• Hindi News
  • Rajasthan
  • Kishangarh
  • फिंगर प्रिंट मैच होने के बाद ही मिलेगी मिलिट्री कैंटीन से सामग्री
--Advertisement--

फिंगर प्रिंट मैच होने के बाद ही मिलेगी मिलिट्री कैंटीन से सामग्री

Kishangarh News - भास्कर न्यूज|मदनगंज-किशनगढ़ सेना की कैंटीन से राशन सहित अन्य सामान लेने के पहले अब पूर्व और सेवारत सैनिकों को...

Dainik Bhaskar

Jul 24, 2018, 05:10 AM IST
फिंगर प्रिंट मैच होने के बाद ही मिलेगी मिलिट्री कैंटीन से सामग्री
भास्कर न्यूज|मदनगंज-किशनगढ़

सेना की कैंटीन से राशन सहित अन्य सामान लेने के पहले अब पूर्व और सेवारत सैनिकों को अपने फिंगरप्रिंट बायोमैट्रिक मशीन में रजिस्टर्ड करवाने होंगे। बिना फिंगर प्रिंट मैच हुए सेना की कैंटीनों से सामान नहीं दिया जाएगा। फिलहाल कंपनी ने अलवर में इस व्यवस्था को शुरू किया है। शीघ्र ही सभी जगह ये लागू हो जाएगा।

जानकारी के अनुसार नई व्यवस्था में सैनिकों के अलावा कोई ओर व्यक्ति कैंटीन नहीं ले सकेगा। यहां लोगों को फिंगर प्रिंट रजिस्‍टर्ड करने के बाद ही प्रवेश दिया जा रहा है। अन्य कैंटीनों में भी यह व्यवस्था जल्द लागू हो जाएगी। हालांकि अधिक उम्र के पूर्व सैनिकों व परिजनों के फिंगरप्रिंट को रजिस्टर्ड करने में समस्या आ रही है। इसके लिए अधिकारियों ने मैन्युअल रजिस्ट्रेशन का विकल्प निकाला है। ऐसे किशनगढ़ उपखंड के भी कईं सैनिक है जिनके फिंगरप्रिंट रजिस्टर्ड नहीं हो रहे हैं। अधिकारियों के अनुसार कैंटीन पर लगभग 16 से 18 हजार सैनिक व पूर्व सैनिक परिवारों की डिपेंडेंसी है। कैंटीन से मासिक राशन व अन्य सामान लेने से पहले कार्डधारी को खुद कैंटीन परिसर आकर पहले से जारी कार्ड को अंगूठे के निशान से बायोमैट्रिक मशीन द्वारा सर्वर में रजिस्टर्ड करवाना होगा। सेना के बाद इसे पुलिस विभाग में शुरू किया जाएगा। पुलिस विभाग में भी बायोमेट्रिक मशीन से ही सामान दिया जाएगा।

गलत हाथों में चला जाता था सामान : कुछ लोग कैंटीन से सामान लेकर परिचितों को बांट देते थे। सरकार ने फिर स्मार्ट कार्ड लागू करते हुए सामान खरीदने की लिमिट तय कर दी। इसके अनुसार सैनिक को प्रतिमाह 4000, जेसीओ रैंक को 7500 और सैन्य अधिकारियों को 10000 रुपए तक का सामान मिलता है। यह व्यवस्था लागू होने के बाद भी कैंटीन का सामान गलत हाथों में पहुंचने से नहीं रुक पाया। अब पूर्व सैनिकों, वीरांगनाओं को केवल फिंगरप्रिंट मिलान के बाद ही सामान मिलेगा।

X
फिंगर प्रिंट मैच होने के बाद ही मिलेगी मिलिट्री कैंटीन से सामग्री
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..