Hindi News »Rajasthan »Kishangarh» केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने विस्फोटक के साथ बजने वाले पार्टी पॉपर्स पर लगाई रोक

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने विस्फोटक के साथ बजने वाले पार्टी पॉपर्स पर लगाई रोक

भास्कर न्यूज | मदनगंज-किशनगढ़ केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) ने पर्यावरण मंत्रालय के निर्देश पर...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jul 17, 2018, 05:25 AM IST

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने विस्फोटक के साथ बजने वाले पार्टी पॉपर्स पर लगाई रोक
भास्कर न्यूज | मदनगंज-किशनगढ़

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) ने पर्यावरण मंत्रालय के निर्देश पर पार्टीज और फंक्शंस के दौरान इस्तेमाल होने वाले पार्टी पॉपर्स से स्वास्थ्य पर होने वाले खतरे को देखते हुए इनके इस्तेमाल पर बैन लगा दिया है।

चूंकि इन विस्फोटक पदार्थ से बने पॉपर्स से आंखों को नुकसान पहुंच सकता है और चेहरे पर जख्म होने की आशंका रहती है, इसलिए इन पर रोक लगाई गई है। वहीं कागज और रंगीन प्लास्टिक के छोटे टुकड़े से बनने वाले पॉपर्स पर पाबंदी नहीं लगाई गई है।

पार्टी पॉपर्स में खतरनाक रेड फॉस्फोरस, पोटेशियम क्लोरेट और परक्लोरट पदार्थ शामिल होते हैं, जो आंखों के लिए खतरनाक होते हैं। इनके इस्तेमाल से ऐसे कई केस भी सामने आए हैं, जिनमें जख्म होना या निशान रह जाना के साथ कई बार ये पहले छूट जाते हैं और आग के साथ गंभीर हादसा भी कर सकते हैं।

क्या है पॉपर पार्टी

पॉपर पार्टी शादी पार्टी में आर्टिफिशियल पटाखे, रंगीन टुकड़े होते है जो धमाके के साथ काफी मात्रा में उछलकर बाहर निकलते है। किसी रेपर में गुब्बारे के साथ रंगीन टुकड़े निकलते हैं। इसे एंजॉय और खुशी व्यक्त करने के लिए उपयोग में लिया जाता है। शादी पार्टियों में अक्सर इन पॉपर का उपयोग किया जाता है। उपखंड में समारोह स्थल पर शादी समारोह और पार्टियांे में भी इन पॉपर पार्टी का उपयोग किया जाता है। ये पॉपर पार्टी शहर की दुकानों पर आसानी से मिल जाते है।

अब पार्टी में बिना पॉपर के इन चीजों से होगा फन

भास्कर ने शहर के एक्सपर्ट से जाना कि आखिर पार्टी पॉपर्स किस तरह से सेहत को नुकसान पहुंचाते हैं और इनके बंद होने पर पार्टीज में फन एलिमेंट ऐड करने के लिए क्या-क्या ऑप्शंस हैं। शहर के इवेंट ऑर्गेनाइजर्स के मुताबिक पॉपर्स पार्टीज में फन एलिमेंट बढ़ा देते हैं, लेकिन अब इनकी जगह फन एक्टिविटीज और तरह-तरह के फोटोजेनिक सेल्फी कार्नर्स ने ले ली है। अब थीम के अकॉर्डिंग तैयार होने वाले सेल्फ कार्नर्स और स्पेशियली डिजाइन फन गेम्स की ओर लोगों का रुझान बढ़ रहा है। अब पार्टी में आने वाले लोगों की एज के अनुसार फन गेम्स प्लान किए जा रहे हैं।

सेहत के साथ वातावरण को भी नुकसान

मिनिस्ट्री ऑफ एन्वायर्नमेंट, फॉरेस्ट एंड क्लाइमेट चेंज के मुताबिक पॉपर्स के अंदर मौजूद प्लास्टिक ग्लिटरिंग मटीरियल और दूसरे केमिकल्स कम तीव्रता के विस्फोटक होते हैं। इनमें लाल फॉस्फोरस, पोटेशियम क्लोरेट और पोटेशियम परक्लोरेट भरा रहता है, जो सेहत के साथ-साथ वातावरण के लिए भी हानिकारक है। अगर ये चीजें खाद्य पदार्थों के साथ मिलकर शरीर में जाती हैं तो आंखों और चेहरे को गंभीर नुकसान हो सकता है। केंद्रीय बोर्ड ने सभी स्टेट पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड और पॉल्यूशन कंट्रोल कमेटी को निर्देश जारी कर कहा है कि देशभर में इस बैन का सख्ती से पालन हो। वहीं पॉपर्स बनाने वाली इंडस्ट्रीज को इसका उत्पादन बंद करने के लिए भी कहा गया है।

दो माह पूर्व जारी हो चुका है पत्र

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड क्षेत्रीय कार्यालय के प्रबंधक संजय कोठारी ने बताया कि अप्रैल 2018 में पत्र जारी कर निर्देश दिए थे कि जिन कॉपर्स में रेड फॉस्फोरस या अन्य ज्वलनशील पदार्थ शामिल हैं, उनके यूज और बनाने पर मनाही है।

पर्यावरण मंत्रालय ने दिए थे निर्देश

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने यह फैसला पर्यावरण मंत्रालय के निर्देश पर दिया है। मंत्रालय ने अपने निर्देश में कहा कि पार्टी पॉपर्स से लोगों की सेहत को खतरा रहता है इसके अलावा बीमारियां होने का अंदेशा भी रहता है। इसलिए इन पर रोक लगाई जाए।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kishangarh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×