Hindi News »Rajasthan »Kishangarh» मदरसे से लापता बच्चियां अपने मामा के घर मिलींं

मदरसे से लापता बच्चियां अपने मामा के घर मिलींं

मदनगंज-किशनगढ़. मदरसे से लापता हुई बच्चियों के मिलने पर महिला कांस्टेबल की मौजूदगी में भाई के सुपुर्द करती...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 03, 2018, 05:15 AM IST

मदरसे से लापता बच्चियां अपने मामा के घर मिलींं
मदनगंज-किशनगढ़. मदरसे से लापता हुई बच्चियों के मिलने पर महिला कांस्टेबल की मौजूदगी में भाई के सुपुर्द करती गांधीनगर थाना पुलिस।

भास्कर न्यूज| मदनगंज-किशनगढ़

गांधीनगर क्षेत्र स्थित मदरसे से लापता हुई दोनाें बच्चियां गुरुवार को अपने मामा के यहां सकुशल मिल गई। बालिकाआें को मदरसा पसंद नहीं आया इसलिए वे मंगलवार को ही अजमेर आकर अपने घर जाने की बजाय मामा के घर चली गईं थीं। बालिकाआें का भाई ढूंढता हुआ पहुंचा तो तब पता चला।

गांधीनगर थाने में सराना रोड, चमड़ाघर निवासी मोहम्मद यासीन (36) पुत्र असगर हुसैन ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि सराना रोड पर उसके मदरसे में गत 26 जुलाई को होटल चार खंभा दरगाह अजमेर निवासी मुबारक मोहम्मदी अपनी बहिन मदीया (12) व लाइबा (4) काे मदरसे में प्रवेश दिलवा कर गया था। गत 31 जुलाई को दोपहर 3 बजे दिन में बच्ची मदीया व लाइबा मदरसे से दुकान पर मिठाई लेने की कहकर निकली थी और वापस नहीं लौटी। पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू कर दी।

पुलिस के अनुसार मदीया व लाइबा मदरसे से निकलकर गांधीनगर क्षेत्र होते हुए न्यू रेलवे स्टेशन पहुंच गई। वहां से दोनों अजमेर जा रही ट्रेन में बैठ गईं और अजमेर स्टेशन से अपने घर जाने की बजाय अपने मामा के यहां पहुंच गई। मदीया का मामा इमरान दरगाह बाजार में किराए के मकान में रहता है। वह दरगाह बाजार में ही चाय की दुकान में काम करता है। मदीया और लाइबा गत 31 जुलाई की शाम को अपने मामा इमरान के घर पहुंच गई। बच्चियों का भाई रातभर, दिनभर अपनी बहनों को ढूंढता रहा। गुरुवार को अपने मामा इमरान के घर पहुंचा तो दोनों बहिनों को देखकर चौंक गया। उसने तुरंत गांधीनगर थाना पुलिस को सूचना दी। सूचना पर गांधीनगर थाना पुलिस अजमेर पहुंच गई और दोनों बच्चियों को साथ लेकर थाने आई। वहां महिला कांस्टेबल की मौजूदगी में भाई मुबारक मोहम्मदी के दोनों बहनों को सकुशल सुपुर्द किया। बच्चियों के सही सलामत मिलने पर पुलिस ने राहत की सांस ली।

इनका कहना है

मदरसे से निकली दोनों बच्चियां अपने मामा के घर मिल गई। दोनांे अपने घर जा रही थी लेकिन गलती से मामा के यहां पहुंच गई। उसके बड़े भाई ने ही पता लगाया। दोनों बच्चियों को सकुशल महिला कांस्टेबल की मौजूदगी में उसके भाई को सौंप दिया। शुक्र है बच्चियां सही सलामत मिल गई। भागसिंह, एसएचओ, गांधीनगर थाना

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kishangarh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×