Hindi News »Rajasthan »Kishangarh» 50 कॉलोनियों के लाखों लोगों का रास्ता बंद, प्रशासन और जनप्रतिनिधियों को जानकारी नहीं

50 कॉलोनियों के लाखों लोगों का रास्ता बंद, प्रशासन और जनप्रतिनिधियों को जानकारी नहीं

भास्कर न्यूज| मदनगंज-किशनगढ़ डीएफसीसी ने शुक्रवार शाम नए रेलवे स्टेशन के अंडरपास को बिना कोई उपयुक्त रास्ता दिए...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 14, 2018, 05:15 AM IST

50 कॉलोनियों के लाखों लोगों का रास्ता बंद, प्रशासन और जनप्रतिनिधियों को जानकारी नहीं
भास्कर न्यूज| मदनगंज-किशनगढ़

डीएफसीसी ने शुक्रवार शाम नए रेलवे स्टेशन के अंडरपास को बिना कोई उपयुक्त रास्ता दिए बंद कर दिया। इससे पचास कॉलोनियों के एक लाख से अधिक आबादी के सामने खुद के घर में आना-जाना मुश्किल हो गया है। डीएफसीसी ने बोर्ड पर अजमेर-जयपुर रोड फरासिया डबल फाटक व रूपनगढ़ रोड पर आरआेबी को आने-जाने के मार्ग के रूप में दर्शाया है। इस ओर की तीस कालोनियों के लिए रास्ता रहा ही नहीं। अगर फरासिया डबल फाटक जाएं तो 9 किमी तथा रूपनगढ़ रोड आरओबी की ओर आए तो सात किमी का चक्कर लगाना पड़ेगा। एक किमी बाजार की दूरी सात से नौ किमी तक चक्कर काटकर लगानी पड़ेगी।

यह होना था

नए रेलवे स्टेशन से कमिशनिंग के वक्त डीआरएम सौम्या माथुर सहित अन्य अधिकारियों ने पत्रकारों से बातचीत में कहा था कि तीन माह के अंदर कृष्णापुरी रेलवे फाटक को शुरू कर दिया जाएगा। इसके बाद रेलवे स्टेशन के अंडरपास को पूरा किया जाएगा। कहने को सांवतसर रेलवे फाटक 27 ए और कृष्णापुरी रेलवे फाटक 29 ए पर जोर शोर से कार्य तीन माह पूर्व शुरु किया गया। वर्तमान में दोनो में कोई प्रगति नहीं है। दोनों ही मार्ग बंद हैं। नौ माह बीत जाने के बाद भी आमजनता परेशान व हैरान है।

मदनगंज-किशनगढ़. डीएफसीसी ने बिना कोई रास्ता उपलब्ध कराए नए रेलवे स्टेशन के अंडरपास को बंद कर दिया है।

सांवतसर रेलवे फाटक का कार्य बंद

सांवतसरवासियों का कहना है कि सांवतसर रेलवे फाटक पर अंडरपास का कार्य विगत एक सप्ताह से बंद पड़ा है। इस अंडरपास को पांच माह पूर्व ही बन जाना था। दो बार रेलवे ने निर्माण कंपनी का टेंडर बढ़ा दिया। इसके बाद भी कंपनी पर इसका कोई असर नहीं है। रेलवे सूत्रों से मिली जानकारी के बाद अगर एक्सटेंशन के बाद भी काम संतुष्टिपूर्ण नहीं हुआ तो टेंडर निरस्त कर नया किया जाएगा। इसमें और अधिक समय लगेगा।

अब यात्रियों के सामने न्यूनतम 7 किमी दूर से अाना ही विकल्प, परेशानी बढ़ी

डीएफसीसी ने आनन फानन में रेलवे स्टेशन के पास अंडरपास को खाई खोद कर बंद कर दिया। इसे लेकर न प्रशासन को अवगत कराया और न ही स्थानीय जनप्रतिनिधियों को और न ही यात्रियों को। हालत ये है कि आने-जाने वाले लोगों को मार्ग बदल कर जाना पड़ रहा है।

डिस्काॅम व नगर परिषद की लापरवाही से अटका कृष्णापुरी फाटक का कार्य

डीएफसीसी निर्माण कंपनी के अरविंद शर्मा ने बताया कि कृष्णापुरी फाटक का कार्य विद्युत लाइन शिफ्ट न होने तथा बरसाती नाले का निर्माण न होने से पूरा नहीं हो रहा है। बरसाती नाले का निर्माण कौन कराएगा को लेकर डीएफसीसी व नगरपरिषद आमने-सामने हैं। अभी तक इसे लेकर कोई निर्णय नहीं हुआ है। डिस्काॅम अपनी लाइन को कब शिफ्ट करेगा इस बारे में कोई जानकारी नहीं है। इसका खामियाजा पचास हजार से अधिक लोगों को भुगतना पड़ रहा है। लक्ष्मीनगर संघर्ष समिति के राजेन्द्र सिंह शेखावत, रतन यादव, लालचंद जांगिड़, राजेश नवहाल, डालचंद यादव, पार्षद गोपाल यादव, नरेन्द्र जांगिड़, सहित अन्य ने कहा कि वास्तविकता का पता अब चला है। अगर निर्माण कार्य शुरू नहीं किया गया तो नगर परिषद व डिस्काॅम कार्यालय में विरोध प्रदर्शन करने को मजबूर होंगे। नौ माह से आम रास्ते का इंतजार कर रहे हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kishangarh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×