• Hindi News
  • Rajasthan
  • Kishangarh
  • घर से मंदिर के लिए निकले वृद्ध का शव गुंदोलाव झील में मिला
--Advertisement--

घर से मंदिर के लिए निकले वृद्ध का शव गुंदोलाव झील में मिला

Kishangarh News - भास्कर न्यूज | मदनगंज-किशनगढ़ गुरु पूर्णिमा के दिन शुक्रवार को गुंदोलाव झील में डूबने से वृद्ध की मौत हो गई। वह...

Dainik Bhaskar

Jul 28, 2018, 05:05 AM IST
घर से मंदिर के लिए निकले वृद्ध का शव गुंदोलाव झील में मिला
भास्कर न्यूज | मदनगंज-किशनगढ़

गुरु पूर्णिमा के दिन शुक्रवार को गुंदोलाव झील में डूबने से वृद्ध की मौत हो गई। वह सुबह घर से गुंदोलाव झील के निकट मंदिर में दर्शन के लिए निकले थे लेकिन वापस नहीं लौटे। परिजनों ने ढूंढना शुरू किया तो लोगों को झील में वृद्ध का शव तैरता मिला। घटना से मौके पर हड़कंप मच गया। पुलिस ने मशक्कत कर शव को बाहर निकाला। परिजनों के आने के बाद शव का पोस्टमार्टम करा शव परिजनों को सौंप दिया।

किशनगढ़ थाना पुलिस के अनुसार डागा गली, मदनगंज में रहने वाले नमकीन व्यापारी राजकुमार (60) पुत्र लालचंद शर्मा गुरु पूर्णिमा के मौके पर सुबह 9 बजे के आसपास घर से गुंदोलाव झील के पास स्थित मंदिर में दर्शनों की कहकर निकले थे। शर्मा स्कूटी पर सवार होकर मंदिर के लिए रवाना हुए लेकिन काफी देर होने के बाद भी घर नहीं लौटे। कुछ देर में घर नहीं पहुंचने पर परिजनों ने उन्हें ढूंढना शुरू कर दिया। दोपहर 12.30 बजे के आसपास लाेगों का शव झील में तैरता हुआ मिला। झील के किनारे पर स्कूटी खड़ी थी। मौके पर लोगों की भीड़ जमा हो गई। सूचना पर किशनगढ़ थाना पुलिस मौके पर पहुंच गई और स्थानीय तैराकों की मदद से शव को बाहर निकालने का प्रयास शुरू कर दिया। कुछ देर में शव बाहर निकाल लिया गया। इस बीच मृतक के परिजन भी मौके पर पहुंच गए। परिजनों ने मृतक की पहचाान राजकुमार के रूप में की। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर यज्ञनारायण अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिया। बाद में शव का पोस्टमार्टम करा शव परिजनों को सौंप दिया। पुलिस ने मृग दर्ज कर जांच शुरू कर दी।

आत्महत्या या दुर्घटना, जांच के बाद ही चलेगा पता

किशनगढ़. गुंदोलाव झील में तैरता मिला वृद्ध का शव।

झील में डूबने से काल का ग्रास बने राजकुमार की मदनगंज में अजमेर रोड पर नमकीन व मिठाई की दुकान है। उनकी मौत की खबर आग की तरह शहर में फैल गई। नमकीन व्यापारी होने के कारण शहर के ज्यादातर लोगों से उनका संपर्क था। हर कोई घटना पर दुख प्रकट करता नजर आया। हादसे को लेकर पुलिस आत्महत्या या दुर्घटना दोनों ही पहलूओं से जांच कर रही है। अफवाह फैली थी कि व्यापारी ने झील में कूदकर आत्महत्या की है क्योंकि घर से निकलने के बाद स्कूटी को झील के किनारे खड़ी करना पुलिस के गले नहीं उतर रहा। दूसरे पहलू की बात करें तो राजकुमार पहले भी मंदिर जाया करते थे। ऐसे में वे मंदिर जाने वाले रास्ते पर स्कूटी खड़ी कर कुछ देर के लिए रुक गए होंगे। उस दौरान पैर फिसलने से झील में जा गिरे। शव पर कोई चोट या जोर जबरदस्ती के निशान नहीं है। पुलिस दोनों पहलुओं की जांच कर रही है।

मंदिर वालों ने ओढ़ाई चद्दर

हादसे के बाद मौके पर शव तैरता मिला। शव के कमरे पर सफेद रंग का पट्‌टा बंधा हुआ था। ये पट्‌टा कमर दर्द और खिंचाव के हिसाब से बांध रखा था। शव निकालने पर पास ही स्थित मंदिर के पुजारियों ने सफेद कपड़ा पुलिस को दे दिया जिससे वे शव को ओढ़ा सका। इसके बाद शव पुलिस ने शव को सफेद कपड़े से ओढ़ाया और राजकीय यज्ञनारायण अस्पताल ले गए।

घर से मंदिर के लिए निकले वृद्ध का शव गुंदोलाव झील में मिला
X
घर से मंदिर के लिए निकले वृद्ध का शव गुंदोलाव झील में मिला
घर से मंदिर के लिए निकले वृद्ध का शव गुंदोलाव झील में मिला
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..