सड़काें की बजाय नगर परिषद के ही स्वच्छता कार्यक्रम पर झाड़ू फेर गए पार्षद

Kishangarh News - स्वचछता सर्वे की रेटिंग में अंतिम ताैर पर प्रदेश में अव्वल अाने की काेशिश मेें लगी किशनगढ़ नगर परिषद काे उसके...

Jan 16, 2020, 09:15 AM IST
Kishangarh News - rajasthan news councilors swept cleanliness program of city council instead of roads
स्वचछता सर्वे की रेटिंग में अंतिम ताैर पर प्रदेश में अव्वल अाने की काेशिश मेें लगी किशनगढ़ नगर परिषद काे उसके पार्षदाें का ही साथ नही मिल रहा। बुधवार काे परिषद ने नागरिकाें काे स्वच्छता का पाठ पढ़ाने के लिए दाेपहर दाे बजे कार्यक्रम रखा था जिसमें सभापति व पार्षद सड़काे पर झाड़ू लगाकर संदेश देने वाले थे लेकिन कार्यक्रम में विपक्ष ताे दूर, सभापति सीताराम की पार्टी भाजपा तक के पार्षद तक नहीं पहुंचे। करीब अाधा घंटे तक सभापति व अायुक्त इंतजार करते रहे उसके बाद कार्यक्रम काे ही स्थगित करना पड़ा। नाराज सभापति ने कहा कि लड्‌डू खाने सब आ जाते है, लेकिन काम के समय कोई नहीं आता। गौरतलब है कि परिषद ने कार्यक्रम लोगों को जागरुक करने के लिए रखा था, लेकिन पार्षद ही जागरुक नजर नहीं आए।

परिषद ने स्वच्छता सप्ताह के तहत आज दोपहर को दो बजे मदनगंज चौराह से सुमेर सर्किल तक झाडू लगाने का कार्यक्रम रखाा था। इसमें सभापति, आयुक्त, पार्षद और गणमान्य लोगों को शरीक होना था। आयुक्त ने समारोह में शामिल होने के लिए पार्षदों को सूचना दे दी थी। करीब सवा दो बजे सभापति सीताराम साहू और आयुक्त विकास कुमावत पहुंच गए। पार्षद सहित अन्य लोगों के नहीं आने की वजह से नेहरु वाचनालय साहू और कुमावत पहुंच गए। करीब आधा घंटा इंतजार करने के बाद कांग्रेस और भाजपा का एक भी पार्षद मौके पर नहीं पहुंचा। इस दौरान आयुक्त और कुमावत सफाई को लेकर चर्चा करते रहे। आधा घंटा बीतने के बाद भी कोई पार्षद नहीं पहुंचने पर आयुक्त ने साहू से पूछा कि कार्यक्रम करें या स्थगित कर दें। आखिर में सभापति ने परिषद को फजीहत से बचाने के लिए आयुक्त को कार्यक्रम स्थगित करने का सुझाव दिया। मौके की नजाकता को देखते हुए आयुक्त कार्यक्रम स्थगित करके चले गए।

अधिकारियों की मेहनत पर पानी फिरा

केन्द्र सरकार की सफाई रेटिंग में नगर परिषद प्रदेश में चौथे और जिले में अव्वल आई। फाइनल रेटिंग मार्च में होनी है। परिषद पहला स्थान प्राप्त करने के लिए अपनी सफाई व्यवस्था को चाक चौबंद करने मे लगी हुई है। इसमें जनप्रतिनिधियों की बेरुखी की वजह से अधिकारी और कर्मचारियों में निराश पैदा होगी।

इनका कहना है


मदनगंज-किशनगढ़. नगर परिषद के कार्यक्रम के दौरान नेहरु वाचनालय में इंतजार करते परिषद सभापति साहू व आयुक्त कुमावत।

कैसे होंगे नागरिक जागरुक

परिषद ने लोगों को जागरुक करने के लिए स्वच्छता अभियान की शुरुआत की है। इस कार्यक्रम का उद्देश्य लोगों को सफाई के प्रति जागरुक करने के लिए अभियान शुरु किया था। इसी के तहत परिषद ने हाल ही में शहीद स्मारक के बाहर आधुनिक कचरा पात्र लगाया था, लेकिन वहां भी कार्यक्रम में नाम मात्र के ही पार्षद पहुंचे थे। परिषद ने बुधवार काे कार्यक्रम रखा था, लेकिन पार्षदों के नहीं आने से कार्यक्रम स्थगित हो गया और व्यापारियों के बीच काफी किरकिरी हुई। व्यापारियों का कहना है कि सफाई को लेकर जनप्रतिनिधि ही जागरुक नहीं है, तो व्यवस्था कैसे सुधरेगी।

नहीं आने की क्या है वजह

सूत्रों का कहना है कि परिषद के चुनाव अगस्त माह में होने हैं। परिषद में भाजपा का बोर्ड है। ऐसे में कांग्रेसी पार्षद भाजपा को कोई श्रेय नहीं देना चाहते इसलिए उन्हांेने दूरी बनाए रखी। वहीं भाजपा पार्षदों में गुटबाजी है। इसके चलते परिषद में सवा चार साल बीतने के बाद भी कमेटियों का गठन नहीं हो पाया। ऐसे में पार्षद भी सभापति का सहयोग नहीं कर रहे हैं।ं यह भी माना जा रहा है कि मकर संक्रांति होने की वजह से पार्षद व्यस्त होने की वजह से नहीं आए। हालांकि परिषद में 45 पार्षद हैं अाैर सभापति भी मकर संक्रांति के बावजूद अाए थे।

Kishangarh News - rajasthan news councilors swept cleanliness program of city council instead of roads
X
Kishangarh News - rajasthan news councilors swept cleanliness program of city council instead of roads
Kishangarh News - rajasthan news councilors swept cleanliness program of city council instead of roads
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना