• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Kishangarh News
  • असली किराएदार घूमने गया था, पड़ोसी युवक ने ताला तोड़कर मकान में बदमाशों को ठहरा दिया!
--Advertisement--

असली किराएदार घूमने गया था, पड़ोसी युवक ने ताला तोड़कर मकान में बदमाशों को ठहरा दिया!

हाउसिंग बोर्ड की आवासीय कॉलोनी में 10 जुलाई को घेराबंदी कर मकान से पकड़े गए बदमाशों को पड़ौसी युवक ने ताला तोड़कर...

Dainik Bhaskar

Jul 14, 2018, 05:15 AM IST
असली किराएदार घूमने गया था, पड़ोसी युवक ने ताला तोड़कर मकान में बदमाशों को ठहरा दिया!
हाउसिंग बोर्ड की आवासीय कॉलोनी में 10 जुलाई को घेराबंदी कर मकान से पकड़े गए बदमाशों को पड़ौसी युवक ने ताला तोड़कर ठहराया था। जिस डी 2 ब्लॉक के मकान नंबर 53 में बदमाश ठहरे थे उसका असली किराएदार नया शहर निवासी नवाज शरीफ है। वह 31 जून की रात से दोस्तों के साथ घूमने दिल्ली, हरिद्वार सहित अन्य स्थानों पर गया हुआ था। नवाज के कमरे पर नहीं होने का पता पड़ौसी युवक अजय कुमार उर्फ सोनू को था। इसका फायदा उठाते हुए सोनू ने कमरे का ताला तोड़ा और बदमाशों को ठहरा दिया। घटना का पता नवाज को 11 जुलाई का भास्कर अखबार पढ़ने पर चला। डी 2 ब्लॉक के मकान नंबर 53 से बदमाशों को पकड़े जाने की खबर से नवाज के पैरों तले जमीन खिसक गई। नवाज सीधे मकान मालिक के पास पहुंचा और घटना की जानकारी दी। इसके बाद नवाज ने थाने में सच्चाई बताई। पुलिस ने मकान मालिक से भी जानकारी ली है।

अरांई रोड नया पोस्ट ऑफिस के पास नया शहर निवासी नवाज शरीफ (26) पुत्र शहाबुद्दीन पेशे से नल, पाइप सप्लाई का काम करता है। नवाज ने बताया कि परिवार में झगड़े होने के कारण उसने अलग रहने का मन बनाया। इस पर 26 जून को प्रेमसिंह राजपूत के हाउसिंग बोर्ड स्थित मकान में किराए पर रहने लगा। बकायदा नवाज और प्रेमसिंह के बीच किराएनामे का अनुबंध भी है। 31 जून की रात दाेस्तों के साथ घूमने के लिए दिल्ली, हरिद्वार सहित अन्य स्थानों के लिए रवाना हो गया। घूमने के साथ ही शरीफ ने फोटो भी खींची और सोशल साइट्स पर भी अपलोड की। इसके बाद नवाज अपने साथियों के साथ 4 जुलाई को दिल्ली से किशनगढ़ के लिए ट्रेन में बैठा और 5 जुलाई को किशनगढ़ पहुंच गया। 6 जुलाई को दोस्त की शादी होने के कारण नवाज शादी में लग गया। इस दौरान वह हाउसिंग बोर्ड स्थित कमरे पर नहीं गया। नवाज ने बताया कि 10-11 जुलाई को उसके परिवार में शादी थी। वह शादी की व्यवस्था संभाल रहा था।

अखबार से 11 जुलाई को मिली जानकारी

नवाज ने बताया कि 11 जुलाई को अखबार पढ़ने पर उसे मकान नंबर 53 से 9 बदमाश पकड़े जाने के बारे में जानकारी मिली। खबर पढ़ते ही उस मकान मालिक को फोन कर घटना के बारे में जानकारी दी। नवाज ने बताया कि उसके नया शहर स्थित मकान के पड़ोस में अजय कुमार उर्फ सोनू वैष्णव (28) पुत्र मधुसुदन रहता है। अजय उर्फ साेनू को नवाज के घूमने जाने के बारे में जानकारी थी। इसी का फायदा उठाते हुए अजय उर्फ सोनू ने हाउसिंग बोर्ड स्थित मकान नंबर 53 पर पहुंचकर कमरे का ताला तोड़ा और बदमाशों को ठहरा दिया। सुनसान होने के कारण किसी को इस बात का पता नहीं चला।

सोनू ने एक बार देखा था मकान, बाहर जाने के बारे में भी थी जानकारी, इसी का उठाया फायदा

नवाज ने बताया कि उसने मकान किराए लिया और सामान शिफ्ट किया। उस वक्त साथ में पड़ोसी अजय उर्फ सोनू साथ गया था। उसके सिर्फ एक बार मकान देखा। उसके बाद नवाज के घूमने जाने का फायदा उठाते हुए अपराधियों को मकान का ताला तोड़कर ठहरा दिया। नवाज ने बताया कि उसके पास कमरे के ताले की असली चाबी है। ताला तोड़ने के बाद ताले को भी कमरे के पास ही फेंक दिया। आज भी टूटा हुआ ताला वहीं है। नवाज ने बताया कि वह सिर्फ अजय उर्फ सोनू को जानता है जबकि अन्य युवक उसके परिचित नहीं है। नवाज ने मदनगंज थाने पहुंचकर भी जानकारी दी है। लेकिन फिलहाल पुलिस ने उसे पूछताछ के लिए नहीं बुलाया। पूरी घटना से नवाज दहशत में है।

मकान मालिक से भी ली जाएगी जानकारी


X
असली किराएदार घूमने गया था, पड़ोसी युवक ने ताला तोड़कर मकान में बदमाशों को ठहरा दिया!
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..