किशनगढ़

--Advertisement--

टमाटर, भिंडी और प्याज अब पूरे 12 महीने तक मिलेंगे ताजा

खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालय की फ्लैगशिप योजना में विकसित प्रदेश के एकमात्र ग्रीन टेक मेगा फूड पार्क रूपनगढ़ में...

Dainik Bhaskar

Jun 20, 2018, 04:45 AM IST
टमाटर, भिंडी और प्याज अब पूरे 12 महीने तक मिलेंगे ताजा
खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालय की फ्लैगशिप योजना में विकसित प्रदेश के एकमात्र ग्रीन टेक मेगा फूड पार्क रूपनगढ़ में टमाटर, भिंडी व प्याज को फ्रोजन करने में सफलता हासिल की। पार्क के कार्यकारी निदेशक अजय गुप्ता ने बताया कि मटर की तरह अब टमाटर को भी फ्रोजन किया जाना संभव है। प्याज को काटकर और साबुत दोनों को फ्रोजन किया है और भिंडी को भी फ्रोजन किया गया है। इस तरह देश में पहली बार टमाटर को फ्रोजन करने में सफलता मिली है। इससे किसानों को पूरी कीमत मिलेगी और टमाटर सड़कों पर फेंकने की नौबत नहीं आएगी। गुप्ता ने बताया कि पार्क की 65% भूमि का बेचान कर दिया है। अब केवल 35% भूमि पर 18 भूखंड शेष है। परंतु वे छोटे साइज के हैं। बड़ी यूनिट निर्माणाधीन है जो आगामी 2 वर्ष में पूरी बनकर तैयार हो जाएगी। उसके बाद पार्क अपनी पूर्ण क्षमता पर कार्य करेगा।

फूड पार्क में टमाटर भिंडी प्याज को फ्रोजन करने में सफलता हासिल की, बिना सीजन उचित दाम पर मिलेंगे टमाटर, भिंडी, प्याज

क्या है फ्रीजिंग

फलों की सीजन के समय उन्हें इस तरह फ्रीजिंग करना की सीजन के समय के बाद खाते समय वह फ्रेश रहे। इस दौरान फलों को मोइश्चर बर्फ में तब्दील हो जाता है। इससे बेक्टीरिया नहीं बन सकते। क्रायोेजनिक फ्रिजिंग जल्दी फ्रिजिंग तकनीक है। पार्क में कोल्ड चेन व आईक्यूएफ सुविधा उपलब्ध है। जिनमें अब तक मटर फ्रिज किए जा रहे थे। अब टमाटर प्याज व भिंडी भी किए जा सकेंगे।

क्या है संपदा

भारत सरकार के फूड प्रोसेसिंग इंडस्ट्री मंत्रालय की ओर से स्कीम फॉर एग्रो मेरिन एंड डेवलपमेंट ऑफ एग्रो प्रोसेसिंग ही संपदा है। इस याेजना के तहत एग्रो फूड प्रोसेसिंग इकाइयों को 35% तक पूंजी अनुदान दिया जाता है। प्रोजेक्ट लागत का 35% और 5 करोड़ जो भी कम हो वह भारत सरकार की ओर से नगद अनुदान दिया जाता है। यह फूड पार्क भी इस संपदा योजना के तहत ही विकसित किया गया है।

आधारभूत सुविधाएं

परियोजना का डिजाइन प्रख्यात औद्योगिक सलाहकारों द्वारा किया गया है। जिससे काफी खुलापन भी है और जगह का समुचित उपयोग सुनिश्चित किया गया है। फूड पार्क के अंदर सड़क नेटवर्क पद मार्ग सहित विकसित किया गया है। साथ ही पानी के प्रवाह की व्यवस्था ऐसी विकसित की गई है ताकि बारिश में भी सड़क पर पानी नजर ना आए। खाद्य प्रसंस्करण प्रयोजनाओं में पानी अहम घटक होता है और बेहतर गुणवत्ता का पर्याप्त पानी सभी इकायों को हर वक्त मिले यह सुनिश्चित किया गया। इसके अलावा वाटर हारवेस्टिंग ढांचा भी विकसित किया गया है। 2 मेगा वाट का कैप्टिव पावर संयंत्र है जिस कारण पावर कट शरीर की स्थिति कभी नहीं होगी। 33 केवी का सबस्टेशन भी विकसित किया गया है। वाटर ट्रीटमेंट सुविधा विकसित की गई है। पार्किंग के लिए पर्याप्त स्थान है। फायर फाइटिंग सुविधा विकसित करा दी गई है।

प्रदेश सरकार की ओर से यह सुविधाएं

बिजली बिल भुगतान पर 50% की छूट है। मंडी फीस भुगतान पर 50% की छूट है। भूमि कर के भुगतान पर 50% की छूट है। भू परिवर्तन के भुगतान पर 50% की छूट है। 5% ब्याज पर सब्सिडी है। भूखंड खरीद पर राज्य सरकार की ओर से 50 प्रतिशत स्टांप ड्यूटी माफ है। 100 करोड़ रुपए के विनियोजन या 250 लोगों को रोजगार प्रदान करने की स्थिति पर विशेष पैकेज की सुविधा है। प्रोसेसिंग एंड एग्री मार्केटिंग प्रमोशन पॉलिसी 2015 के तहत अलग से विशेष छूट उपलब्ध है।

टमाटर, भिंडी और प्याज अब पूरे 12 महीने तक मिलेंगे ताजा
टमाटर, भिंडी और प्याज अब पूरे 12 महीने तक मिलेंगे ताजा
X
टमाटर, भिंडी और प्याज अब पूरे 12 महीने तक मिलेंगे ताजा
टमाटर, भिंडी और प्याज अब पूरे 12 महीने तक मिलेंगे ताजा
टमाटर, भिंडी और प्याज अब पूरे 12 महीने तक मिलेंगे ताजा
Click to listen..