सकारात्मक सोच से आएगी सुख-समृद्धि / सकारात्मक सोच से आएगी सुख-समृद्धि

Bhaskar News Network

Jun 23, 2018, 04:50 AM IST

Kishangarh News - भास्कर न्यूज| मदनगंज-किशनगढ़ उपाध्याय अनुभव सागर महाराज के शिष्य मुनि पूज्य सागर महाराज का शुक्रवार को ससंघ...

सकारात्मक सोच से आएगी सुख-समृद्धि
भास्कर न्यूज| मदनगंज-किशनगढ़

उपाध्याय अनुभव सागर महाराज के शिष्य मुनि पूज्य सागर महाराज का शुक्रवार को ससंघ किशनगढ़ में मंगल प्रवेश हुआ। मुनि संघ सुबह 8 बजे ऋषभनाथ दिगंबर जैन मंदिर पुराना शहर से विहार करके सुमेर क्लब पहुंचा। जहां सकल जैन समाज ने उनकी मंगलमयी अगवानी की। यहां से जुलूस के साथ चंद्रप्रभु मंदिर, आदिनाथ मंदिर के दर्शन करके मुनि संघ जैन भवन पहुंचा।

मुनिश्री ने धर्म सभा को संबोधित करते हुए कहा कि आदमी की सोच हमेशा सकारात्मक होनी चाहिए। जिसकी सोच सकारात्मक होगी वो ही सुखी रह सकता है। मुनिश्री ने बताया कि एक पति-प|ी में आपस में नोकझोंक हो गई। उसी दौरान एक संत का भिक्षा के लिए आगमन हुआ, संत के भी नियम था। जिस घर जाऊंगा वहां से कुछ भी लेकर जरूर आऊंगा। संत ने महिला से भिक्षा मांगी। महिला पहले से ही अपने पति से हुई नोकझोंक के कारण गुस्से में थी और घर का पौंछा लगा रही थी तो भिक्षा मांगते ही संत को उसने अनाप शनाप बकना शुरू कर दिया और गुस्से में संत के ऊपर जो हाथ में पौंछा था वो ही फेंक दिया। संत भी संकल्पित थे कि कुछ ना कुछ तो लेकर ही आना है। संत उस पोंछे को लेकर ही रवाना हो गए। फिर उस कपड़े की तलाब पर अच्छे से धुलाई करके उस कपड़े की बत्तियां बना दी और मंदिर में ले जाकर सब दियो में बत्तियां लगाकर पूरे मंदिर को जगमग कर दिया। संत की सोच सकारात्मक होने के कारण गंदे कपड़े का भी सदुपयोग करके मंदिर को प्रकाशमय कर दिया। इसलिए हमेशा सकारात्मक सोचना एवं करना चाहिए। धर्मसभा में राजेंद्र बैद, राजकुमार दोसी, सुमेर गोधा, प्रकाश गंगवाल, प्रदीप बाकलीवाल, पंकज पहाड़िया, सुशील काला, चंद्रप्रकाश बैद, प्राणेश बज, सुभाष चौधरी, प्रदीप पापडीवाल, विजय कासलीवाल, मांगीलाल झांझरी, प्रकाश गोधा, विजय गंगवाल, सहित अनेक धर्मानुरागी उपस्थित थे।

X
सकारात्मक सोच से आएगी सुख-समृद्धि
COMMENT