Hindi News »Rajasthan »Kishangarh» हमारा एयरपोर्ट मकराना व किशनगढ़ से प्रतिदिन 100 ट्रक मार्बल दिल्ली के लिए होता है लदान, दरगाह, पुष्कर व भीलवाड़ा के लिए आते हैं अनेक यात्री

हमारा एयरपोर्ट मकराना व किशनगढ़ से प्रतिदिन 100 ट्रक मार्बल दिल्ली के लिए होता है लदान, दरगाह, पुष्कर व भीलवाड़ा के लिए आते हैं अनेक यात्री

भास्कर न्यूज | मदनगंज-किशनगढ़ किशनगढ़ एयरपोर्ट का विधिवत शुभारंभ केंद्रीय उड्डयन राज्य मंत्री जयंत सिन्हा ने 15...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 04, 2018, 05:35 AM IST

हमारा एयरपोर्ट 
मकराना व किशनगढ़ से प्रतिदिन 100 ट्रक मार्बल दिल्ली के लिए होता है लदान, दरगाह, पुष्कर व भीलवाड़ा के लिए आते हैं अनेक यात्री
भास्कर न्यूज | मदनगंज-किशनगढ़

किशनगढ़ एयरपोर्ट का विधिवत शुभारंभ केंद्रीय उड्डयन राज्य मंत्री जयंत सिन्हा ने 15 अक्टूबर को शुभारंभ किया। तब से आज तक 105 फ्लाइट किशनगढ़ एयरपोर्ट पर उतर चुकी है। इनमें अधिकतर मार्बल व्यापारी व दरगाह और पुष्कर के दर्शन के लिए यात्री पहुंचे है। दिल्ली से किशनगढ़ के बीच करीब 200 लोग प्रतिदिन कार से और राजधानी व शताब्दी जैसी महंगी ट्रेन के प्रथम एसी की यात्रा करते है। एयरपोर्ट निदेशक अशोक कपूर के अनुसार किशनगढ़ से दिल्ली उड़ान शुरू होने से किशनगढ़ के साथ-साथ दरगाह, पुष्कर, मकराना, भीलवाड़ा के यात्री भी इस उड़ान का लाभ उठा पाएंगे। इस हिसाब से किशनगढ़ से दिल्ली और दिल्ली से किशनगढ़ फ्लाइट शुरू होने पर यात्रीभार के ज्यादा रहने की उम्मीद है। फ्लाइट के शुरू होने से व्यापारी वर्ग से लेकर घूमने के लिए आने वालों को हवाई सेवा का लाभ मिल सकेगा।

हवाई अड्डा बनने से अब तक 105 फ्लाइट आई जिसमें दर्शन व व्यापार के लिए आए यात्री

मदनगंज-किशनगढ़. इस तरह का दिखता है किशनगढ़ एयरपोर्ट

टेंडर छूटने तक निशुल्क रहेगी कार पार्किंग

निदेशक अशोक कपूर ने बताया कि किशनगढ़ एयरपोर्ट पर यात्रियों को लाने ले जाने के लिए आने वाले वाहनों का पार्किंग फिलहाल निशुल्क रहेगा। जब तक टेंडर नहीं निकाला जाएगा तब तक पार्किंग चार्ज नहीं लिया जाएगा। कपूर के अनुसार ये टेंडर प्रक्रिया फ्लाइट शुरू होने के बाद, फ्लाइट के यात्रीभार के बाद शुरू की जाएगी। इसमें समय लगेगा। तब तक यात्रियों से पार्किंग शुल्क नहीं लिया जाएगा।

मार्बल मंडी तक पहुंच होगी आसान, सफर होगा सस्ता

किशनगढ़ मार्बल एसोसिएशन अध्यक्ष सुरेश टांक ने बताया कि किशनगढ़ मार्बल मंडी से रोजाना करीब 80 ट्रक दिल्ली के लिए लदान होते है। मकराना मंडी से करीब 20 ट्रक जाते है। इस तरह प्रतिदिन औसत 100 ट्रक मार्बल लदान दिल्ली के लिए होता है। व्यापारी मार्बल खरीदने के लिए महंगी ट्रेनों में यात्रा करते है। अधिकांश यात्रियों के ट्रेनों का समय शेड्यूल सेट नहीं होे पाने के कारण यात्री निजी कार से किशनगढ़ आते है। ऐसे में व्यापारियों के लिए किशनगढ़ पहुंचना बहुत ज्यादा महंगा साबित होता है और दिल्ली से किशनगढ़ पहुंचने में छह से दस घंटे लग जाते है। लेकिन फ्लाइट से महज एक घंटे पांच मिनट पर दिल्ली से किशनगढ़ फ्लाइट से पहुंच जाएंगे।

इंडस्ट्रीयल एरिया व नागौर, भीलवाड़ा को भी मिलेगा लाभ

स्पाइस जेट के नॉर्थ रीजनल हैड विजेंद्र सिंह के अनुसार दिल्ली से किशनगढ़ फ्लाइट शुरू होने से महज किशनगढ़ ही नहीं बल्कि अजमेर, पुष्कर के अलावा नागौर, भीलवाड़ा व आसपास के जिलों के लोगों को भी लाभ मिलेगा। उन्हींने बताया कि हमारी ओर से सर्वे कराया गया था। उनके अनुसार इस फ्लाइट से आसपास के जिले के लोग भी प्रभावित होंेगे। किशनगढ़ में टैक्सटाइल पार्क, ब्यावर में टैक्सटाइल उद्योग, भीलवाड़ा में इंडस्ट्रीयल एरिया के लोगों के लिए किशनगढ़ से दिल्ली कनेक्टिवटी ज्यादा लाभदायक रहेगी। अभी ये लोग या तो फ्लाइट से जयपुर उतरते है और वहां से सड़क मार्ग से भीलवाड़ा या अन्य स्थानों पर जाते है। या ट्रेन या कार के जरिये दिल्ली से लंबी दूरी तय करते है। लेकिन फ्लाइट शुरू होने से सीधे किशनगढ़ एयरपोर्ट पर उतरेंगे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kishangarh

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×