• Hindi News
  • National
  • Kishangarh News Rajasthan News Purchase Sale Cooperative Committee Will Start At Support Price From April 1

क्रय विक्रय सहकारी समिति 1 अप्रैल से समर्थन मूल्य पर शुरू करेगी खरीद

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भास्कर न्यूज | मदनगंज-किशनगढ़

जयपुर रोड स्थित कृषि उपज मंडी पर क्रय विक्रय सहकारी समिति समर्थन मूल्य पर सरसों, चना एवं गेहूं की खरीद करेगी। इसके लिए राज्य सरकार ने आदेश जारी कर दिए है। मंडी प्रशासन इसकी तैयारियों में जुट गया है। किशनगढ़ में केवल चने की खरीद होगी। चने का समर्थन मूल्य 4620 रुपए निर्धारित किया गया है। वर्तमान में कृषि मंडी पर तारामीरा की आवक नवीन जींस के रूप में हो रही है।

जानकारी के अनुसार मुख्य सचिव डॉ. डीबी गुप्ता ने बुधवार को शासन सचिवालय में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सभी कलेक्टरों एवं एसपी तथा संबंधित अधिकारियों को इसके लिए निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि खरीद के दौरान वीडियोग्राफी एवं सीसीटीवी कैमरों से निगरानी की जाए ताकि खरीद प्रक्रिया में पारदर्शिता स्थापित हो सके। उन्होंने कहा कि खरीद के दौरान कानून व्यवस्था का चाकचौबंद प्रबंध किया जाए ताकि खरीद में किसी प्रकार का व्यवधान उत्पन्न नहीं हो एवं किसानों को अपनी उपज का बेचान करने में किसी प्रकार की परेशानी न हो। इसके अलावा उन्होंने उठाव के लिए परिवहन की पुख्ता व्यवस्था एवं मॉनिटरिंग करने की बात कही। उन्होंने कहा कि भंडारण की समस्या नहीं आने दी जाएगी।

भंडारण के लिए दिए निर्देश
चना खरीद के बाद भंडारण के लिए भंडारण निगम को निर्देशित कर दिया गया है। मुख्य सचिव डॉ. डीबी गुप्ता कहा कि राजफैड एवं तिलम संघ के खरीद केंद्रों पर किसानों को किसी प्रकार की समस्या न हो, इसका पूरा ध्यान रखा जाए। मुख्य व्यवस्थापक मदनलाल शर्मा ने बताया कि इसे लेकर सारी तैयारी कर ली गई है। बारदाना एकत्रित कर लिया गया है।

चना बेचान के लिए 13 मार्च से शुरू होगा पंजीयन
मुख्य सचिव के आदेशानुसार 13 मार्च से किसान चना के बेचान के लिए ई मित्र केन्द्र पर पंजीयन करवा सकेंगे। इसे लेकर सभी तहसीलदार एवं पटवारी को निर्देशित कर दिया गया है। खरीदारी एफएक्यू मानक में के अनुसार ही होगी।

संयुक्त टीमों का गठन
हर खरीद केंद्र के अवलोकन के लिए संयुक्त टीमों का गठन किया गया है। जो सप्ताह में एक बार खरीद व्यवस्था का निरीक्षण करेंगी। किसानों से खरीदी गई उपज का भी रेंडम चेक कर क्वालिटी को सुनिश्चित की जाएगी। मंडियों में कृषि सुपरवाइजर भी उपस्थित रहेंगे। तुलाई के लिए इलेक्ट्रॉनिक कांटे का प्रयोग किया जाना सुनिश्चित किया गया है।

नए जिंस की आवक शुरू
मंडी में नवीन जींस के रुप में वर्तमान में तारामीरा अधिक आ रहा है। इसके साथ पुराने मूंग की आवक हो रही है। मालूम हो कि 28 सौ किसानों ने मूंग बेचने के लिए पंजीयन कराया था मगर इनका मूंग खरीदा नहीं गया। इसे लेकर किसान महापंचायत ने आंदोलन किया मगर उसका भी कोई लाभ नहीं मिला। अब मजबूरी में किसान अपना मूंग खुली नीलामी में बेचने को मजबूर हो रहे हैं।

खबरें और भी हैं...