• Hindi News
  • Rajasthan
  • Kishangarh
  • कॉलेजों में सन 2015 के बाद तहसीलदार के हस्ताक्षर से बना जाति प्रमाण अमान्य
--Advertisement--

कॉलेजों में सन 2015 के बाद तहसीलदार के हस्ताक्षर से बना जाति प्रमाण अमान्य

Dainik Bhaskar

Jun 15, 2018, 04:45 AM IST

Kishangarh News - मदनगंज-किशनगढ़| काॅलेजों में प्रथम वर्ष में प्रवेश लेने के लिए आरक्षित वर्ग के विद्यार्थियों के लिए 10 अक्टूबर 2015 के...

कॉलेजों में सन 2015 के बाद तहसीलदार के हस्ताक्षर से बना जाति प्रमाण अमान्य
मदनगंज-किशनगढ़| काॅलेजों में प्रथम वर्ष में प्रवेश लेने के लिए आरक्षित वर्ग के विद्यार्थियों के लिए 10 अक्टूबर 2015 के बाद तहसीलदार द्वारा बनाया गया जाति प्रमाण पत्र मान्य नहीं होगा। यह जाति प्रमाण पत्र तभी मान्य होगा जब ये निर्धारित तिथि से पहले का बना हो। नए फैसले के अनुसार अब नया जाति प्रमाण पत्र बनाने का अधिकार एसडीएम के पास है। इस कारण कॉलेजों में एसडीएम का बनाया जाति प्रमाणपत्र ही मान्य होगा। इसके अलावा विशेष परिस्थितियों में जिला कलेक्टर द्वारा अधिकृत एसीएम के बनाए गए जाति प्रमाण-पत्र भी मान्य होंगे। राजकीय काॅलेज के प्राचार्य डाॅ. सहदेवदान बारेठ ने बताया कि सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग से जारी आदेश की प्रति कॉलेज आयुक्तालय से मिल गई है।

X
कॉलेजों में सन 2015 के बाद तहसीलदार के हस्ताक्षर से बना जाति प्रमाण अमान्य
Astrology

Recommended

Click to listen..