• Hindi News
  • Rajasthan
  • Kishangarh
  • पूर्णिमा पर ग्रहण के कारण मंदिरों के कपाट बंद, आज सुबह खुले कपाट

पूर्णिमा पर ग्रहण के कारण मंदिरों के कपाट बंद, आज सुबह खुले कपाट / पूर्णिमा पर ग्रहण के कारण मंदिरों के कपाट बंद, आज सुबह खुले कपाट

Kishangarh News - गुरु पूर्णिमा पर चंद्रग्रहण का साया रहा। चंद्रग्रहण का सूतक शुक्रवार दोपहर 2.55 पर लगा। इसके बाद मंदिरों के कपाट बंद...

Bhaskar News Network

Jul 28, 2018, 05:05 AM IST
पूर्णिमा पर ग्रहण के कारण मंदिरों के कपाट बंद, आज सुबह खुले कपाट
गुरु पूर्णिमा पर चंद्रग्रहण का साया रहा। चंद्रग्रहण का सूतक शुक्रवार दोपहर 2.55 पर लगा। इसके बाद मंदिरों के कपाट बंद हो गए। चंद्रग्रहण रात 11 बजकर 54 मिनट व 26 सेकंड पर लगा। ग्रहण का मोक्ष काल रात 3 बजकर 48 मिनट और 59 सेकंड पर हुआ। ग्रहण का मध्य दोपहर 01 बजकर 51 मिनट और 43 सेकंड पर रहा। खग्रास 2 बजकर 43 मिनट व 11 सेकंड पर समाप्त हुआ। यह ग्रहण समूचे भारत में दिखाई दिया। यह घटना 103 वर्ष बाद घटित हुई है। शुक्रवार दोपहर को ही सभी धार्मिक कार्यक्रम बंद कर दिए गए। मंदिरों के कपाट बंद हो गए।

मंदिर परिसर में भजन कीर्तन सहित अन्य कार्यक्रम होते रहे। चंद्रग्रहण के मोक्ष के बाद पुजारियों ने शनिवार सुबह मंदिर परिसर को धोया जाएगा और श्री हरि के विभिन्न स्वरूपों को श्रृंगारित भक्तो के दर्शनार्थ खोला जाएगा। श्रद्धालुओं ने शनिवार सुबह अपने इष्ट के दर्शन किए। ग्रहण का सूतक लगते ही सभी मंदिरों के कपाट बंद हो गए। भक्तगण भगवान को ग्रहण के प्रभाव से छुटकारा दिलाने के लिए भजन-कीर्तन का दौर चलता रहा।

दान पुण्य श्रेयस्कर : पंडित दाधीच ने बताया कि ग्रहण से उऋण होने के बाद भक्तों को स्नानादि से निवृत्त होने के बाद मंदिर में जाकर अपने इष्ट का दर्शन कर अपनी श्रद्धानुसार दानपुण्य करना चाहिए। ज्योतिषाचार्य पंडित सत्यप्रकाश दाधीच ने बताया कि सूर्य-राहू का शनि के साथ षडाष्टक योग का बनना राजनीतिज्ञों, शासन व प्रशासन के लिए संघर्ष की स्थिति बनाएगी। ग्रहों की ये चाल कई प्रांतों में प्राकृतिक आपदा व जनहानि करेगी। इसका असर वर्षपर्यंत रहेगा।

मदनगंज किशनगढ़. गुरु पूर्णिमा पर ग्रहण के कारण गणेश मंदिर के बंद कपाट।

X
पूर्णिमा पर ग्रहण के कारण मंदिरों के कपाट बंद, आज सुबह खुले कपाट
COMMENT