Hindi News »Rajasthan »Kishangarh» बाल विवाह राेकने के लिए अब टोल फ्री नंबर 15100 पर दें सूचना, नाम रहेगा गोपनीय

बाल विवाह राेकने के लिए अब टोल फ्री नंबर 15100 पर दें सूचना, नाम रहेगा गोपनीय

भास्कर न्यूज | मदनगंज-किशनगढ़ बाल विवाह जैसी कुप्रथा की रोकथाम को लेकर किए जा रहे प्रयासों के बीच टोल फ्री...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 18, 2018, 04:30 AM IST

बाल विवाह राेकने के लिए अब टोल फ्री नंबर 15100 पर दें सूचना, नाम रहेगा गोपनीय
भास्कर न्यूज | मदनगंज-किशनगढ़

बाल विवाह जैसी कुप्रथा की रोकथाम को लेकर किए जा रहे प्रयासों के बीच टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर 15100 जारी किया है। यह टोल फ्री नंबर होगा। इस नंबर पर कोई भी व्यक्ति बाल विवाह से जुड़ी सूचना दे सकता है और बाल विवाह जैसा अपराध समाज में होने से रुकवा सकता है। इसके अलावा जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के कार्यालय के टेलीफोन नंबर पर भी सूचना की जा सकती है।

खास बात ये रहेगी कि उस व्यक्ति का नाम गोपनीय रखा जाएगा। बाल विवाह रोकने के लिए कंट्रोल रूम स्थापित किए जा रहे हैं, जो 24 घंटे काम करते हैं। इन सभी पर कोई भी व्यक्ति बाल विवाह होने संबंधी सूचना दे सकता है। बाल विवाह की सूचना प्रशासन को मिलने के बाद प्रशासनिक टीम मौके पर पहुंचती है।

समाज की एकजुटता और सहयोग से ही कुप्रथा को रोक सकते है : अधिकारियाें ने बताया कि समाज की एकजुटता और सहयोग से ही इस कुप्रथा को रोका जा सकता है। बाल विवाह बच्चों के अधिकारों का एक निर्मम उल्लंघन है। इससे बच्चों का शैक्षणिक, सामाजिक व आर्थिक विकास रुक जाता है। इसके अलावा इसके कई दुष्परिणाम है। इसलिए टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर शुरू किया है। इस पर सूचना कोई भी दे सकता है। नाम भी गोपनीय रहेगा। बाल विवाह रुकेंगे तो समाज की तरक्की संभव है।

यह है जुर्माने का प्रावधान |दो साल तक का कारावास, एक लाख रुपए तक जुर्माना अथवा दोनों। इसके अलावा बाल विवाह करवाने वाले पंडित, मौलवी, हलवाई, बैंडवाला, माता-पिता आदि भी दोषी।

कहां करें शिकायत

इलाके के प्रथम श्रेणी के न्यायिक मजिस्ट्रेट, स्थानीय थाना, जिला कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक और प्रशासनिक अधिकारी को बाल विवाह की सूचना दी जा सकती है। इसके बाद सक्षम अधिकारी को सूचना प्राप्त होते ही कार्रवाई होती है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kishangarh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×