Hindi News »Rajasthan »Kishangarh» बाहरी परीक्षार्थियों को राजस्थान के इतिहास ने तो लोकल को विज्ञान के प्रश्नों ने किया परेशान

बाहरी परीक्षार्थियों को राजस्थान के इतिहास ने तो लोकल को विज्ञान के प्रश्नों ने किया परेशान

मदनगंज-किशनगढ़ | राजस्थान पुलिस कांस्टेबल परीक्षा रविवार को शहर के 5 सेंटरों पर संपन्न हुई। परीक्षा पूरी तरह...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 16, 2018, 04:50 AM IST

बाहरी परीक्षार्थियों को राजस्थान के इतिहास ने तो लोकल को विज्ञान के प्रश्नों ने किया परेशान
मदनगंज-किशनगढ़ | राजस्थान पुलिस कांस्टेबल परीक्षा रविवार को शहर के 5 सेंटरों पर संपन्न हुई। परीक्षा पूरी तरह शांतिपूर्ण रही और अभ्यर्थियों की गहनता से जांच के बाद भीतर भेजा गया। अभ्यर्थियों की फुल बाजू की शर्ट तक खुलवा ली गई। शहर में दो दिन में चार पारी की परीक्षा में 52 सौ परीक्षार्थियों को परीक्षा देनी थी। इसमें से करीब 4850 अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी। शहर में केडी जैन स्कूल, राजकीय कॉलेज, पुलिस ट्रेनिंग स्कूल, अग्रवाल गर्ल्स कॉलेज व अग्रवाल स्कूल शामिल थे। प्रत्येक पारी में 2600 परीक्षार्थी परीक्षा देने के लिए निश्चित किए थे। परीक्षा के चलते रविवार सुबह 8 बजे से शाम 5 तक नेट बंद रहा। पुलिस उपाधीक्षक ओमप्रकाश किलानिया ने बताया कि शहर में 5 सेंटरों पर शनिवार और रविवार को 14 हजार परीक्षार्थियों को परीक्षा देनी थी। दोनों दिन मिलाकर करीब 11 हजार 754 अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी।

शौचालय जाने की नहीं थी अनुमति : परीक्षा के दौरान शौचालय जाने को लेकर भी सख्त पाबंदी थी। दो घंटे में परीक्षार्थी को अपने कक्ष से बाहर आने तक की अनुमति नहीं थी।

देरी से पहुंचने वाले अभ्यर्थियों को रोका, फिर जाने दिया : तय समय से पहले पहुंचना था, लेकिन देरी से आने वालों को रोक दिया गया था। दिल्ली से आए युवक को पीटीएस में देरी से पहुंचने पर रोका गया। ऐसे पांचाें केंद्राें पर कुछ अभ्यर्थियों के साथ देरी से पहुंचने की घटना हुई। देरी से पहुंचे अभ्यर्थी को पुलिसकर्मियों ने कॉलेज प्रशासन से अनुरोध कर परीक्षा में बैठाया।

दिल्ली, यूपी, उत्तराखंड, पंजाब से भी पहुंचे अभ्यर्थी : परीक्षा देने राजस्थान के बाहर से भी परीक्षार्थी पहुंचे। शहर के 5 परीक्षा सेंटरों पर परीक्षा देने आए परीक्षार्थी दिल्ली, यूपी, हरियाणा, उत्तराखंड, पंजाब के थे।

बाहरी राज्यों के परीक्षार्थी राजस्थान के इतिहास के प्रश्नों से रहे परेशान : बाहरी राज्यों से आए परीक्षार्थियों को राजस्थान का इतिहास कठिन लगा। रेवाड़ी निवासी रूपेंद्र सिंह ने बताया कि राजस्थान के इतिहास में बांसवाड़ा और अन्य क्षेत्र का इतिहास कठिन लगा। वहीं खनिज संपदा की जानकारी नहीं होने से पेपर कठिन लगा।

मंदिरों की जानकारी लगी मुश्किल : आगरा निवासी मुकुंद कुमार ने बताया कि राजस्थान के मंदिरों और वागड़ क्षेत्र की जानकारी कम होने से परेशानी हुई। सामान्य ज्ञान और रीजनिंग सरल थी। आईएएस की तैयारी कर रही दिल्ली निवासी श्वेता ने बताया कि रीजनिंग और जनरल नॉलेज के प्रश्न ठीक थे। लेकिन राजस्थान के इतिहास ने कुछ परेशान किया। जयपुर के लिए कांस्टेबल पद पर आवेदन किया था। जहाजपुर निवासी स्वामी कुमार ने बताया कि स्थानीय इतिहास के अलावा सब कुछ ठीक था।

अभ्यर्थियों की मेटल डिटेक्टर से जांच कर प्रवेश दिया गया।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kishangarh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×