भगवान नृसिंह के गूंजे जयकारे, उमड़े श्रद्धालु

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 09:00 AM IST

Kishangarh News - भास्कर न्यूज| मदनगंज-किशनगढ़ पुराना शहर स्थित नृसिंह द्वारा में शुक्रवार को भगवान नृसिंह की जयंती मनाई गई।...

Kishangarh News - rajasthan news praise of lord nrusingh
भास्कर न्यूज| मदनगंज-किशनगढ़

पुराना शहर स्थित नृसिंह द्वारा में शुक्रवार को भगवान नृसिंह की जयंती मनाई गई। मंदिर परिसर में दिन भर धार्मिक कार्यक्रम अयोजित हुए। गोधूलि बेला में भगवान नृसिंह ने अवतार लिया और हिरण्यकश्यप का वध किया। इसे देखने के लिए बड़ी संख्या में श्रद्धालु मंदिर परिसर में आए।

नृसिंह द्वारा श्रद्धालुओं से भरा हुआ था। डाकण, डाकणी, लाल्या, काल्या का खेल देखने के लिए बड़ी संख्या में लोग आए। किंवदंती है कि इस दिन लाल्या काल्या के साेटे खाना शुभदायी होता है। जो बच्चे एक वर्ष तक के होते है उन्हें आशीर्वाद दिलाने बड़ी संख्या में लोग इनके पास आते हैं ताकि उनका बच्चा वर्ष पर्यन्त तक बीमारियों से दूर रहें। घर में सुख शांति बनी रहती है।

नृसिंह द्वारा पर गोधुली बेला में ज्योंहि भगवान नृसिंह का अवतार हुआ। पूरा नृसिंह द्वारा भगवान नृसिंह के जयकारों से गूंज उठा। भगवान के अवतरित होते ही नृसिंह द्वारा में आतिशबाजी की गई।

हिरण्यकश्यप के वध की खुशियां मनाई गई। महिलाओं ने मंगल गीत गाए और भगवान नृसिंह की आरती उतारी। इसके बाद प्रसाद का वितरण किया गया। सभी कार्यक्रम नृसिंह सेवा समिति के तत्वावधान में किया गया। इस दौरान सेवा समिति के पदाधिकारी सहित अनेक जन माैजूद रहे।

मंदिर परिसर सुबह से ही श्रद्धालुओं से अटा हुआ था। तीन घंटे तक डाकन-डाकनी व लाल्या-काल्या का खेल चलता रहा। लाल्या काल्या व डाकण डाकणी के खेल को देखने के लिए तेज गर्मी के बीच बड़ी संख्या में भक्तगण मंदिर परिसर में आए। गर्मी को भूल भक्त खेल का आनंद लेते रहे।

उतारी आरती, बांटा प्रसाद

नृसिंह द्वारा में हिरण्यकश्यप के वध के बाद भगवान नृसिंह व भक्त प्रह्लाद की आरती की गई। मंदिर परिसर भगवान के जयकारों से गूंज रहा था। आरती के बाद प्रसाद का वितरण किया गया।

मदनगंज- किशनगढ़. पुराना शहर नृसिंह मंदिर में डाकणा काकण का मेला देखने उमडे श्रद्धालु।

भक्त प्रह्लाद व हिरण्यकश्यप के मध्य संवाद के बाद भगवान विष्णु ने लिया नृसिंह अवतार

संध्याकाल में भक्त प्रहलाद व हिरण्यकश्यप के बीच श्री हरि नाम को लेकर संवाद चला। जब हिरण्यकश्यप ने प्रह्लाद से पूछा कि तेरा भगवान कहां-कहां है तब भक्त प्रह्लाद ने बताया कि श्री हरि तो कण कण में है। हिरण्यकश्यप ने पूछा की तेरा भगवान इस खंभे में है तो प्रह्लाद ने कहा हां। इस पर हिरण्यकश्यप ने खंभे को तलवार से काट दिया। खंभे के काटते ही भगवान नृसिंह ने अवतार लिया। पूरा परिसर भगवान के जयघोष से गूंज उठा। भगवान नृसिंह व हिरण्यकश्यप के बीच युद्ध हुआ। आखिर भगवान ने उसे अपनी जांघ पर बिठाकर गोधूलि बेला में उसका वध किया।

रूपनगढ़. मेले में उमड़े श्रद्धालु।

रूपनगढ़ में मनाई नृसिंह जयंती

रूपनगढ़|
लाल दरवाजा क्षेत्र स्थित मंदिर रामजीद्वारा में शुक्रवार शाम काे भगवान नृसिंह का प्राकट्योत्सव परम्परागत रूप से सोल्लास मनाया गया। मंदिर में विविध धार्मिक कार्यक्रमों के साथ प्रभु की लीला का मंचन किया गया। पुजारी गिरधर गोपाल, राकेश कुमार पारीक ने नीराजन किया। भक्त प्रहलाद की तपस्या का फल देने और दानवराज हिरण्यकश्यप का वध करने के लिए प्रभु श्रीहरि ने नृसिंह का अवतार धारण किया और दाव नवराज से प्रहलाद की रक्षा की। मंदिर में इस अवसर पर रामजी और नृसिंह भगवान का विशेषाभिषेक किया गया। आरती और प्रभुनाम संकीर्तन के साथ प्रसाद वितरण के बाद कार्यक्रम का समापन हुआ।

Kishangarh News - rajasthan news praise of lord nrusingh
X
Kishangarh News - rajasthan news praise of lord nrusingh
Kishangarh News - rajasthan news praise of lord nrusingh
COMMENT

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543