Hindi News »Rajasthan »Kishangarh» चावल के दाने पर 250 विश्व प्रसिद्ध हस्तियों के बनाए चित्र

चावल के दाने पर 250 विश्व प्रसिद्ध हस्तियों के बनाए चित्र

चावल के दाने पर ‘हनुमान की तस्वीर आैर लॉकेट में बिराजे हैं भगवान श्रीराम’, यही नहीं एक दाने पर ‘250 विश्व प्रसिद्ध...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 28, 2018, 05:05 AM IST

  • चावल के दाने पर 250 विश्व प्रसिद्ध हस्तियों के बनाए चित्र
    +1और स्लाइड देखें
    चावल के दाने पर ‘हनुमान की तस्वीर आैर लॉकेट में बिराजे हैं भगवान श्रीराम’, यही नहीं एक दाने पर ‘250 विश्व प्रसिद्ध व्यक्तियों के चित्र’ वो भी इतने स्पष्ट जिन्हें देख एक बारगी हर कोई चौंक जाए।

    इस अनोखी आैर खूबसूरत कला के धनी हैं सेंट स्टीवंज स्कूल के चित्रकला के शिक्षक बच्चन सिंह चौहान। इनकी कलाकारी देख हर कोई दांतों तले अंगुली दबाने पर मजबूर हो जाता है। चावल के दाने पर राष्ट्रीय गान आैर सफेद बाल पर एक से बारह तक गिनती देखकर तो यकीन ही नहीं होता कि इतने छोटे अक्षर लिखे कैसे जाते हैं आैर वे भी बगैर लेंस की मदद से। यह बात अलग है इसे पढ़ने के लिए लैंस की जरूरत पड़ती है।

    बच्चन सिंह जब आठ साल की उम्र के थे, तभी से यह कलाकारी करते आ रहे हैं। चावल के दाने पर 100 हाथी, राजा हिंदुस्तानी फिल्म का प्रसिद्ध गीत परदेशी-परदेशी जाना नहीं, मुझे छोड़कर आैर 1100 बार एक मार्बल इंडस्ट्री का नाम लिखा चावल का दाना इनके कलेक्शन में है।

    यही नहीं चावल के दाने पर राष्ट्रीय गान जन-गण-मन लिखकर आैर पूर्व राज्यपाल अंशुमान सिंह, महात्मा गांधी, जवाहर लाल नेहरू आैर सुभाष चंद बोस सहित अन्य महापुरुषों के चित्र उकेर कर बच्चन सिंह ने हर किसी को हैरत में डाल दिया। बच्चन सिंह अब चावल के दाने पर चाचा नेहरू का आजाद भारत का पहला भाषण आैर स्वामी विवेकानंद का शिकागो में दिया गया प्रसिद्ध भाषण लिख रहे हैं। यह दोनों भाषण करीब पांच हजार शब्द के हैं, जो कि चावल के दाने पर स्पष्ट पढ़े जा सकेंगे।

    सेंट स्टीवंज स्कूल के चित्रकला के शिक्षक बच्चन सिंह चौहान की कलाकारी देख हर कोई हौरान

    राष्ट्रीय गान आैर 100 हाथियों के चित्र देखकर तो यकीन ही नहीं होता

    चावल के दानों पर पेंटिंग।

    अभ्यास से निखरती गई काबिलियत

    बच्चन सिंह के लगातार अभ्यास से उनकी काबलियत निखरती गई, यही वजह है कि वे अपनी सूक्ष्म लेखन की कला का जादू बिखेर रहे हैं। वे, अपनी इस कला को आगे बढ़ाते हुए गिनीज वर्ल्ड रिकार्ड में नाम दर्ज कराना चाहते हैं। बच्चन सिंह ने बताया कि वे कांगड़ा, पीसांगन, बूंदी आैर किशनगढ़ की बणी-ठणी पेंटिग्स के साथ डिपिंग पेंटिंग बनाने में भी पारंगत हैं। कई पेंटिंग्स अब तक बनाई जा चुकी है।

    कई शहरों में लगा चुके हैं प्रदर्शनी

    बच्चन सिंह अपने इस हुनर का प्रदर्शन कई शहरों में मेले व प्रदर्शनी के दौरान कर चुके हैं। मनाली, कोटा, पुष्कर, उदयपुर सहित कई अन्य स्थानों पर चांवल के दाने की इस कलाकारी का प्रदर्शन किया जा चुका है। इस कला से अभिभूत होकर बच्चन सिंह को जिला स्तर पर 15 अगस्त पर सम्मानित किया जा चुका है।

  • चावल के दाने पर 250 विश्व प्रसिद्ध हस्तियों के बनाए चित्र
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kishangarh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×