राजस्थान / निमोनिया से बिगड़ी हालत, 13 माह के बच्चे को टापू बने गांव से निकाल अस्पताल पहुंचाया

13 माह के बच्चे को उसके परिजनों सहित गांवों से रेस्क्यू कर लाया गया।
13 month old baby rescued along with parents
13 month old baby rescued along with parents
13 month old baby rescued along with parents
X
13 month old baby rescued along with parents
13 month old baby rescued along with parents
13 month old baby rescued along with parents

  • पार्वती में उफान पर दो गांव बने टापू, तीन दिन से संपर्क कटा
  • बीमार पांच लोगों को एनडीआरएफ की टीम ने रेस्क्यू किया
     

दैनिक भास्कर

Aug 09, 2019, 06:10 PM IST

बारां। बारां में शुक्रवार को 13 साल के एक बच्चे को उसके परिजनों के साथ एनडीआरएफ की टीम ने रेस्क्यू कर अस्पताल पहुंचाने में मदद की। बारां व आस-पास हो रही अच्छी बरसात से जिले में जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। पार्वती नदी के उफान पर होने से कुछ गांव टापू बन गए हैं। इससे गांवों का संपर्क टूट गया है।

 

पार्वती नदी की दो घाराओं के बीच बसे दो गांव हनोतिया और गुगलखेड़ी का जिले से संपर्क कट गया है। पिछले तीन दिस से यहां न तो कोई मदद आ रही है न यहां के लोग बाहर जा पा रहे हैं। इन गांवों में 60 परिवार रहते हैं। यहां कई लोग बीमार हैं जिन्हें चिकित्सकीय मदद नहीं मिल पा रही है। पांच लोगों की हालत बिगड़ने पर उसे सिविल डिफेंस की टीम को बुलाया गया लेकिन नदी के उफान को देखते हुए एनडीआरएफ की मदद लेनी पड़ी। उसके परिजनों ने बताया कि गांव में और लोग बीमार हैं।

 

एनडीआरएफ की टीम ने एक 13 माह के बच्चे सहित पांव लोगों को रेस्क्यू किया। पांचों को अस्पताल पहुंचाया गया। परिजनों ने बताया कि 13 माह के बच्चे भरत को निमोनिया हो गया है। उसे डाक्टर को दिखाना था। उसकी हालत बिगड़ती जा रही थी। उल्लेखनीय है कि पिछले कुछ दिनों से रुक-रुक कर हो रही बरसात से पार्वती उफान पर है। पार्वती मध्यप्रदेश की विंध्याचल पर्वतमाला के सिहोर से निकलकर कडैयाहाट (बांरा) के समीप राजस्थान में प्रवेश करती है। बांरा व कोटा जिले में बहने के बाद पाली गांव (सवाईमाधोपुर) के निकट चंबल नदी में मिल जाती है।

 

न्यूज व फोटो : आदित्य शर्मा
 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना