Hindi News »Rajasthan »Kishangarh» बच्चों को मोबाइल बैन करने के लिए स्कूलों में पत्र भेजेगी पुलिस

बच्चों को मोबाइल बैन करने के लिए स्कूलों में पत्र भेजेगी पुलिस

भास्कर न्यूज|मदनगंज-किशनगढ़ मोबाइल में खेले जा रहे लूडो गेम से जुए की लत में फंस रहे बच्चों के भविष्य को बचाने के...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 06, 2018, 04:55 AM IST

बच्चों को मोबाइल बैन करने के लिए स्कूलों में पत्र भेजेगी पुलिस
भास्कर न्यूज|मदनगंज-किशनगढ़

मोबाइल में खेले जा रहे लूडो गेम से जुए की लत में फंस रहे बच्चों के भविष्य को बचाने के लिए पुलिस ने प्रयास शुरू कर दिए है। डीएसपी के निर्देश पर किशनगढ़ सीओ सर्किल के सभी थाना क्षेत्र की सरकारी व निजी स्कूल के प्रभारियों को पत्र भेजकर स्कूल में बच्चों द्वारा मोबाइल नहीं लगाने के लिए कहा जाएगा। डीवाईएसपी की ओर से लेटर जारी भी कर दिए गए हैं। अब थाना प्रभारी अपने-अपने थाना क्षेत्र की सरकारी व निजी स्कूलों की सूची निकालकर वहां के प्रभारियों को पत्र भेजेगी। उसमें बकायदा मोबाइल स्कूल में ले जाना अपराध की श्रेणी बताते हुए रोक लगाने के लिए कहा जाएगा।

भास्कर ने गुरुवार के अंक में ‘मोबाइल गेम लूडो डाल रहा है युवाओं में जुए की लत’ शीर्षक से खबर प्रकाशित की थी। खबर के जरिये शहर के किशोर उम्र और युवा वर्ग मोबाइल में लूडो गेम डाउनलोड कर जुआ खेल रहे है। लूडो के जरिये हार और जीत के नाम पर 50 रुपए से 500 रुपए तक लगाए जा रहे है। यही का दुष्प्रभाव इतना पड़ रहा है कि बच्चे स्कूल में भी मोबाइल ले जाने लगे हैं। स्कूल प्रशासन की ओर से मोबाइल पकड़ने के पांच मामले सामने आ चुके हैं। भास्कर की खबर के बाद पुलिस उपाधीक्षक ओमप्रकाश किलानिया ने मामले को गंभीर मानते हुए सभी थाना प्रभारियों को निर्देश जारी किए है। निर्देशों में अपने-अपने थाना क्षेत्र की सरकारी व निजी स्कूलों के प्रभारियों को पत्र भेजा जाएगा। जिसके जरिये स्कूल में बच्चों के द्वारा मोबाइल नहीं लाना सुनिश्चित किया जाएगा। साथ ही मोबाइल मिलने पर जब्त करने, जुर्माना सहित अन्य के बारे में भी सख्ती बरतने के लिए कहा है।

अभिभावकों को भी करें जागरूक, बच्चों को रखें मोबाइल से दूर : डीएसपी ओमप्रकाश किलानिया ने बताया कि आज के समय में मोबाइल सबसे ज्यादा घातक साबित हो रहा है। मोबाइल के जरिये बच्चे गलत दिशा में भटक रहे हैं। अपराध करना सीख रहे हैं। अपने परिवार, पारंपरिक खेल से दूर हो रहे हैं इसलिए बच्चों से मोबाइल से दूर रखें। इसके लिए अभिभावकों को जागरूक होना होगा। अगर अभिभावक बच्चों को मोबाइल की छूट देंगे तो बच्चे का भविष्य बनने की बजाय वह पतन की ओर बढ़ सकता है। किलानिया ने बताया कि उन्होंने सभी थानों को निर्देश जारी कर दिए गए हैं।

भास्कर फॉलोअप

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kishangarh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×