्यक्रम आयोजित हुए। कार्यक्रम में संत शिरोमणी रविदास के चित्र पर पुष्प माला चढ़ाई गई तथा समाज के लोगों ने उनके जीवन पर प्रकाश डाला। समाजसेवी रूपचन्द बैरवा ने संत रविदास ने समाज उत्थान के लिए किए कार्यों की जानकारी दी। इसी प्रकार बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर द्वारा दलितों में फैली विभिन्न कुरीतियों को मिटाने तथा बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने सहित बाल विवाह रोकने पर बल दिया गया। कार्यक्रम के अवसर पर मोहनलाल, राजीव कुमार, महावीर प्रसाद सोहनलाल, गुलाबचन्द मुनोत, लादूराम बैरवा, कन्हैयालाल अनेक अनेक लोग मौजूद थे।

विभिन्न आयोजनों में शामिल हुए समाज के लोग

जेठाना. धर्मोकेड़ा मंे संत रविदास जयंती मनाते लोग। श्रीनगर. रक्तदाताओं को सम्मानित करते मुख्य अतिथि।

जोतायां. संत रविदास की जयंती पर श्रद्धांजलि देते लोग।

श्रीनगर में संत रविदास जयंती पर रक्तदान

रेगर जनकल्याण समिति श्रीनगर की ओर से बुधवार को संत रविदास जयंती मनाई गई। समिति के सदस्यों ने किशनगढ़ में आयोजित रक्तदान शिविर में पहुंचकर रक्तदान किया। इस दौरान रेगर प्रगतिशील संस्थान किशनगढ़ के पदाधिकारियों की ओर से सदस्यों काे शील्ड एवं प्रशस्ति-पत्र देकर सम्मान किया गया। रक्तदान करने वालों में राजेश कुमार खमोकरियां, गवरीनन्दन देतवाल, विजय जाटोलिया, रामधन देतवाल, नन्दकिशोर देतवाल, कमलकिशोर हिनुनियां, गंगाबिशन हिनुनियां, भारत हिनुनियां, अमृत उदय, लक्ष्मण लाल फुलवारियां, दीपक उदय शामिल रहे।