किशनगढ़

--Advertisement--

मोदी ने 19 जिलों-शहरों का नाम लेकर किया राजस्थान कनेक्ट

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भाषण के दौरान पूरे राजस्थान को लुभाने के लिए चुनावी मोड में दिखे। मोदी ने राजस्थान की...

Dainik Bhaskar

Jul 08, 2018, 04:45 AM IST
मोदी ने 19 जिलों-शहरों का नाम लेकर किया राजस्थान कनेक्ट
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भाषण के दौरान पूरे राजस्थान को लुभाने के लिए चुनावी मोड में दिखे। मोदी ने राजस्थान की अहमियत को ऐसे समझाया जैसे वे राजस्थान के भरोसे ही न्यू इंडिया बनाने का सपना देख रहे हैं। 33 मिनट के भाषण में प्रदेश के 33 जिलों में से 19 जिलों और शहरों का नाम लेकर उन्होंने खुद को राजस्थान से ऐसे कनेक्ट किया, जैसे वे खुद राजस्थान के किशनगढ़-सुजानगढ़ जैसे कस्बों तक को बखूबी जानते हैं। उन्होंने यौद्धाओं से लेकर योजनाओं की फेहरिस्त इस तरह रखी कि जैसे उनका पूरा फोकस राजस्थान पर है। महाराणा प्रताप के साहस, जाट शासक महाराजा सूरजमल के शौर्य, भामाशाह के समर्पण, पन्ना धाय के त्याग, मीरा की भक्ति, हाड़ी रानी के बलिदान, विश्नोई समाज की अमृता देवी के आत्मोत्सर्ग को याद कर एक दर्जन समाजों को भावनिक स्तर पर साधने का प्रयास किया। अगले 15 अगस्त तक 1500 गांवों को सभी सुविधाओं से जोड़ने का उद्घोष करते हुए कहा हमने राजस्थान से कई योजनाएं शुरू की है और आगे भी कई होंगी। अंत में वे मार्च 2019 में राजस्थान गठन के 70 साल पूरे होने की याद दिला कर चुनावी शंखनाद कर गए। बोले.. भूल मत जाना, न्यू इंडिया का निर्माण नए राजस्थान के बगैर संभव नहीं है। आपके सामने राजस्थान निर्माण का सुनहरा मौका है। शेखावाटी से जुड़े जयपुर की सभा होने के कारण जाते जाते कह गए परम वीर चक्र विजेता पीरू सिंह शेखावत की शहादत की 70 वीं वर्षगांठ भी कुछ महीने बाद है... उस महान बलिदानी को मेरा शत शत नमन।

सीएम का वीवीआईपी कल्चर खत्म करने की ओर अगला कदम

मोदी ने लाल-नीली बत्ती उतारी, राजे ने मंत्री-सांसद-विधायकों को भीड़ के साथ बैठाया

जयपुर | मोदी ने 14 महीने पहले 1 मई को राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री, मंत्री एवं अफसरों की गाड़ियों से लाल-नीली बत्ती का अधिकार छीन कर देश में वीवीआईपी कल्चर खत्म करने का काम किया। अब, मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने इससे आगे एक और कदम बढ़ाया। मंच को छोड़कर पांडाल में मंत्री, विधायक या फिर किसी राजनेता के लिए कोई कुर्सी नहीं लगने दी। मंत्री, सांसद, विधायक एवं जनप्रतिनिधि भी लाभार्थियों के साथ पांडाल में नीचे कारपेट पर बैठे। प्रदेश भर से आए लोगों को सीएम ने संदेश देने की कोशिश की कि यहां न कोई वीवीआईपी है या न कोई मंत्री, न विधायक या सांसद। सभी लोग समान है। यह अलग बात है कि आने वाले दिनों में यह कल्चर कितना कायम रह पाएगा।

प्रधानमंत्री ने गरीब के दर्द को समझा-मुख्यमंत्री : मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कहा कि पीएम ने गरीब के दर्द को समझा और जन-धन योजना एवं मोबाइल के माध्यम से यह सुनिश्चित किया कि लाभार्थियों के खाते तक पूरा पैसा बिना किसी लीकेज के पहुंचे। मुख्यमंत्री ने कहा कि इतने अधिक लाभार्थियों से देश के प्रधानमंत्री सीधे रूबरू हो रहे हों ऐसा संवाद पहली बार हुआ है। सीएम ने प्रधानमंत्री आवास योजना, राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम, राजश्री, उज्ज्वला, पालनहार, भामाशाह स्वास्थ्य बीमा, प्रधानमंत्री मुद्रा, कौशल विकास, स्कूटी-साइकिल योजना, श्रमिक कल्याण, भामाशाह, मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन तथा किसानों कल्याण की योजनाओं के लाभार्थियों से प्रधानमंत्री को रूबरू कराया।

इन योजनाओं की शुरूआत राजस्थान से

मोदी ने कहा हमने तीन साल पहले कृषि सॉयल हैल्थ कार्ड योजना की शुरूआत राजस्थान के सूरतगढ़ से की। अब तक राजस्थान में 90 लाख सॉयल हैल्थ कार्ड दिए जा चुके। कृषि फसलों के समर्थन मूल्य को डेढ़ गुणा करने की शुरूआत के बाद भी मैंने पहली सार्वजनिक सभा राजस्थान में की और इसकी घोषणा की। झूंझुनू में पिछली बार आया तो राष्ट्रीय पोषाहार मिशन जैसी महत्वाकांक्षी योजना शुरू की।

5 केंद्रीय मंत्री, किसी का भाषण नहीं हो सका : जनसंवाद कार्यक्रम में मंच पर पीएम एवं सीएम के साथ राज्यपाल कल्याण सिंह, विधानसभा अध्यक्ष कैलाश मेघवाल, केंद्रीय मंत्री कर्नल राज्यवर्द्धन सिंह राठौड़, गजेंद्र सिंह शेखावत, अर्जुनराम मेघवाल, पीपी चौधरी एवं सीआर चौधरी, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदनलाल सैनी और गृह मंत्री गुलाब चंद कटारिया को जगह मिली, लेकिन पीएम एवं सीएम के साथ सिर्फ कटारिया का भाषण ही हुआ। कटारिया की जुबान फिसल गई और उज्जवला योजना में प्रदेश के लाभार्थियों की संख्या 23 लाख की जगह 23 करोड़ बोल गए।

राज्य सरकार की योजनाओं का विशेष उल्लेख और तारीफ : मोदी ने राज्य सरकार की मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन योजना जैसी पांच योजनाओं की तारीफ की। उन्होंने कहा कि प्रदेश में ढाई करोड़ जनधन खाते खुले। स्वच्छ भारत मिशन में 80 लाख शौचालय बनाए गए। 70 लाख को सुरक्षा बीमा योजना का कवच मिला। मुद्रा योजना में 44 लाख से अधिक उद्यमियों को बिना गारंटी कर्ज मिला।

2100 करोड़ की 13 योजनाओं की शुरुआत में धाराप्रवाह 15 शहरों से कनेक्ट

मोदी ने मंच पर सबसे पहले सीवर-पानी, सड़क, एलिवेटेड रोड आदि की 13 योजनाओं के बटन दबाकर शिलान्यास के बाद भाषण के दौरान धाराप्रवाह 15 शहरों उदयपुर, अजमेर, कोटा, धौलपुर, नागौर, अलवर, जोधपुर, झालावाड़, चित्तौडगढ, किशनगढ़, सुजानगढ़, बीकानेर, भीलवाड़ा, माउंट आबू, ब्यावर के नाम लेकर उपस्थित जनसमूह को तालियों की गूंज के साथ जोश से भर दिया।

कहा- यहां से कई योजनाएं शुरू कीं और भी कई होंगी

बिना विकास अपनी और सीएम की पीठ थपथपा गए पीएम : पायलट

जयपुर | कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट ने सरकारी आयोजन को प्रदेश भाजपा की ओर से राजनीतिक मंच के रूप में इस्तेमाल करने की कड़े शब्दों में निंदा की। पायलट ने कहा कि लाभार्थियों से संवाद के नाम पर आयोजित सरकारी कार्यक्रम में प्रदेश भाजपा संगठन की हर मोर्चे पर सक्रियता खुद इस बात का सूचक है कि सत्ताधारी पार्टी रकारी पैसे का दुरुपयोग कर जनता की गाढ़ी कमाई को पानी की तरह बहा रही है। ताकि भाजपा के खोये आधार को कुछ संबल मिल सके। एक बार फिर प्रदेश की जनता को प्रधानमंत्री ने कोई सौगात नहीं दी, जिससे जनता निराश है। उधर, पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कार्यक्रम को पूरी तरह फ्लॉप बताया। कहा कि प्रदेशवासी फिर अपने आप को ठगा हुआ महसूस कर रहे हैं।

X
मोदी ने 19 जिलों-शहरों का नाम लेकर किया राजस्थान कनेक्ट
Click to listen..