• Home
  • Rajasthan News
  • Kishangarh News
  • ट्रकों में लोड की क्षमता बढ़ाई, अब ज्यादा वजन ले जा सकेंगे हैवी व्हीकल
--Advertisement--

ट्रकों में लोड की क्षमता बढ़ाई, अब ज्यादा वजन ले जा सकेंगे हैवी व्हीकल

मदनगंज-किशनगढ़| अब ट्रक और दूसरी गाड़ियां ज्यादा भार ले जा सकेंगे। केंद्र सरकार के भूतल परिवहन मंत्रालय ने भार का...

Danik Bhaskar | Jul 23, 2018, 04:55 AM IST
मदनगंज-किशनगढ़| अब ट्रक और दूसरी गाड़ियां ज्यादा भार ले जा सकेंगे। केंद्र सरकार के भूतल परिवहन मंत्रालय ने भार का नया निर्धारण किया है। इसका गजट नोटिफिकेशन जारी कर दिया गया है। हालांकि ओवरलोड जुर्माने से होने वाले सरकारी राजस्व में काफी कमी आ जाएगी। अलग-अलग कैटेगरी की गाड़ियों में अब 3 से 6 टन तक ज्यादा भार ले जाने की छूट मिल गई है। इसमें भी 5 फीसदी अतिरिक्त भार ले जाने की छूट और दे दी गई है। वाहन भार लिमिट बढ़ाने से परिवहन विभाग को नुकसान होगा। ट्रक भार बढ़ने से परिवहन खर्च कम होगा तो अलबत्ता चीजों के भाव में कुछ कमी आने से आम आदमी को कुछ राहत मिल सकती है।

इस तरह समझिए नए नियम: अब तक जो ट्रक 9 टन भार ले जा रहे हैं, वे अब 12 टन ले जा सकेंगे। इसी तरह जो ट्रक 15 टन माल ले जा रहे हैं, वे अब 18.500 टन, जो 21 टन ले जा रहे हैं, वे अब 27 टन और जो 25 टन माल ले जा सकते थे, वे अब 31.500 टन माल ले जा सकेंगे। वहीं बड़े ट्रोले जो 23 टन माल ले जा सकते थे, अब 27.800 टन, 27 टन वाले अब 32.800 टन, 34 टन ले जाने वाले अब 40 टन तक भार ले जा सकेंगे। अतिरिक्त भार छूट भी दी गई है। ट्रकों में नई भार लिमिट से भी एक टन ज्यादा और बड़े ट्रोलों में ढाई टन तक अतिरिक्त भार हो तो अंडर लिमिट माना जाएगा।

भूतल परिवहन मंत्रालय ने दी मंजूरी

एक धुरी- एक टायर के साथ एक धुरी वाले वाहनों को तीन टन भार, दो टायर के साथ एक धुरी वाले वाहनों को 7.5 टन, चार टायर के साथ एक धुरी वाले वाहनों को 11.5 टन भार ले जाने की इजाजत होगी।

दो धुरी- ट्रोले-अर्द्ध ट्रोले के लिए 21 टन, हाइड्रोलिक और न्यूमैटिक ट्रेलर्स, पूलर ट्रैक्टर्स के लिए 28.5 टन भार ले जाने की इजाजत होगी।

तीन धुरी- तीन धुरियों वाले दृढ़ यानों, टेलर्स और अर्द्ध ट्रेलर्स के लिए 27 टन भार ले जाने की इजाजत होगी।

चार धुरी -पंक्ति के साथ दो धूरियां प्रत्येक चार टायर वाले मॉड्यूलर हाइड्रोलिक ट्रेलरों में (एक धुरी के लिए नौ टन भार) 18 टन भार ले जाने की इजाजत होगी। (यदि वाहन में न्यूमैटिक सस्पेंशन है तो प्रत्येक धुरी पर एक टन अतिरिक्त भार की इजाजत होगी।)