--Advertisement--

उपखंड में शुरू हुआ मेलों का दौर

भास्कर न्यूज| हरमाड़ा तिलोनिया हरियाली अमावस्या पर शनिवार को ग्राम बुहारु पहाड़ी पर स्थित अन्नपूर्णा माता जी...

Dainik Bhaskar

Aug 12, 2018, 05:05 AM IST
उपखंड में शुरू हुआ मेलों का दौर
भास्कर न्यूज| हरमाड़ा तिलोनिया

हरियाली अमावस्या पर शनिवार को ग्राम बुहारु पहाड़ी पर स्थित अन्नपूर्णा माता जी परिसर पर मेला का आयोजन किया गया। श्रद्धालु भक्तों ने तीखी धूप के बीच माता के मंदिर में जाकर विधि विधान से पूजा अर्चना की। सुबह से ही मंदिर में भक्तों का हुजूम आना शुरू आया जो शाम तक चलता रहा। मेला दोपहर बाद अपने परवान पर चढ़ा। बुहारु अन्नपूर्णा माता मंदिर परिसर में मेला के साथ ही किशनगढ़ उपखंड में मेलों का दौर शुरू हो गया है। मेला में ग्रामवासियों के मनोरंज के लिए कबड्डी का भी आयोजन किया गया। देर रात्रि तक मेला चलता रहा।

ग्रामीण वेशभूषा में सजे धजे नजर आए ग्रामवासी : मेला में राजस्थानी परिधान से सजे महिला पुरुष आए और विधि विधान से कल्पवृक्षों की पूजा अर्चना की। विभिन्न गांवों से महिलाएं लोकगीत गाते हुए आ रही थी। दूर-दूर से आने वाले भक्त गण अपने घरों से ही खीर चूरमा बनाकर लाए और अन्नपूर्णा माता को भोग लगाया एवं अपने परिवार व समाज की सुख समृद्धि की कामना की। मंदिर पुजारी राधेश्याम शर्मा ने बताया कि शाम साढ़े चार बजे मंदिर पर धर्म ध्वजा गांव के गणमान्यों की मौजूदगी में चढ़ाई गई। महाआरती कर प्रसाद का वितरण किया गया। मेले में महिलाओं ने जमकर मणिहारी की दुकानों से खरीदारी की। मेलार्थियों के मनोरंजन के लिए कबड्‌डी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया।

मेले की पूर्व संध्या पर निकाली जागिरणा : मेला से पूर्व दिवस शुक्रवार रात्रि में मंदिर परिसर में जागिरणा निकाली गई। जागिरणा गांव के गणेश मंदिर से शुरू हुई जो विभिन्न मार्गो से होता हुआ रात्रि में गांव की चौपाल पर पहुंचा वहा से रघुनाथ मंदिर चौक, गुर्जरों का मोहल्ला से गुजरती हुई रात्रि ढाई बजे अन्नपूर्णा माता के मंदिर पहुंची। इस दौरान गांव वाले नाचते हुए चल रहे थे। लोगों ने पूरे गांव में घूम-घूम कर भजनों की प्रस्तुति दी। सवा तीन बजे जागिरणा ढोल व झाली के साथ मंदिर परिसर में पहुंचा। जागिरणा वालों ने पूरे गांव में ढोल व झालर, शंख के साथ फेरी लगाई। इस दौरान मंदिर परिसर में भजन संध्या हुई। हरियाली अमावस्या पर माता अन्नपूर्णा मंदिर के मेले के साथ ही ग्रामीण अंचल में मेला का आगाज हो गया। वर्ष पर्यन्त चलने वाले मेलो का समापन अब हरमाड़ा में पूर्णिमा पर आयोजित सांड बाबा के मेले के साथ होगा। मालूम हो कि बुहारु, सुरसुरा, रलावता, सलेमाबाद, तिलोनिया, किशनगढ़, गहलौता गांव में अलग-अलग तिथियों पर मेला का आयोजन होता है।

हरमाड़ा तिलोनिया. बुहारु अन्नपूणा मंदिर परिसर पर आयोजित मेले में उमड़ी भीड़।

X
उपखंड में शुरू हुआ मेलों का दौर
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..