--Advertisement--

अस्पताल में इलाज के लिए आया ठग पुलिस को चकमा देकर फरार

भास्कर न्यूज|मदनगंज-किशनगढ़ मदनगंज थाना पुलिस की लापरवाही के कारण रिमांड पर चल रहा आरोपी पुलिस को चकमा देकर...

Dainik Bhaskar

Jul 31, 2018, 05:20 AM IST
अस्पताल में इलाज के लिए आया ठग पुलिस को चकमा देकर फरार
भास्कर न्यूज|मदनगंज-किशनगढ़

मदनगंज थाना पुलिस की लापरवाही के कारण रिमांड पर चल रहा आरोपी पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया। आरोपी रविवार रात से लॉकअप में पेट दर्द और शौच में खून आने की शिकायत कर रहा था। आरोपी की परेशानी को देखते हुए एएसआई भंवरसिंह व कांस्टेबल सीताराम आरोपी को सुबह राजकीय यज्ञनारायण अस्पताल लेकर पहुंचे। वहां डॉक्टर को चैकअप कराने के दौरान आरोपी फरार हो गया। घटना के बाद पुलिस के हाथ पैर फूल गए। सीओ सर्किल की सातों थानों की पुलिस ने आरोपी की तलाश शुरू कर दी। पुलिस ने अस्पताल, बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन सहित अन्य क्षेत्रों में दिनभर पुलिस आरोपी की तलाश करती रही लेकिन उसका कहीं पता नहीं चला। मौके पर पुलिस उपाधीक्षक राजवीर सिंह भी पहुंच गए घटना की जानकारी ली।

जानकारी के अनुसार हरियाणा के बहादुरगढ़ निवासी वीरसिंह साेलंकी को 28 जुलाई को ओसवाली मोहल्ले में भीड़ ने वृद्धा विमला देवी से ठगी का प्रयास करते रंगेहाथों पकड़ा था। वीरसिंह की भीड़ ने जमकर धुनाई की और पुलिस के हवाले कर दिया था। महिला की रिपोर्ट के बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी दो दिन के पुलिस रिमांड पर चल रहा था। मंगलवार को आरोपी को कोर्ट में पेश करना था। रविवार रात से ही लॉकअप में बंद वीरसिंह पेट दर्द और शौच के दौरान खून आने की शिकायत कर रहा था। रातभर वह दर्द से कराह रहा था। सोमवार अलसुबह 4-5 बजे थाने के कांस्टेबल को शौच लगने की शिकायत की। इस पर उसे शौच के लिए ले जाया तो फिर से आरोपी शौच में खून निकलने और दर्द होने की शिकायत कर रहा था। इस पर सुबह 8.30 बजे एएसआई भंवरसिंह तथा कांस्टेबल सीताराम आरोपी को यज्ञनारायण अस्पताल लेकर पहुंचे। वहां मेडिकल ऑफिसर डॉ. सुनील बैरवा को दिखाया।

दो दिन के पुलिस रिमांड पर चल रहा था, रातभर से पेट दर्द व शौच में खून आने की कर रहा था शिकायत, केवल दो पुलिसकर्मी चैकअप के लिए अस्पताल लेकर पहुंचे

अस्पताल से ठग के फरार होने की घटना के बाद मौके पर पहुंचे डीएसपी।

डॉक्टर ने किया चैकअप, रिपोर्ट में सामने आई पथरी

डॉक्टर के चैकअप के दौरान भी आरोपी दर्द से कराह रहा था। पेट दर्द, शौच नहीं लगने, शौच के दौरान खून निकलने की शिकायत कर रहा था। डॉक्टरों ने आरोपी के ब्लड, यूरिन, सोनोग्राफी की जांच कराने के लिए कहा। आरोपी की सोनोग्राफी व खून की जांच हो गई थी। इसमें पथरी होना सामने आया था। इस दौरान वीरसिंह को इंजेक्शन और दवाइयां भी दी गई।

कर्मचारियों ने भी किया था मना, नाटक कर रहा है आरोपी

सूत्रों की माने तो राजकीय यज्ञनारायण अस्पताल में काम करने वाले कर्मचारियों ने बताया कि आरोपी बार-बार शौच आने, शौच में खून आने की बात कहकर शौचालय की ओर जा रहा था। इस पर कर्मचारियों ने पुलिसकर्मियों को ठग के नाटक करने की बात कही थी। लेकिन इस पर पुलिसकर्मियों ने ध्यान नहीं दिया। इसका फायदा उठाकर वह फरार हो गया।

पुलिसकर्मी जांच कराने और दवाइयां लेने में व्यस्त, मौका पाकर भाग छूटा आरोपी

पुलिसकर्मी आरोपी के लिए दवाइयां, इंजेक्शन लाने में जुट गए। उन्होंने वीरसिंह को ले जाकर जांच कराई। इसी भीड़भाड़ और पुलिस की व्यस्तता का फायदा उठाते हुए आरोपी कैज्युल्टी में मौका पाकर फरार हो गया। एएसआई भंवरसिंह का ध्यान गया तो उन्होंने आरोपी को इधर उधर ढूंढा लेकिन उसका कहीं पता नहीं चला। ये देख पुलिसकर्मी के होश उड़ गए। उन्होंने अस्पताल परिसर अंदर बाहर सभी जगह आरोपी को ढूंढा लेकिन उसका कहीं पता नहीं चला। घटना की सूचना मदनगंज थाना प्रभारी राजेंद्र खंडेलवाल को दी गई। उन्होंने डीएसपी राजवीर सिंह को मामले की जानकारी दी। इसके बाद सीओ ने तुरंत सीओ सर्किल के सभी थानों की पुलिस को अलर्ट होकर आरोपी की तलाश के लिए रवाना कर दिया। पुलिस की टीमें सादा वर्दी में शहर के अलग-अलग हिस्से में रवाना हुई लेकिन आरोपी का कहीं कोई पता नहीं चला।

ठग वीरसिंह

पुलिसकर्मियों पर होगी कार्रवाई

मदनगंज क्षेत्र से बदमाश के भागने का मामला सामने आया है। पहले पुलिस का फोकस फरार आरोपी को पकड़ने का है। उसके बाद कार्रवाई की जाएगी। लापरवाह पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई तो की जाएगी। राजेश सिंह, पुलिण्स अधीक्षक, अजमेर

आरोपी की तलाश के लिए टीम लगाई

ठगी के आरोपी पेट दर्द सहित अन्य तकलीफ बता रहा था। उसका उपचार कराने मदनगंज थाना पुलिस की टीम अस्पताल लेकर पहुंची थी। इसी बीच मौका पाकर आरोपी फरार हो गया। आरोपी की तलाश में टीमें लगा रखी है। बचकर कहां जाएगा। लापरवाह पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई से पहले आरोपी को तो ढूंढे। राजवीर सिंह, पुलिस उपाधीक्षक किशनगढ़

कई वारदात कबूली, फिर भी दो पुलिसकर्मियों के सहारे भेज दिया आरोपी को

आरोपी ने किशनगढ़ उपखंड में ठगी की कईं वारदात कबूली हैं। उसने प्रदेश में भी विभिन्न जिलों में चार-पांच वारदात होने की बात कही है। पुलिस इसीलिए आरोपी की दो दिन की रिमांड अवधि कोर्ट से लाकर ठगी की वारदात खोलने का प्रयास कर रही थी। आरोपी आदतन अपराधी होने के बावजूद महज एक एएसआई और कांस्टेबल के भरोसे ठग को अस्पताल भेज दिया। इसी लापरवाही का फायदा उठाकर आरोपी फरार हो गया।

कांस्टेबल सीताराम

एएसआई भंवरसिंह

अस्पताल में इलाज के लिए आया ठग पुलिस को चकमा देकर फरार
अस्पताल में इलाज के लिए आया ठग पुलिस को चकमा देकर फरार
अस्पताल में इलाज के लिए आया ठग पुलिस को चकमा देकर फरार
X
अस्पताल में इलाज के लिए आया ठग पुलिस को चकमा देकर फरार
अस्पताल में इलाज के लिए आया ठग पुलिस को चकमा देकर फरार
अस्पताल में इलाज के लिए आया ठग पुलिस को चकमा देकर फरार
अस्पताल में इलाज के लिए आया ठग पुलिस को चकमा देकर फरार
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..