--Advertisement--

चार घंटे की परीक्षा के लिए 10 घंटे इंटरनेट बंद, शाम 6 बजे शुरू हुआ

भास्कर न्यूज | मदनगंज-किशनगढ़ पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा को नकल रहित कराने के लिए पहली बार किसी परीक्षा के...

Dainik Bhaskar

Jul 15, 2018, 04:50 AM IST
चार घंटे की परीक्षा के लिए 10 घंटे इंटरनेट बंद, शाम 6 बजे शुरू हुआ
भास्कर न्यूज | मदनगंज-किशनगढ़

पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा को नकल रहित कराने के लिए पहली बार किसी परीक्षा के दौरान प्रदेश भर में इंटरनेट बंद रखा गया। शनिवार को यह परीक्षा दो पारियों में सुबह 10 से 12 और दोपहर 3 से 5 बजे तक आयोजित हुई। ऐसे में सुबह 8 बजे से शाम 5 बजे तक इंटरनेट सेवाओं को बंद रखा गया। इंटरनेट बंद रहने से आम लोगों के साथ, व्यापारियों, विदेशी पर्यटकों और फिलहाल कॉलेजों में एडमिशन के लिए ऑनलाइन फॉर्म भरने वालों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। शाम 6 बजे इंटरनेट शुरू होने पर लोगों ने राहत की सांस ली।

कांस्टेबल भर्ती परीक्षा के चलते व्हाट्सएप, फेसबुक के साथ दिन की शुरुआत करने वाले लोगों के लिए दिन बोरिंग सा बीता। उन्हें दिन अवकाश जैसा लगा। खासकर युवा ठाले बैठे नजर आए। हालांकि बीएसएनएल सहित अन्य कंपनियों के ब्रॉड बैंक कनेक्शन पर इंटरनेट फेसिलिटी चालू थी। लेकिन डोंगल, डाटा कार्ड और मोबाइल पर इंटरनेट सेवा बंद रही। प्रशासन ने नकल रहित परीक्षा के लिए सभी सेंटरों पर जैमर के साथ सीसीटीवी कैमरे भी लगाए हैं। छात्रों का प्रवेश थंब इंप्रेशन से ही दिया। इतना सब करने के बाद भी इंटरनेट बंद करने पर विशेषज्ञों ने सवाल खड़े किए हैं। प्रशासन का कहना है कि इंटरनेट इसलिए बंद किया जा रहा है क्योंकि नकल करने वाला इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस अंदर ले जा सकता है। लेकिन एक्सपर्ट्स के अनुसार जैमर से ये सभी डिवाइस निष्क्रिय किए जा सकते हैं। शाम 5 बजे इंटरनेट शुरू होना था लेकिन 6 बजे शुरू हुआ। यानि एक घंटे बाद इंटरनेट चालू हुआ। लोग शाम पांच बजने का इंतजार कर रहे थे। लेकिन देरी से इंटरनेट चालू होने पर लोगों ने रोष जताया।

आज भी होगी परीक्षा, सुबह 8 से शाम 5 बजे तक बंद रहेगा इंटरनेट

पुलिस भर्ती परीक्षा के लिए शहर में 5 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। शहर में आरके पाटनी राजकीय कॉलेज, पुलिस ट्रेनिंग स्कूल, केडी जैन स्कूल, अग्रवाल स्कूल तथा अग्रवाल कॉलेज में परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। जिनमें शनिवार को पहली पारी में 2600 और दूसरी पारी में 2600 अभ्यर्थियों को परीक्षा देनी थी। दोनों ही पारियों में कुल 4700 अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी। इसी तरह रविवार को सुबह 10 बजे से 12 बजे तक और दोपहर में 3 बजे से 5 बजे तक परीक्षा का आयोजन किया जाएगा। पहली पारी में 2600 और दूसरी पारी में भी 2600 परीक्षार्थी परीक्षा देंगे।

सामान, मोबाइल और पर्स रखने के नाम पर दुकानदारों ने की जमकर कमाई

परीक्षा केंद्रों पर मोबाइल, बेल्ट, पूरी बाहों की शर्ट, घड़ी, जूते, माैजे सहित अन्य वस्तुएं वर्जित थी। ऐसे में अभ्यर्थियों को सामान बाहर रखने की मजबूरी बन गई। केंद्रों के बाहर व आसपास में दुकानदारों ने अभ्यर्थियों का सामान रखने की एेवज में पैसे वसूले। अभ्यर्थियों से पर्स, मोबाइल, घड़ी रखने के 20 से 50 रुपए लिए गए। अभ्यर्थियों ने केंद्र की ओर से मोबाइल, पर्स रखने के लिए कोई व्यवस्था नहीं करने पर नाराजगी जताई। अभ्यर्थियों का कहना था कि वे दूर दराज से आए हैं। कोई रात से निकला है तो कोई सुबह जल्दी आया।

हर सेंटर पर जैमर, सीसी टीवी, थंब इंप्रेशन से एंट्री के बाद भी पहली बार किसी परीक्षा के लिए बंद हुआ नेट, लोगों को हुई परेशानी, 20 मोबाइल टीमों, 10 फ्लाइंग और थानों की टीम ने संभाले इंतजाम

परीक्षा केंद्रों के बाहर खुलवाए अभ्यर्थियों के जूते-मोजे

शहर में पांच केंद्रों पर शनिवार को पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा शांतिपूर्ण आयोजित हुई। परीक्षा को लेकर शहर में भारी संख्या में पुलिस लवाजमा तैनात रहा। अकेलेे पुलिस ट्रेनिंग स्कूल में करीब 150 पुलिसकर्मी लगाए गए थे। इसके अलावा 20 मोबाइल टीम, 10 फ्लाइंग और पुलिस थानों के जाप्ते गश्त कर रहे थे। परीक्षा के लिए अभ्यर्थियों को निर्धारित समय से दो घंटे पूर्व परीक्षा केंद्राें पर बुलाया गया। सुबह 8 बजे ही अभ्यर्थी केंद्रों के बाहर पहुंच गए। प्रत्येक अभ्यर्थी के कपड़ों की जांच की गई। केंद्र के बाहर ही जूते, मोजे, मोबाइल, बेल्ट, घड़ी, पर्स रखवा दिए गए। अभ्यर्थियों को प्रवेश के बाद बायोमेट्रिक मशीन पर अंगूठा लगाकर प्रवेश दिया गया। साथ ही केंद्रों के आसपास वाहनों को भी खड़ा नहीं होने दिया। केंद्रों के भीतर सीसीटीवी कैमरे और जैमर भी लगाए गए थे। कैमरों से पूरी परीक्षा की रिकॉर्डिंग भी की गई। केंद्रों के कुछ अभ्यर्थियों के बायोमेट्रिक मशीन पर फिंगरप्रिंट मैच नहीं होने की समस्या भी सामने आई। प्रत्येक केंद्र पर पांच से आठ महिला कांस्टेबल भी तैनात की गई। डीएसपी ओमप्रकाश किलानिया के नेतृत्व में पुलिस की टीमें लगातार केंद्रों पर परीक्षा की मॉनिटरिंग करती रही।

एसपी ने कहा, पारदर्शिता बरतने और नकल रोकने के लिए किया नेट बंद

अधिकारियों ने बताया कि कांस्टेबल परीक्षा को लेकर संभागीय आयुक्त के निर्देश पर इंटरनेट बंद कराया गया है। एसपी राजेंद्र सिंह ने बताया कि परीक्षा में पूरी पारदर्शिता रखने और नकल को पूरी तरह रोकने के लिए इंटरनेट बंद करने की व्यवस्था की गई है। आईटी एक्सपर्ट अमित कुमार ने परीक्षा के लिए पूरे प्रदेश में इंटरनेट बंद करने के निर्णय को गलत बताया है। उन्होंने कहा कि कुछ निश्चित साइट और एप्लीकेशन बंद कर भी व्यवस्था कायम की जा सकती है।

इंटरनेट बंद होने से प्रभावित हुए काम

1. टूरिज्म- पर्यटकों सहित आम लोगों को किसी भी टूरिस्ट डेस्टिनेशन के बारे में जानकारी जुटाने में दिक्कत आएगी। ओला-ऊबर सहित कोई सुविधा का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे। पर्यटकों को पेमेंट करने में ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ा।

2. बैंकिंग- बैंकिंग एप और वेबसाइट का इस्तेमाल नहीं हो पा रहा है। हजारों ग्राहक नेफ्ट, आरटीजीएस, ऑनलाइन बैंकिंग का उपयोग नहीं कर पाए। रविवार को भी यही स्थिति रहेगी।

3. मेडिकल- ऑनलाइन मेडिकल सर्विसेज का प्रयोग नहीं हो पा रहा है। यज्ञनारायण अस्पताल में टेली मेडिसिन की सुविधा भी ठप रही। डोंगल से इस सुविधा का उपयोग होता है लेकिन नेट बंद रहा।

4. ट्रेवल - बस-ट्रेन-फ्लाइट सहित किसी भी तरह की ट्रेवल सुविधा का मोबाइल में ऑनलाइन इस्तेमाल करने में परेशानी का सामना करना पड़ा।

X
चार घंटे की परीक्षा के लिए 10 घंटे इंटरनेट बंद, शाम 6 बजे शुरू हुआ
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..