Hindi News »Rajasthan »Kota» घर बैठे दुनियाभर की यूनिवर्सिटीज का मैटर पढ़कर बना दिया एमबीए कोर्स

घर बैठे दुनियाभर की यूनिवर्सिटीज का मैटर पढ़कर बना दिया एमबीए कोर्स

पढ़नेके लिए यूनिवर्सिटी-कॉलेज जाने की क्या जरूरत है? अब तो सबकुछ घर बैठे पढ़ सकते हैं। मैंने ऐसा ही किया। घर बैठकर...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 13, 2015, 05:20 AM IST

कोटा.पढ़ने के लिए यूनिवर्सिटी-कॉलेज जाने की क्या जरूरत है? अब तो सबकुछ घर बैठे पढ़ सकते हैं। मैंने ऐसा ही किया। घर बैठकर वह सारी नॉलेज ले ली, जिस पर मुझे विदेशों में रहकर लाखों रुपए खर्च करने पड़ते।

यह मानना है कोटा के युवा इंजीनियर अंकित खंडेलवाल (30) का, जिनके पाठ्यक्रम संबंधी प्रयास को हाल में यूनेस्को ने मान्यता दी है। डेनमार्क से एमटेक अंकित ने स्पेन में हुए यूनेस्को के सेमिनार में पाठ्यक्रम संबंधी प्रयोग का ऑनलाइन प्रजेंटेशन दिया था। इसमें बताया था कि दुनिया की नामी यूनिवर्सिटीज ने क्या-क्या सामग्री ऑनलाइन उपलब्ध करा रखी है और इनमें से किस तरह एक स्टूडेंट अपने काम की चीजें चुनकर घर बैठे पढ़ सकता है। अंकित मूलत: बोरखेड़ा के रहने वाले हैं, उनके पिता राधेश्याम गुप्ता जिला उद्योग केन्द्र, कोटा में कार्यरत हैं।

22 माह तक चली खोज :22 माह की अवधि में अंकित ने 20 से भी अधिक एमआईटी, बोस्टन अन्य यूनिवर्सिटीज के पाठ्यक्रमों की सामग्री पढ़ी। जिसमें व्यापार वार्ता, विलय एवं अधिग्रहण, वित्तीय लेखांकन आदि शामिल है।
वैश्विक स्तर पर काम करने वाले लोगों के साथ खुद को वैश्विक बनने की जरूरत थी, लिहाजा रूस, चीन, जापान और मध्य एशिया के ओसीडब्ल्यू पाठ्यक्रम पढ़ना शुरू किए। उन्होंने कई सामाजिक व्यापारिक समस्याएं सुलझाने में अपनी इस नॉलेज की मदद ली, जिसे यूनेस्को के साथ साझा किया। इन दिनों अंकित बेंगलुरु में इस विषय पर एक किताब लिख रहे हैं।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Kota News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: घर बैठे दुनियाभर की यूनिवर्सिटीज का मैटर पढ़कर बना दिया एमबीए कोर्स
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Kota

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×