--Advertisement--

उधारी के 50 हजार मांगने पर की मारपीट, मामला दर्ज करने के आदेश

भास्कर न्यूज|मदनगंज-किशनगढ़. अतिरिक्त सिविल जज एवं न्यायिक मजिस्ट्रेट ने जबरन घर में घुसकर मारपीट करने के...

Dainik Bhaskar

Aug 06, 2018, 05:20 AM IST
भास्कर न्यूज|मदनगंज-किशनगढ़.

अतिरिक्त सिविल जज एवं न्यायिक मजिस्ट्रेट ने जबरन घर में घुसकर मारपीट करने के परिवाद पर पुलिस को आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच के आदेश दिए हैं।

परिवाद में मझेला रोड नाडी वाले बालाजी के सामने रहने वाले लालचंद पुत्र मूलचंद माली ने न्यायालय में परिवाद पेश किया। परिवाद में लालचंद ने बताया कि आरोपी भागचंद, उसका भाई राजू पुत्र जगदीश खाती उसके घर के पास रहते हैं। आरोपियों ने लालचंद से फरवरी में 50 हजार रुपए उधार लिए थे। आरोपी भागचंद ने तीन माह में लौटाने की बात कही। परिवाद में बताया कि तीन माह बीत जाने के बाद जब उसने अपनी रकम मांगी तो आरोपी ने कुछ दिन की मोहलत और मांगी। इसके बाद से भागचंद पैसे देने के नाम पर टालमटोल करता रहा तो परिवादी ने परेशान होकर 17 जुलाई को सुबह आरोपी के पिता को पैसे के लिए तकाजा किया। उसी दिन शाम 6 बजे भागचंद, उसका भाई राजू परिवादी के घर पर आए और गाली-गलौच करते हुए मारपीट करना शुरू कर दिया। शोर शराबा सुनकर मोहल्ले के लोग एकत्रित हो गए तथा मोहल्ले में रहने वाली लाली प|ी सोनू व रमेश व अन्य लोगों ने बीच बचाव कर बचाया। परिवाद में बताया कि आरोपियों के खिलाफ 17 जुलाई को थाने में शिकायत दी लेकिन पुलिस ने कार्रवाई नहीं की। इस पर 24 जुलाई को एसपी को प्रार्थना पत्र दिया गया लेकिन इसके बावजूद कोई कार्रवाई नहीं हुई। कोर्ट ने सुनवाई के बाद भागचंद व उसके भाई राजू के खिलाफ किशनगढ़ थाना पुलिस को मुकदमा दर्ज कर जांच करने के आदेश दिए है। मालूम हो कि भागचंद की प|ी सुमन के भाई सकरा, जिला ललितपुर उत्तरप्रदेश निवासी तिलक सिंह पुत्र रतन यादव ने भी किशनगढ़ थाने में परिवाद पेश कर अपनी बहन सुमन को भागचंद, उसके माता-पिता, भाई द्वारा बंधक बनाए जाने का आरोप लगाया है। इससे पूर्व भागचंद और राजू ने लालचंद व अन्य के खिलाफ मारपीट करने, धमकाने और लूट का परिवाद दिया था।

आरोपी ने 3 महीने में राशि लौटाने की कही थी बात

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..