• Hindi News
  • Rajasthan
  • Kishangarh
  • कर्ज में डूबे साले ने दोस्तों के साथ मिलकर की जीजा की हत्या, तीन आरोपी गिरफ्तार

कर्ज में डूबे साले ने दोस्तों के साथ मिलकर की जीजा की हत्या, तीन आरोपी गिरफ्तार / कर्ज में डूबे साले ने दोस्तों के साथ मिलकर की जीजा की हत्या, तीन आरोपी गिरफ्तार

Kishangarh News - भास्कर न्यूज | मदनगंज-किशनगढ़ नसीराबाद हाइवे पर शनिवार शाम को उदयपुर कलां के पास हत्या कर चलती कार से रामनिवास...

Bhaskar News Network

Jun 11, 2018, 04:35 AM IST
कर्ज में डूबे साले ने दोस्तों के साथ मिलकर की जीजा की हत्या, तीन आरोपी गिरफ्तार
भास्कर न्यूज | मदनगंज-किशनगढ़

नसीराबाद हाइवे पर शनिवार शाम को उदयपुर कलां के पास हत्या कर चलती कार से रामनिवास बलाई का शव फेंकने के मामले में पुलिस ने 24 घंटे के भीतर ही हत्यारों को दबोच लिया। हत्या करने वाला मृतक रामनिवास का साला निकला। उसने अपने दोस्तों से साथ षड्यंत्र रचकर हत्याकांड को अंजाम दिया। इसका मुख्य कारण साले का कर्ज में डूबा होना था। साले ने जीजा को विश्वास में लेकर दोस्तों को कार में बैठाया और साफी से गला दबोचकर हत्या कर दी। शव को हाइवे पर फेंक गए और फरार हो गए। पुलिस ने प्रकरण में आरोपी साला सहित उसके दो साथियों को गिरफ्तार कर लिया। जबकि चौथा आरोपी फरार चल रहा है। पुलिस ने कार को भी जब्त कर लिया।

किशनगढ़ थाना पुलिस के अनुसार शनिवार शाम को नसीराबाद हाइवे पर चलती कार एसयूवी एक युवक का शव फेंककर कार सवार बदमाश फरार हो गए थे। मृतक की पहचान बांदरसिंदरी निवासी रामनिवास बलाई (35) पुत्र जगदीश बलाई के रूप में हुई। मृतक के परिजनों ने रामनिवास के शुक्रवार को बिजयनगर निवासी अपने साले किशन भांभी के पास जाने की बात कही थी। पुलिस ने किशन के बारे में जानकारी निकाली तो सुराग मिलता चला गया।

जीजा के नाम खरीदी महंगी कार, किश्तें भी नहीं चुका पाया

पुलिस को जानकारी मिली कि किशन को महंगी कार खरीदने का शौक था। उसने जीजा रामनिवास के नाम 22-23 लाख की एसयूवी कार किश्तों में खरीदी थी। किश्तें ड्यू होने से कर्ज बढ़ता चला गया। इस दौरान किशन ने 16.5 लाख की पॉलिसी करवा ली। किशन को ख्याल आया कि उसके जीजा के नाम कार है और उसकी मृत्यु पर किश्त भी नहीं जमा करानी पड़ेगी और 16.5 लाख की पॉलिसी के पैसे भी मिल जाएंगे।

दोस्तों को दिया लालच, बनाया प्लान : किशन ने अपने जीजा की हत्या के लिए दोस्त सियालिया, भिनाय निवासी चमन (25) पुत्र छगनलाल जाट, कालू (22) पुत्र महावीर जाट व एक अन्य युवक को साथ लिया। किशन ने साथियों को पैसे देने का लालच दिया, उन्हें कार दिलाने के सपने दिखाए। इस पर साले और उसके साथियों ने हत्या की योजना बनाई।

बांदनवाड़ा के पास लिफ्ट लेकर घोंटा गला : शनिवार दोपहर को जीजा और साला कार में बिजयनगर से बांदरसिंदरी रवाना हुए। कार किशन चला रहा था और रामनिवास आगे सीट पर बैठा था। बांदनवाड़ा व नसीराबाद के बीच चमन, कालू जाट और उसके एक अन्य साथी सड़क किनारे खड़े होकर लिफ्ट मांगने लगे। योजना के अनुसार किशन कार चला रहा था और लिफ्ट देने के बहाने किशन ने कार रोक ली। तीनों दोस्तोें को पीछे कार में बैठाया। कार को नसीराबाद कोटा रोड पर ले गए। इसी बीच पीछे बैठे चमन और उसके साथियों ने साफी से रामनिवास का गला घोंट दिया। उसके बाद नशे में धुत होने के बाद आरोपियों ने उदयपुर कलां के पास चलती कार से शव को फेंक दिया। ताकि दुर्घटना लगे।

हत्या के बाद गांव भाग गए, जंगल में खड़ी की कार : हत्या के बाद आरोपी अपने-अपने गांव भाग छूटे। किशन ने अपने साथियों को कहा कि कार को गायब कर दो। इस पर साथियों ने कार को सियालिया गांव के जंगलों में खड़ी कर दी। साला किशन चमन की बाइक लेकर बिजयनगर आ गया। पुलिस ने आरोपियों को उनके-उनके क्षेत्र से हिरासत में लेकर पूछताछ तो आरोपियों ने हत्याकांड कबूल लिया। पुलिस ने साला किशन भांभी (30), चमन (25) पुत्र छगनलाल जाट, कालू (22) पुत्र महावीर जाट को गिरफ्तार कर लिया। प्रकरण में चौथा आरोपी फरार है जिसका नाम पुलिस ने गुप्त रखा है।

पुलिस की गिरफ्त में हत्या के आरोपी।

X
कर्ज में डूबे साले ने दोस्तों के साथ मिलकर की जीजा की हत्या, तीन आरोपी गिरफ्तार
COMMENT